Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

16 May 2019 03:29:38 AM IST
Last Updated : 16 May 2019 03:31:44 AM IST

पूर्वाचल : परंपरागत बौद्धिकता, बाहुबल और विकास

डॉ. संतोष कु. राय

यह लोक सभा चुनाव पिछले चुनावों से अपनी तासीर में बहुत अलग लड़ा जा रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश की लगभग 32 लोक सभा की सीटों को पूर्वाचल में गिना जाता है।

यह प्रयागराज से शुरू होकर नेपाल और बिहार से मिलते क्षेत्र तक जाता है। पूर्वाचल की परंपरागत पहचान जुझारू, सजग और संवेदनशील बौद्धिक क्षेत्र के रूप में रही है। सामाजिक और वैचारिक बिखराव के फलस्वरूप यह क्षेत्र विकास, व्यवसाय, रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा जैसी बुनियादी सुविधाओं के अभाव में आज जिस स्थिति में खड़ा है, उसके गुनाहगार पूर्वाचल के राजनेता और जनता ही हैं, जो इतने सचेत और सजग होने के बाद भी अपने अधिकारों के लिए संगठित नहीं हो पाए।
इस लोक सभा चुनाव को पूर्वाचल में आशावादी नजरिए से देखा जा रहा है। क्षेत्र में सपा-बसपा गठबंधन और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई है। उन्नीस मई को पूर्वाचल की वाराणसी सहित कई सीटों पर मतदान होना है, जिसमें भाजपा अपने पिछले पांच वर्षो के कार्यों के साथ मैदान में है, तो गठबंधन उसकी नाकमियों और खामियों के साथ अपने जातिगत गणित के सहारे लड़ रहा है। 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले पूरे पूर्वाचल में सपा-बसपा ही मुख्य रूप से लड़ रहे थे, यह अलग बात है कि लोक सभा की ज्यादातर सीटों पर भाजपा का कब्जा था।
2017 में सारे समीकरण बदल गए और विधानसभा में भाजपा की मजबूत वापसी हुई, जिसके मुख्य रूप से दो कारण थे। पहला, केंद्र  की योजनाओं का पूर्वाचल में आम जनमानस तक पहुंचना; और दूसरा, तत्कालीन प्रदेश सरकार के प्रति नकारात्मक माहौल। इस लोक सभा चुनाव में स्थिति कुछ दूसरे तरह की है। विपक्ष के नाम पर पूरे पूर्वाचल में गठबंधन लड़ रहा है, जिसकी एकमात्र कोशिश है अपनी सीटें बढ़ाना और भाजपा की सीटें कम करना। लेकिन जो बात गौर करने वाली है वह यह कि विपक्ष केंद्र सरकार के प्रति विरोधी माहौल बनाने में असफल साबित हुआ है, इसलिए भाजपा को रोकने के दूसरे रास्ते अर्थात बाहुबलियों के सहारे लोक सभा में वापसी का प्रयास किया जा रहा है।

जहां तक बहुबलियों की बात है तो पूर्वाचल में गोरखपुर से गाजीपुर तक और वाराणसी और फूलपुर तक 90 के दशक से लेकर 2010 तक पूर्वाचल में हर चुनाव में बाहुबलियों ने अहम भूमिका निभाई। इस बार भी पूर्वाचल की कई सीटों पर कई दलों ने बाहुबलियों और उनके सगे-संबंधियों के सहारे सांसद संख्या बढ़ाने का दांव चला है। बहुचर्चित लोक सभा सीट गाजीपुर को ही देखें। गाजीपुर से भाजपा के वर्तमान सांसद एवं केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा प्रत्याशी हैं, तो उनके विरु द्ध गठबंधन से बाहुबली मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी मैदान में हैं। अफजाल गाजीपुर से 2004 में सांसद रह चुके हैं, और मुहम्मदाबाद से कई बार विधायक भी। उनकी राजनीतिक शुरु आत कम्युनिस्ट पार्टी से बतौर विधायक हुई थी, लेकिन जैसे-जैसे कम्युनिस्ट पार्टी का जनाधार घटता गया वैसे-वैसे सपा-बसपा का विस्तार होता गया और अफजाल भी सपा से होते हुए अब बसपा की ओर से गठबंधन के उम्मीदवार हैं। अफजाल की राजनैतिक थाती गठबंधन का जातीय समीकरण और मुख्तार की बाहुबली पहचान और दबदबा है जबकि भाजपा के पास गाजीपुर सहित पूरे पूर्वाचल का विकास। मोदी सरकार ने पूर्वाचल को विकास के अनेक पक्षों से जोड़ा जिसका केंद्र वाराणसी है।
वाराणसी से प्रधानमंत्री सांसद हैं। विकास की लगभग सभी योजनाओं का यहां आना स्वाभाविक था। और सिन्हा ने वाराणसी के पूर्वी हिस्से को योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया। मेडिकल कॉलेज, एयरपोर्ट, स्पोर्ट्स कांप्लेक्स, गंगा नदी के जलमार्ग का टर्मिंनल, हाइवे और रेलवे की अनेक योजनाओं के साथ विकास के हर उस पहलू को गाजीपुर की जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया है, जिससे गाजीपुर की पहचान बदले। यही कारण है कि इस लोक सभा के चुनाव में विकास और बाहुबल, दोनों उनके अपने-अपने समर्थकों के बीच चर्चा में बने हुए हैं।  नई पीढ़ी के मतदाताओं ने लोक सभा के चुनाव को पिछले रिवाजों से अलग कर दिया है। यह चुनाव नई पीढ़ी की सोच, आकांक्षा और अपेक्षा पर आधारित है। परिणाम जो होगा, वो होगा, लेकिन इतना तय है कि यह चुनाव नई पीढ़ी की सक्रियता के लिए भी जाना जाएगा। पिछले चुनावों की तरह इस बार जातीय गणित नहीं चल रहा है, और यह भारतीय लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत है।



 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: बॉलीवुड सितारों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

PICS: बॉलीवुड सितारों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

वर्ल्ड कप: लंदन पहुंची विराट ब्रिगेड, एक जैसी यूनीफॉर्म में नजर आई भारतीय टीम

वर्ल्ड कप: लंदन पहुंची विराट ब्रिगेड, एक जैसी यूनीफॉर्म में नजर आई भारतीय टीम

PICS: कान्स में सफेद टक्सीडो पहनकर

PICS: कान्स में सफेद टक्सीडो पहनकर 'बॉस लुक' में नजर आईं सोनम

PICS: 25 साल पहले आज ही के दिन सुष्मिता बनीं थीं मिस यूनिवर्स

PICS: 25 साल पहले आज ही के दिन सुष्मिता बनीं थीं मिस यूनिवर्स

PICS: Cannes में ऐश्वर्या ने गोल्डन मर्मेड लुक में बिखेरा जलवा

PICS: Cannes में ऐश्वर्या ने गोल्डन मर्मेड लुक में बिखेरा जलवा

PICS: Cannes में दीपिका के

PICS: Cannes में दीपिका के 'लाइम ग्रीन' लुक के मुरीद हुए रणवीर सिंह

PICS: पीएम मोदी का पहाड़ी परिधान बना आकर्षण का केंद्र

PICS: पीएम मोदी का पहाड़ी परिधान बना आकर्षण का केंद्र

Photos: Cannes में दीपिका पादुकोण के लुक ने जीता सबका दिल

Photos: Cannes में दीपिका पादुकोण के लुक ने जीता सबका दिल

PICS: Cannes में कंगना की कांजीवरम ने सबको लुभाया

PICS: Cannes में कंगना की कांजीवरम ने सबको लुभाया

Photos: प्रियंका चोपड़ा ने Cannes में किया अपना डेब्यू

Photos: प्रियंका चोपड़ा ने Cannes में किया अपना डेब्यू

अमित शाह के रोडशो में हिंसा, कई घायल

अमित शाह के रोडशो में हिंसा, कई घायल

IPL: मुंबई इंडियंस ने सड़कों पर निकाली चैंपियन परेड, खुली बस में ऐसे मनाया जश्न

IPL: मुंबई इंडियंस ने सड़कों पर निकाली चैंपियन परेड, खुली बस में ऐसे मनाया जश्न

PICS: ...जब सिंधिया और सिद्धू उतरे क्रिकेट की पिच पर

PICS: ...जब सिंधिया और सिद्धू उतरे क्रिकेट की पिच पर

PHOTOS: मेट गाला में अनोखे अंदाज में नजर आए प्रियंका, निक जोनस

PHOTOS: मेट गाला में अनोखे अंदाज में नजर आए प्रियंका, निक जोनस

PICS: गर्मियों में खूब पीएं पानी, नहीं लगेगी लू

PICS: गर्मियों में खूब पीएं पानी, नहीं लगेगी लू

PICS: माधुरी, मातोंडकर और रेखा समेत इन बॉलीवुड सितारों ने डाला वोट

PICS: माधुरी, मातोंडकर और रेखा समेत इन बॉलीवुड सितारों ने डाला वोट

PICS: मोदी फिर प्रधानमंत्री बने तो रचेंगे इतिहास

PICS: मोदी फिर प्रधानमंत्री बने तो रचेंगे इतिहास

PICS:

PICS: 'वीरू' के अंदाज में बोले धर्मेंद्र, हेमा को नहीं जिताया तो पानी की टंकी पर चढ़ जाऊंगा

PICS: चुनावी समर में चमकेंगे फिल्मी सितारे

PICS: चुनावी समर में चमकेंगे फिल्मी सितारे

PICS: कॉफी, चाय के बारे में सोचने से ही आ जाती है ताजगी

PICS: कॉफी, चाय के बारे में सोचने से ही आ जाती है ताजगी

31 मार्च से 6 अप्रैल तक का साप्ताहिक राशिफल

31 मार्च से 6 अप्रैल तक का साप्ताहिक राशिफल

शुक्रवार, 29 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

शुक्रवार, 29 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 28 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 28 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: रेड कार्पेट पर लाल साड़ी में दिखीं आलिया भट्ट

PICS: रेड कार्पेट पर लाल साड़ी में दिखीं आलिया भट्ट

बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर


 

172.31.21.212