Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

 नजरिया

 
मजहबी कट्टरता का बढ़ता दायरा

बांग्लादेश में कुरान के कथित अपमान की अफवाह के बाद भड़की हिंसा में तीन लोगों की जान चली गई और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। हताहतों की संख्या से इस घटना के मायनों को जोड़ना भारी भूल हो सकती है क्योंकि संख्या छोट ....

इंसाफ से होंगे दाग साफ

सियासत में बड़बोलापन कितना भारी पड़ सकता है, इसका सबसे ताजा नमूना हैं केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी। मंत्री जी करीब एक पखवाड़े पहले उत्तर प्रदेश की पलिया विधानसभा के एक कस्बे में जनसभा को संबोधित कर ....

कायाकल्प से होगा कांग्रेस का बेड़ा पार

मुख्यधारा की राजनीति में कई बार सटीक दिखने वाला दांव भी उल्टा पड़ जाता है और तय दिख रही कामयाबी हाथ से छिटक कर ऐसी नाकामी में बदल जाती है, जिसकी सफाई में दिया गया हर तर्क बेतुका दिखता है। हाल के कुछ साल में कांग्रे ....

कांग्रेस में जंग, ओल्ड बनाम यंग

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस इन दिनों अंतर्कलह को लेकर काफी चर्चा में है। ....

आजादी का 75वां वर्ष राष्ट्रपिता का सपना

दो अक्टूबर यानी गांधी जयंती। साल-दर-साल आज के दिन पूरा देश ही नहीं, बल्कि दुनिया भी उस महान शख्सियत की याद में नतमस्तक होती है, जिन्होंने हमें नफरत के बीच प्रेम, हिंसा के बीच अहिंसा और झूठ-प्रपंच के बीच सत्य और स्व ....

पंजाब बना कांग्रेस का ’कुरुक्षेत्र‘

कांग्रेस के दो सबसे बड़े चेहरे-राहुल गांधी और प्रियंका गांधी-को अनुभवहीन कहना भले ही ताजा हालात पर निकला कैप्टन अमरिंदर सिंह का व्यक्तिगत गुबार हो, लेकिन ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है, जो यह मानते हैं कि पंजाब के म ....

पुरानी दोस्ती, नई कहानी

वैश्विक जगत में भारत का अस्तित्व संबंधों से अधिक नीतियों पर आधारित है, वह नीतियां जो वेदों की ऋचाओं से करीब 7 दशक के अध्ययन से प्राप्त हुई हैं, लेकिन यह भी सच है कि, नीतियों को विस्तार विश्व पटल पर भूमिका बांधने से ....

जुबानी जमा-खर्च से नहीं सुलझेगा अफगान संकट

अंग्रेजी में एक कहावत है कि you have watch, we have time (यू हैव वॉच, वी हैव टाइम)। मतलब आपके पास घड़ी है तो हमारे पास वक्त है। करीब दो दशक तक तालिबान अमेरिका के लिए यही कहता रहा। ....

हिंदी के हम ही कसूरवार

हिंदी दिवस फिर मुहाने पर है और एक बार फिर दशा और दिशा के प्रश्नों के साथ हिंदी राष्ट्रव्यापी चर्चा की सालाना परंपरा के केन्द्र में है। 14 सितम्बर, 1949 को संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया था। तभी से हम सा ....

लोकल से ग्लोबल होता अफगान संकट

अंतरराष्ट्रीय जगत में शायद ही ऐसा कोई देश होगा, जिसकी तवारीख के पन्ने इतनी तेजी से पलटे होंगे जितनी तेजी से अफगानिस्तान का इतिहास बदलता रहा है। ....

तालिबान से डील नहीं आसान

अमेरिकी सेना की पूर्ण वापसी के साथ ही अफगानिस्तान में अब तालिबान की सत्ता कोई डरावना सपना नहीं, बल्कि कड़वी हकीकत बन चुकी है। इंटरनेट पर अफगानिस्तान छोड़ने वाले आखिरी अमेरिकी सैनिक जनरल क्रिस डोनाहुए की ‘भुतह ....

नियति बनती बाढ़

भारत की संस्कृति में जल को जीवन का आधार माना गया है और जल को सहेजने की परंपरा अनादि काल से चली आ रही है। हमारे आदिग्रंथों में जल के विभिन्न रूपों को कल्याणकारी बताया गया है। इसी का एक स्रोत नदियां हैं, जिन्हें देव ....

सबके प्रयास से जीत का विश्वास

21वीं सदी के तीसरे दशक में प्रवेश कर चुकी दुनिया का एक मुल्क आज जहन्नुम बन चुका है। एक ऐसा मुल्क जहां की हर नई सुबह अफगानियों के लिए खौफ और मातम का नया अध्याय लेकर आती है। ....

अफगानिस्तान काबुल से कबीलों की ओर

कहते हैं कि वक्त कहीं जाता नहीं, लौट-लौट कर आता रहता है। इतिहास की भी खुद को दोहराने की आदत है। और आज अफगानिस्तान वक्त और इतिहास का यही सितम झेल रहा है? देश एक बार फिर तालिबान के हवाले है। तख्तापलट के बाद राष्ट्रपत ....

पड़ोस में नये ’दुश्मन‘ की आहट!

बीते 15 अप्रैल को तालिबान के कमांडर हाजी हेकमत ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि हमने जंग जीत ली है और अमेरिका युद्ध हार चुका है। ....

आत्मनिर्भरता के अमृतत्व का महोत्सव

भारत इस वर्ष जश्न-ए-आजादी का 75वां साल मना रहा है। यूं तो आजाद हवा में सांस लेने का एक-एक पल भी खास होता है, लेकिन इन एक-एक पल ने भी आपस में जुड़कर दिन, महीनों और वर्षो के ऐसे खास पड़ाव तैयार किए हैं, जो एक राष्ट्र के सफर ....

कश्मीरियत से गुलजार होता कश्मीर

कश्मीर की हर सरकारी इमारत पर अब तिरंगा शान से लहराता है। अनुच्छेद 370 की विदाई के दो साल बाद कश्मीर में आया ये सबसे बड़ा बदलाव भी है और बदलाव की सबसे खुशनुमा तस्वीर भी। ....

पूरी तरह धरातल पर उतरी, तो करेगा देश नये युग से साक्षात्कार

करीब साढ़े तीन दशक के बाद भारत को पिछले साल एक नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति मिली। इसका खाका प्रस्तुत करते समय सरकार ने इसके माध्यम से गांधी और अंबेडकर के सपने को सच करने की बात कही थी। नई नीति में इस ओर प्रयास काफी हद ....

लंबी है अफगानिस्तान में ’अमावस की रात‘

एशियाई देशों की विदेश नीति के भविष्य को लेकर पिछले कई दिनों से तरह-तरह के सरसरी अनुमान लगाए जा रहे थे, लेकिन बीते हफ्ते की दो अहम मुलाकातों ने इन तमाम अनुमान को चर्चा के केंद्र में ला दिया है। ....

निजी नहीं रहा निजता का सवाल

पेगासस कांड का विवाद भले नया हो, लेकिन जासूसी का इतिहास सदियों पुराना है। चाणक्य का दौर हमें याद दिलाता है कि कैसे जासूसी ने नई मान्यता को स्थापित किया कि युद्ध केवल रणक्षेत्र में नहीं जीते जाते। उन्हें दरबार, ब ....

  फ़ोटो गैलरी
अनुष्का का पशु प्रेम...
अनुष्का का पशु प्रेम...
'लव स्टोरी' का...
भारत जीता ओवल टेस्ट...
भारत जीता ओवल टेस्ट...
भारी बारिश से...
भारी बारिश से...
स्कूल चलें हम...
स्कूल चलें हम...
शहनाज का बोल्ड अंदाज...
शहनाज का बोल्ड अंदाज...
काबुल एयरपोर्ट...
काबुल एयरपोर्ट...
लॉर्डस पर भारत की जीत...
लॉर्डस पर भारत की जीत...
ओलंपिक खिलाड़ी...
ओलंपिक खिलाड़ी...
तालिबान डर से लोग...
तालिबान डर से लोग...
टोक्यो से घर वापसी...
टोक्यो से घर वापसी...
भारतीय ओलंपिक दल...
भारतीय ओलंपिक दल...
टोक्यो 2020 का...
टोक्यो 2020 का...
भाला फेंक में नीरज...
भाला फेंक में नीरज...
रवि ने दिलाया भारत...
रवि ने दिलाया भारत...
जीत के जश्न में डूबी...
जीत के जश्न में डूबी...
दिल्ली में सिंधु...
दिल्ली में सिंधु...
ओलंपिक महिला हॉकी...
ओलंपिक महिला हॉकी...
टोक्यो...
टोक्यो...
सोने सी चमकती...
सोने सी चमकती...
सचमुच गटर है कंगना...
सचमुच गटर है कंगना...
टोक्यो ओलंपिक...
टोक्यो ओलंपिक...
नए फोटोशूट में सारा...
नए फोटोशूट में सारा...
हिमाचल में भूस्खलन...
हिमाचल में भूस्खलन...
देश के कई हिस्सों...
देश के कई हिस्सों...
‘मुगल-ए-आजम’ से...
‘मुगल-ए-आजम’ से...
योग के रंग में रंगा...
योग के रंग में रंगा...
देखें, पानी-पानी मुंबई...
देखें, पानी-पानी मुंबई...
देखें, अनलॉक शुरू...
देखें, अनलॉक शुरू...
जानें,कहां-कहां लगा...
जानें,कहां-कहां लगा...
हरिद्वार कुंभ...
हरिद्वार कुंभ...
बंगाल और असम दूसरे...
बंगाल और असम दूसरे...

 

172.31.21.212