Samay Live
29 Dec 2018 09:50:47 AM IST
Last Updated : 29 Dec 2018 03:59:55 PM IST

मेलबर्न टेस्ट: कमिंस ने भारत की जीत को एक दिन टाला

आईएएनएस
मेलबर्न
मेलबर्न टेस्ट: कमिंस ने भारत की जीत को एक दिन टाला

गेंद से शानदार प्रदर्शन करने के बाद आस्ट्रेलिया के पैट कमिंस ने बल्ले से बेहतरीन पारी खेल यहां मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में जारी तीसरे टेस्ट मैच में भारत की जीत को एक दिन के लिए टाल दिया।

भारत ने मेजबान आस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 399 रनों का लक्ष्य रखा है। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक आस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में आठ विकेट के नुकसान पर 258 रन बना लिए हैं।

भारत को जीत के लिए दो विकेटों की दरकार है तो वहीं आस्ट्रेलिया को जीत के लिए 141 रन चाहिए।

भारत ने एक समय आस्ट्रेलिया के सात विकेट 176 रनों पर ही गिरा दिए थे, लेकिन कमिंस ने पहले मिशेल स्टार्क (18) के साथ आठवें विकेट के लिए 39 और फिर नाथन लॉयन (नाबाद 6) के साथ नौवें विकेट के लिए 43 रनों की साझेदारी कर भारत की जीत के इंतजार को एक दिन के लिए बढ़ा दिया।

कमिंस 103 गेंदों का सामना कर चुके हैं जिनमें से उन्होंने पांच पर चौके तो एक पर छक्का मारा है।

भारत ने अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 443 रनों पर घोषित की थी और आस्ट्रेलिया को पहली पारी में 151 रनों पर ढेर कर दिया। भारत के पास आस्ट्रेलिया को फॉलोऑन देने का मौका था, लेकिन मेहमान टीम ने अपनी दूसरी पारी खेलने का फैसला किया। दूसरी पारी में वह 292 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी।

भारतीय बल्लेबाज दूसरी पारी में पहली पारी की तरह प्रदर्शन नहीं कर पाए और चौथे दिन पहले सत्र में भारत ने अपनी दूसरी पारी आठ विकेट के नुकसान पर 106 रनों पर घोषित कर दी। पहली पारी के आधार पर मिली बढ़त के चलते भारत ने आस्ट्रेलिया को बड़ा लक्ष्य दिया।

दूसरी पारी में भारत को बुरी स्थिति में पहुंचाने के जिम्मेदार भी कमिंस थे जिन्होंने छह विकेट अपने नाम किए। कमिंस ने पहली पारी में भी भारत के तीन विकेट झटके थे। दूसरी पारी में कमिंस के अलावा जोश हेजलवुड ने दो विकेट लिए।

भारत के लिए पदार्पण कर रहे मयंक अग्रवाल ने दूसरी पारी में सबसे ज्यादा 42 रन बनाए जिसके लिए उन्होंने 102 गेंदें खेलीं और चार चौकों के अलावा दो छक्के भी मारे। मयंक के अलावा ऋषभ पंत ने 43 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्के की मदद से 33 रनों की पारी खेली।

मजबूत लक्ष्य का पीछा करने उतरी आस्ट्रेलिया के पास जीत हासिल करने के लिए पूरे दो दिन का समय था, लेकिन पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों ने जो कहर बरपाया था वह दूसरी पारी में भी देखने को मिला। नतीजन आस्ट्रेलिया को अच्छी शुरुआत नहीं मिली और छह के कुल स्कोर पर एरॉन फिंच (3) जसप्रीत बुमराह की गेंद पर विराट कोहली के हाथों लपके गए।

मार्कस हैरिस (13) की पारी का अंत रवींद्र जडेजा ने किया। पहले सत्र की समाप्ति तक आस्ट्रेलिया का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 44 रन था। उसे अब अपने दो सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों उस्मान ख्वाजा (33) और शॉन मार्श (44) से उम्मीद थी।

जिम्मेदारी को समझते हुए यह दोनों संयम के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन मोहम्मद शमी की एक गेंद ख्वाजा के पैड पर जा कर लगी और अंपायर ने उन्हें पवेलियन भेजने का आदेश दे दिया। ख्वाजा का विकेट 63 के कुल स्कोर पर गिरा।

मार्श को ट्रेविस हेड (34) का साथ मिला। दोनों ने मिलकर चौथे विकेट के लिए 51 रनों की साझेदारी की। पहली पारी में आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिए मुश्किल खड़ी करने वाले बुमराह एक बार फिर यह साझेदारी तोड़ने में कामयाब रहे। उन्होंने मार्श को 114 के कुल स्कोर पर आउट किया। मार्श ने 72 गेंदों की पारी में चार चौके और एक छक्का मारा।

मिशेल मार्श (10) कुछ खास नहीं कर पाए। दिन के तीसरे सत्र में ईशांत ने हेड की पारी का अंत कर आस्ट्रेलिया को छठा झटका दिया। कप्तान टिम पेन की 26 रनों की पारी का अंत जडेजा ने उन्हें पंत के हाथों कैच कराते हुए किया।

यहां से स्टार्क और कमिंस ने भारत की जीत को टालने का काम शुरू किया। स्टार्क को 215 के कुल स्कोर पर आउट कर शमी ने उम्मीद जगाई की भारत चौथे दिन ही जीत हासिल कर लेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

कमिंस को नाथन लॉयन का साथ मिला और दोनों ने मिलकर भारत की जीत के इंतजार को पांचवें दिन तक बढ़ा दिया। लॉयन ने 38 गेंदों का सामना कर सिर्फ छह रन बनाए हैं।

भारत के लिए अभी तक जडेजा ने तीन विकेट लिए हैं। बुमराह और शमी ने दो-दो विकेट अपने नाम किए हैं तो वहीं ईशांत को एक विकेट मिला है।



 

ताज़ा ख़बरें


 

 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
There is no gallery


 

 

Facebook

Twitter

Youtube

RSS

Spacer