Samay Live
27 Sep 2017 05:38:50 AM IST
Last Updated : 27 Sep 2017 05:45:02 AM IST

अम्पायर अब क्रिकेटर को कर सकते हैं मैदान से बाहर, क्रिकेट के नए नियम 28 सितम्बर से

वार्ता
अम्पायर अब क्रिकेटर को कर सकते हैं मैदान से बाहर, क्रिकेट के नए नियम 28 सितम्बर से
अम्पायर अब क्रिकेटर को कर सकते हैं मैदान से बाहर

क्रिकेट का खेल अब दुनियाभर में 28 सितम्बर से बदला हुआ नजर आयेगा जिसमें सभी प्रारूपों में व्यापक बदलावों के लिये नये नियमों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अपनी हरी झंडी दे दी है.

आईसीसी ने मंगलवार को इसकी घोषणा की.

नए नियम 28 सितम्बर से

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल के सभी प्रारूपों में होने वाले यह नये नियम अब 28 सितम्बर से लागू हो जाएंगे जिसमें अंपायर के पास उत्पाती खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेजने, बल्ले का आकार तय करने, कैच, रनआउट और डीआरएस से जुड़े कई नियम इसमें शामिल हैं.

वैश्विक संस्था ने बताया कि यह नये नियम दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश तथा पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच आगामी टेस्ट सीरीज से प्रभावी होंगे जबकि भारत और आस्ट्रेलिया के बीच चल रही मौजूदा वनडे सीरीज के बीच होने वाले मैच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आखिरी मुकाबले होंगे जो मौजूदा नियमों के तहत ही खेले जाएंगे. भारत की मेजबानी में हो रही पांच मैचों की वनडे सीरीज के तीन मैच संपन्न हो चुके हैं जबकि बाकी दो मैच 28 सितम्बर और एक अक्टूबर को बेंगलुरू तथा नागपुर में होने हैं. 

आईसीसी ने अपने अधिकतर बदलाव मैरिलबोर्न क्रिकेट क्लब के नये कोड ऑफ लॉ के आधार पर दिये हैं जिसे इसी वर्ष के शुरू में लागू किया गया था. आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्यॉफ एर्लाडाइस ने कहा कि आईसीसी ने अपने खेल के प्रारूप में जो बदलाव किये हैं वह मुख्य रूप से एमसीसी के नये क्रिकेट नियमों का परिणाम है.

उन्होंने कहा कि हमने अंपायरों के साथ वर्कशॉप की है जो हाल ही में संपन्न हुई है. हमने यह सुनिश्चित किया है कि वे सभी नियमों को अच्छे ढंग से समझ जाएं और अब हम क्रिकेट के नये नियमों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैदान में लागू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. क्रिकेट में गेंद और बल्ले के बीच संतुलन बैठाने के उद्देश्य से जो अहम नियम अब लागू होगा वह बल्ले के आकार को सुनिश्चित करना है.

इसी के साथ अब बल्लेबाजों को 400 एमएम से अधिक चौड़े और 67एमएम से अधिक गहनता वाले बल्लों के उपयोगी की अनुमति नहीं होगी. एक अहम नियम अंपायरों को उत्पाती खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेजने का अधिकार भी है. फुटबॉल में येलो और रेड कार्ड दिखाकर अनुशासहीन या नियम उल्लंघन करने वाले खिलाड़ियों को रेफरी द्वारा बाहर भेजे जाने की तर्ज पर ही अब क्रिकेट में भी यह नियम लागू होने जा रहा है.

28 सितम्बर से बदलने वाले नये नियम
► उत्पाती खिलाड़ी को मैदान से अस्थायी या स्थायी तौर पर बाहर किया जाएगा
► मैदान से बाहर किये जाने की स्थिति में विपक्षी टीम को मिलेगा पेनाल्टी रन
► पगबाधा के लिए डीआरएस गंवाने पर भी टीमों के पास फिर से इसे मांगने का होगा अधिकार
► यदि बल्ला क्रीज में एक बार पहुंच जाता है और फिर यदि गेंद स्टम्पस से टकराती है और यदि बल्ला हवा में उठ भी जाता है तो रन आउट नहीं होगा
► क्षेत्ररक्षक के लिए जरूरी होगा कि गेंद को हवा में लपकें तो वह बाउंड्री के भीतर हो, अन्यथा बल्लेबाज को रन दे दिया जाएगा
► यदि गेंद फील्डर या विकेटकीपर के हेलमेट से उछलकर भी लगी हो तो बल्लेबाज को स्टम्प, रन आउट या कैच आउट दे दिया जाएगा
► बल्लेबाजी के दौरान अब बल्ले का आकार 400 एमएम से अधिक चौड़ा और 67 एमएम से अधिक गहनता वाला नहीं होना चाहिए



 
loading...

ताज़ा ख़बरें


 

 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
There is no gallery


 

 

Facebook

Twitter

Youtube

RSS

Spacer