Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

14 Aug 2020 06:37:44 PM IST
Last Updated : 14 Aug 2020 06:46:06 PM IST

लोकतंत्र और संविधान की मजबूती के लिए एकजुट हो : कमल नाथ

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ (फाइल फोटो)

कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि लोकतंत्र और संविधान को मजबूत करने के लिये आज सभी लोगों को एकजुट होना होगा।

उन्होंने कहा कि आज जरूरत इस बात की है कि आमजन सच्चाई को पहचानें और सच्चाई का साथ देने का संकल्प लें। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर सोशल मीडिया के जरिए प्रदेशवासियों को संबोधित करते हुए कमल नाथ ने कांग्रेस सरकार के कार्यकाल की चर्चा करते हुए कहा, "17 दिसम्बर 2018 को शपथ और 20 मार्च 2020 को इस्तीफा देने के बीच मुख्यमंत्री के रूप में सिर्फ 15 माह ही काम करने का समय मिला। इतने अल्प समय में उनकी सरकार ने बड़े फैसले लिए, इसमें सबसे महत्वपूर्ण प्रदेश के 27 लाख किसानों का कर्ज पहले और दूसरे चरण में माफ किया। तीसरे चरण में 1 जून 2020 से लगभग 5 लाख किसानों की कर्ज माफी का प्रावधान किया गया था।"

कांग्रेस की तत्कालीन प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए किए गए प्रयासों का ब्यौरा देते हुए कमलनाथ ने कहा, "प्रदेश के नौजवानों का भविष्य सुरक्षित रखने के लिये उद्योग जगत का निवेश के लिये विश्वास बनाने का प्रयास किया। मेरा मानना है कि निवेश तभी प्रोत्साहित होता है जब विश्वास का माहौल हो । निवेश बढ़ने से नौजवानों को रोजगार मिलता हैं और आर्थिक गतिविधियां बढ़ती है।"

उन्होंने आगे कहा कि मध्यप्रदेश की एक नई पहचान और प्रोफाइल बने इसके लिये एक नई शुरूआत की गई थी। प्रदेश की पहचान बन चुके माफिया और मिलावटखोर के खिलाफ मेरी सरकार ने सख्ती से अभियान चलाया।

पंद्रह माह की अपनी उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि आम उपभोक्ताओं को सौ रुपयों में सौ यूनिट बिजली, किसानों को सिंचाई पंप लगाने और बिजली कनेक्शन की राशि कम करने, कन्या विवाह की राशि बढाकर 51 हजार रुपए करने और बुजुर्गों की पेंशन राशि 300 रुपये से बढ़ाकर 600 रुपये करने का निर्णय लिया, जिसका लोगों को लाभ भी मिला है।

राज्य में गौ संरक्षण के लिए किए गए प्रयासों का ब्यौरा देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "गौमाता के संरक्षण और सुरक्षा के लिये पूरे प्रदेश में गौशालाओं के निर्माण की शुरूआत की गई। देश भर में सबसे ज्यादा गौशाला हमारे प्रदेश में बनी हैं। कर्मचारियों के हित में महंगाई भत्ता बढ़ाने और स्वास्थ्य बीमा जैसे निर्णय लिए गए।"

पूर्व मुख्यमंत्री ने कोरोना योद्धाओं द्वारा किए जा रहे कार्य की प्रशंसा की और उन्हें सेल्यूट भी किया।
 


Source:PTI, Other Agencies, Staff Reporters
आईएएनएस
भोपाल
 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 


फ़ोटो गैलरी

 

172.31.21.212