Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

 धर्म

 
रचनात्मक उपद्रव

यह जो लड़ने की वृत्ति है। लड़ने की वृत्ति के हजार रूप होते हैं। लड़ने की वृत्ति बड़ी फ्लेक्सिबल चीज है। हमने क्या किया है? ....

आत्मनिरीक्षण

आत्म विश्लेषण का अर्थ है प्रवृत्तियों के मूल कारण की तलाश करना। अर्थात द्वेषपूर्ण भावनाएं जिस आधार पर उठीं, उस आधार को ढूंढ़ना और उसे नष्ट करना। ....

स्व का बचाव

सब जीवों को परमेश्वर का अंश कहा गया है। जिस प्रकार जल के प्रपात में से पानी के अनेक छोटे-छोटे झरने उत्पन्न होते और विलय होते हैं, उसी प्रकार विभिन्न जीवधारी परमात्मा में से उत्पन्न होकर उसी में लय होते रहते हैं। ....

सकारात्मक सोच

आप जिससे दूर जाना चाहें, वो ही आप की सबसे मजबूत बात हो जाएगी। वो कोई भी, जो जीवन के एक भाग को मिटा देना चाहता है और दूसरे के ही साथ रहना चाहता है, वह अपने लिये सिर्फ दुख ही लाता है। ....

रचनात्मक बनें

किसी फर्श को साफ करना अत्यधिक रचनात्मक कार्य हो सकता है। रचनात्मकता का किसी कार्य विशेष के साथ संबंध नहीं होता। आपकी चेतना की गुणवत्ता से होता है। ....

भारतीय संस्कृति

भारतीय संस्कृति सबके लिए सभी भांति विकास का अवसर देती है। यह अति उदार संस्कृति है। विश्व में अन्य कोई धर्म संस्कृति में ऐसा प्रावधान नहीं है। ....

खुद का आकलन

आपकी लायकी या कीमत क्या है, यह सिर्फ इस दृष्टि से नहीं आंकना चाहिए कि आप कितना कमा रहे हैं? आप को क्या जिम्मेदारी दी गई है, इस दृष्टि से इसका आकलन होना चाहिए। आप कितना कमा रहे हैं, यह विशेष बात नहीं है। ....

अहंकार

स्वाभिमान और अहंकार देखने में एक जैसे लगते हैं, पर उनकी प्रकृति और परिणति में जमीन-आसमान जैसा अंतर है। ....

सकारात्मक सोच

सारी दुनिया में बहुत सारे लोग ‘सकारात्मक सोच’ के बारे में बात करते हैं। जब आप सकारात्मक सोच की बात कर रहे हैं तो एक अर्थ में आप वास्तविकता से दूर भाग रहे हैं। ....

धर्म

धर्म तो सदा ही नगद होता है। उधार और धर्म, संभव नहीं। उधार धर्म का नाम ही अधर्म है। और उधार धर्म बहुत प्रचलित है पृथ्वी पर। ....

विभूति

हम संपदाएं कमाने में तल्लीन हों या विभूतियां उपार्जित करने के लिए तत्पर हों, इस ऊहापोह में गहराई तक उतरने के पश्चात इसी निष्कर्ष पर पहुंचना पड़ता है कि आत्मिक विभूतियों की समृद्धि भौतिक तुलनाओं की अपेक्षा कही ....

खेल

क्या खेल सिर्फ मनोरंजन के लिए होते हैं, या फिर ये इंसान के विकास में भी मदद कर सकते हैं। ....

औचित्य का मार्ग

महत्ता इस बात की नहीं कि सफलता कितनी बड़ी पाई गई। गरिमा इस बात की है कि उसे किस प्रकार पाया गया? ....

परिवार का महत्त्व

परिवार इंसान के विकास के लिए एक मजबूत आधार है। मगर कई लोगों के लिए परिवार एक सहारा नहीं बनता, बल्कि बाधा बन जाता है। ....

नया वर्ष

नये वर्ष के नये दिन पर पहली बात तो यह कहना चाहूंगा कि दिन तो रोज ही नया होता है, लेकिन रोज नये दिन को न देख पाने के कारण हम वर्ष में कभी-कभी नये दिन को देखने की कोशिश करते हैं। ....

तीन महान तत्त्व

अमृत, पारस और कल्पवृक्ष यह तीनों महान तत्त्व सर्वसाधारण के लिए सुलभ हैं। ....

जीवन का महत्त्व

मैं भारत में चारों ओर, इधर से उधर घूमा। किसी खास स्थान पर जाने के लिए नहीं, मुझे बस हर एक इलाका देखना था। मेरे लिए सब कुछ चित्र रूप ही होता है। ....

धर्म का स्वरूप

आज के समय में लोगों ने धर्म को मजहब या संप्रदाय का पर्यायवाची मान लिया है। ‘धर्म’ शब्द सुनते ही वे इसे कोई मत-पंथ या संप्रदाय समझते हैं। ....

बुद्धिमता

अपनी ऊर्जा का पूरी काबिलियत के साथ इस्तेमाल करने की बजाय, अपने भीतर और बाहर सही वातावरण बनाने की बजाय, दुर्भाग्य से हम हमेशा ऐसी चीजें ढूंढते रहते हैं जो हमारे लिए ये सब कर दें। ....

दुख और कष्ट

इसलिए धनी आदमी दुखी हो जाते हैं। गरीब आदमी इतना दुखी नहीं होता। यह जरा अजीब लगेगी मेरी बात। गरीब आदमी कष्ट में होता है, दुख में नहीं होता। ....

  फ़ोटो गैलरी
देखें राणा-बजाज का...
देखें राणा-बजाज का...
PM मोदी ने राममंदिर की...
PM मोदी ने राममंदिर की...
देश में आज मनाई जा रही...
देश में आज मनाई जा रही...
बिहार में बाढ़...
बिहार में बाढ़...
त्याग, तपस्या और...
त्याग, तपस्या और...
बिहार में नदिया उफान...
बिहार में नदिया उफान...
दिल्ली-NCR में हुई...
दिल्ली-NCR में हुई...
B
B'day Special: प्रियंका...
PHOTOS:
PHOTOS: 'दिल बेचारा'...
B
B'day: जानें कैसा रहा...
सरोज खान के निधन...
सरोज खान के निधन...
बाल कलाकार...
बाल कलाकार...
पसीने से मेकअप को...
पसीने से मेकअप को...
सुशांत काफी...
सुशांत काफी...
अनलॉक-1 शुरू होते ही घर...
अनलॉक-1 शुरू होते ही घर...
स्वर्ण...
स्वर्ण...
श्रद्धालुओं के...
श्रद्धालुओं के...
चक्रवात निसर्ग...
चक्रवात निसर्ग...
World Cycle Day: ये हैं...
World Cycle Day: ये हैं...
अनलॉक -1 के पहले...
अनलॉक -1 के पहले...
लॉकडाउन बढ़ाए जाने...
लॉकडाउन बढ़ाए जाने...
एक दिन बनूंगी...
एक दिन बनूंगी...
सलमान के ईदी के...
सलमान के ईदी के...
सुपर साइक्लोन...
सुपर साइक्लोन...
अनिल-सुनीता मना...
अनिल-सुनीता मना...
लॉकडाउन :  ऐसे यादगार...
लॉकडाउन : ऐसे यादगार...
निर्भया को मिला...
निर्भया को मिला...
तस्वीरें: शिमला में 3...
तस्वीरें: शिमला में 3...
रंग के उमंग पर कोरोना...
रंग के उमंग पर कोरोना...
कोरोना वायरस: डरें...
कोरोना वायरस: डरें...
भारतीय डिजाइनर की...
भारतीय डिजाइनर की...
हैप्पीनेस क्लास...
हैप्पीनेस क्लास...

 

172.31.21.212