Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

16 May 2019 03:29:38 AM IST
Last Updated : 16 May 2019 03:31:44 AM IST

पूर्वाचल : परंपरागत बौद्धिकता, बाहुबल और विकास

डॉ. संतोष कु. राय
पूर्वाचल : परंपरागत बौद्धिकता, बाहुबल और विकास
पूर्वाचल : परंपरागत बौद्धिकता, बाहुबल और विकास

यह लोक सभा चुनाव पिछले चुनावों से अपनी तासीर में बहुत अलग लड़ा जा रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश की लगभग 32 लोक सभा की सीटों को पूर्वाचल में गिना जाता है।

यह प्रयागराज से शुरू होकर नेपाल और बिहार से मिलते क्षेत्र तक जाता है। पूर्वाचल की परंपरागत पहचान जुझारू, सजग और संवेदनशील बौद्धिक क्षेत्र के रूप में रही है। सामाजिक और वैचारिक बिखराव के फलस्वरूप यह क्षेत्र विकास, व्यवसाय, रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा जैसी बुनियादी सुविधाओं के अभाव में आज जिस स्थिति में खड़ा है, उसके गुनाहगार पूर्वाचल के राजनेता और जनता ही हैं, जो इतने सचेत और सजग होने के बाद भी अपने अधिकारों के लिए संगठित नहीं हो पाए।
इस लोक सभा चुनाव को पूर्वाचल में आशावादी नजरिए से देखा जा रहा है। क्षेत्र में सपा-बसपा गठबंधन और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई है। उन्नीस मई को पूर्वाचल की वाराणसी सहित कई सीटों पर मतदान होना है, जिसमें भाजपा अपने पिछले पांच वर्षो के कार्यों के साथ मैदान में है, तो गठबंधन उसकी नाकमियों और खामियों के साथ अपने जातिगत गणित के सहारे लड़ रहा है। 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले पूरे पूर्वाचल में सपा-बसपा ही मुख्य रूप से लड़ रहे थे, यह अलग बात है कि लोक सभा की ज्यादातर सीटों पर भाजपा का कब्जा था।
2017 में सारे समीकरण बदल गए और विधानसभा में भाजपा की मजबूत वापसी हुई, जिसके मुख्य रूप से दो कारण थे। पहला, केंद्र  की योजनाओं का पूर्वाचल में आम जनमानस तक पहुंचना; और दूसरा, तत्कालीन प्रदेश सरकार के प्रति नकारात्मक माहौल। इस लोक सभा चुनाव में स्थिति कुछ दूसरे तरह की है। विपक्ष के नाम पर पूरे पूर्वाचल में गठबंधन लड़ रहा है, जिसकी एकमात्र कोशिश है अपनी सीटें बढ़ाना और भाजपा की सीटें कम करना। लेकिन जो बात गौर करने वाली है वह यह कि विपक्ष केंद्र सरकार के प्रति विरोधी माहौल बनाने में असफल साबित हुआ है, इसलिए भाजपा को रोकने के दूसरे रास्ते अर्थात बाहुबलियों के सहारे लोक सभा में वापसी का प्रयास किया जा रहा है।

जहां तक बहुबलियों की बात है तो पूर्वाचल में गोरखपुर से गाजीपुर तक और वाराणसी और फूलपुर तक 90 के दशक से लेकर 2010 तक पूर्वाचल में हर चुनाव में बाहुबलियों ने अहम भूमिका निभाई। इस बार भी पूर्वाचल की कई सीटों पर कई दलों ने बाहुबलियों और उनके सगे-संबंधियों के सहारे सांसद संख्या बढ़ाने का दांव चला है। बहुचर्चित लोक सभा सीट गाजीपुर को ही देखें। गाजीपुर से भाजपा के वर्तमान सांसद एवं केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा प्रत्याशी हैं, तो उनके विरु द्ध गठबंधन से बाहुबली मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी मैदान में हैं। अफजाल गाजीपुर से 2004 में सांसद रह चुके हैं, और मुहम्मदाबाद से कई बार विधायक भी। उनकी राजनीतिक शुरु आत कम्युनिस्ट पार्टी से बतौर विधायक हुई थी, लेकिन जैसे-जैसे कम्युनिस्ट पार्टी का जनाधार घटता गया वैसे-वैसे सपा-बसपा का विस्तार होता गया और अफजाल भी सपा से होते हुए अब बसपा की ओर से गठबंधन के उम्मीदवार हैं। अफजाल की राजनैतिक थाती गठबंधन का जातीय समीकरण और मुख्तार की बाहुबली पहचान और दबदबा है जबकि भाजपा के पास गाजीपुर सहित पूरे पूर्वाचल का विकास। मोदी सरकार ने पूर्वाचल को विकास के अनेक पक्षों से जोड़ा जिसका केंद्र वाराणसी है।
वाराणसी से प्रधानमंत्री सांसद हैं। विकास की लगभग सभी योजनाओं का यहां आना स्वाभाविक था। और सिन्हा ने वाराणसी के पूर्वी हिस्से को योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया। मेडिकल कॉलेज, एयरपोर्ट, स्पोर्ट्स कांप्लेक्स, गंगा नदी के जलमार्ग का टर्मिंनल, हाइवे और रेलवे की अनेक योजनाओं के साथ विकास के हर उस पहलू को गाजीपुर की जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया है, जिससे गाजीपुर की पहचान बदले। यही कारण है कि इस लोक सभा के चुनाव में विकास और बाहुबल, दोनों उनके अपने-अपने समर्थकों के बीच चर्चा में बने हुए हैं।  नई पीढ़ी के मतदाताओं ने लोक सभा के चुनाव को पिछले रिवाजों से अलग कर दिया है। यह चुनाव नई पीढ़ी की सोच, आकांक्षा और अपेक्षा पर आधारित है। परिणाम जो होगा, वो होगा, लेकिन इतना तय है कि यह चुनाव नई पीढ़ी की सक्रियता के लिए भी जाना जाएगा। पिछले चुनावों की तरह इस बार जातीय गणित नहीं चल रहा है, और यह भारतीय लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत है।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: BJP के ‘थिंक टैंक’ थे अरुण जेटली

PICS: BJP के ‘थिंक टैंक’ थे अरुण जेटली

PICS: बचपन से ही एक्ट्रेस बनना चाहती थी डिंपल गर्ल

PICS: बचपन से ही एक्ट्रेस बनना चाहती थी डिंपल गर्ल

PICS: सौन्दर्य की दुनिया, एशिया के सबसे खूबसूरत द्वीप बाली

PICS: सौन्दर्य की दुनिया, एशिया के सबसे खूबसूरत द्वीप बाली

PICS: आजादी का जश्न मना रहे बच्चों के बीच पहुंचे मोदी

PICS: आजादी का जश्न मना रहे बच्चों के बीच पहुंचे मोदी

PICS: राखी की रौनक से गुलजार हुआ बाजार, डिजाइनर राखियों की मांग

PICS: राखी की रौनक से गुलजार हुआ बाजार, डिजाइनर राखियों की मांग

PICS: सुषमा स्वराज : एक प्रखर वक्ता, आम आदमी को विदेश मंत्रालय से जोड़ने वाली हस्ती

PICS: सुषमा स्वराज : एक प्रखर वक्ता, आम आदमी को विदेश मंत्रालय से जोड़ने वाली हस्ती

PICS: काजोल को पति अजय देवगन ने इस खास अंदाज में किया बर्थडे विश, फोटो शेयर कर कही ये बात

PICS: काजोल को पति अजय देवगन ने इस खास अंदाज में किया बर्थडे विश, फोटो शेयर कर कही ये बात

PICS: हरियाली तीज के मौके पर हेमा मालिनी ने वृंदावन के मंदिर में अपने नृत्य से बांधा समां

PICS: हरियाली तीज के मौके पर हेमा मालिनी ने वृंदावन के मंदिर में अपने नृत्य से बांधा समां

PICS: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश, वड़ोदरा में हालात सामान्य

PICS: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश, वड़ोदरा में हालात सामान्य

लारा दत्ता ने शेयर की मातृत्व से जुडी महत्वपूर्ण बातें

लारा दत्ता ने शेयर की मातृत्व से जुडी महत्वपूर्ण बातें

PICS: लेनोवो ने भारत में लॉन्च किया

PICS: लेनोवो ने भारत में लॉन्च किया 'योगा एस940' लैपटॉप, कीमत 23,990 रुपये

सुपर 30 में काम करने के लिये लोगो ने किया था मना: ऋतिक

सुपर 30 में काम करने के लिये लोगो ने किया था मना: ऋतिक

B

B'day special: फिल्में छोड़ तिब्बतन योगा क्लासेस चलाती हैं मंदाकिनी

60 साल के हुए संजय दत्त

60 साल के हुए संजय दत्त

Man Vs Wild: एडवेंचर करते नजर आएंगे प्रधानमंत्री मोदी, देखें टीजर

Man Vs Wild: एडवेंचर करते नजर आएंगे प्रधानमंत्री मोदी, देखें टीजर

PICS बॉलीवुड में अब नारी शक्ति की बारी, 2019 के अगले भाग में रिलीज़ होंगी महिला केंद्रित फिल्में

PICS बॉलीवुड में अब नारी शक्ति की बारी, 2019 के अगले भाग में रिलीज़ होंगी महिला केंद्रित फिल्में

अर्जुन ने दूसरी बार कराया टैटू

अर्जुन ने दूसरी बार कराया टैटू

राजनीति में नहीं जाना चाहती हैं सोनाक्षी सिन्हा

राजनीति में नहीं जाना चाहती हैं सोनाक्षी सिन्हा

PICS: श्रीलंका ने बांग्लादेश को 91रनों हराया, मलिंगा को दी विजयी विदाई

PICS: श्रीलंका ने बांग्लादेश को 91रनों हराया, मलिंगा को दी विजयी विदाई

PICS: मोदी ने साझा कीं युद्ध के दौरान करगिल दौरे की तस्वीरें

PICS: मोदी ने साझा कीं युद्ध के दौरान करगिल दौरे की तस्वीरें

PICS: ट्रेनिंग के लिए पैराशूट रेजिमेंट के साथ जुड़े धोनी, कश्मीर में होंगे तैनात

PICS: ट्रेनिंग के लिए पैराशूट रेजिमेंट के साथ जुड़े धोनी, कश्मीर में होंगे तैनात

PICS: ICW 2019 में अलग अंदाज में नजर आईं कियारा

PICS: ICW 2019 में अलग अंदाज में नजर आईं कियारा

PICS: बहन इनाया के साथ पार्क में खेलते नजर आए तैमूर

PICS: बहन इनाया के साथ पार्क में खेलते नजर आए तैमूर

'वॉर' के लिए ऋतिक और टाइगर ने फिनलैंड में बर्फ पर किया जोखिम भरा स्टंट

PICS: चैंपियन बनने से चूकी न्यूजीलैंड, विलियमसन बने मैन ऑफ द टूर्नामेंट

PICS: चैंपियन बनने से चूकी न्यूजीलैंड, विलियमसन बने मैन ऑफ द टूर्नामेंट

PICS: राम कपूर ने अपने बढ़े वजन को दी मात, शेयर की चौंका देने वाली तस्वीरें..

PICS: राम कपूर ने अपने बढ़े वजन को दी मात, शेयर की चौंका देने वाली तस्वीरें..

फेस क्लींजिंग त्वचा की देखभाल के लिए जरूरी

फेस क्लींजिंग त्वचा की देखभाल के लिए जरूरी

मलाइका और अर्जुन ने बिताए न्यूयॉर्क में यादगार पल, देखे तस्वीरें

मलाइका और अर्जुन ने बिताए न्यूयॉर्क में यादगार पल, देखे तस्वीरें

PICS: बेटी नितारा के लिये मिशन मंगल में काम कर रहे हैं अक्षय कुमार

PICS: बेटी नितारा के लिये मिशन मंगल में काम कर रहे हैं अक्षय कुमार

PICS: अमूल इंडिया

PICS: अमूल इंडिया 'फैन ऑफ द मैच' चारूलता पटेल पर हुआ फिदा, दिया ट्रिब्यूट

हॉलीवुड की फैशन मैगजीन्स पर छांईं प्रियंका चोपड़ा, दिखीं कुछ इस अंदाज़ में

हॉलीवुड की फैशन मैगजीन्स पर छांईं प्रियंका चोपड़ा, दिखीं कुछ इस अंदाज़ में

तस्वीरों में देखें, अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा

तस्वीरों में देखें, अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा


 

172.31.21.212