Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

03 Dec 2019 06:45:11 AM IST
Last Updated : 03 Dec 2019 06:47:24 AM IST

खेती-किसानी : खुशहाली की खातिर

आनंद किशोर
खेती-किसानी : खुशहाली की खातिर
खेती-किसानी : खुशहाली की खातिर

किसान की समस्याएं दिनोंदिन विकराल होती जा रही हैं। पूरे देश में बाढ़ तथा सुखाड़ ने भारी तबाही मचाई और जान-माल की व्यापक क्षति हुई परंतु फसल क्षति की भरपाई, इनपुट सहायता तथा बीमा का लाभ सभी पीड़ित किसानों तक नहीं पहुंच सका है।

पीड़ित किसानों की आत्महत्या का सिलसिला अभी भी जारी है। हाल में ही जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट से भी खुलासा हुआ है कि 2016 में हर माह 948 यानी रोजाना 31 किसानों ने खुदकुशी की। यह चिंता की बात है कि सरकार आखिरकार इतनी संवेदनहीन क्यों है?
एक अनुमान है कि 2014 के बाद 35 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। सरकारी रिपोर्ट आत्महत्या के आंकड़े छिपाती है। आंकड़े छिपाने हेतु उन्हें विभिन्न श्रेणियों में विभाजित कर दिया गया है यानी डेटा काउंटिंग का तरीका बदल दिया गया है  जैसे किसानों की आत्महत्या के आंकड़ों को बटाईदार, मजदूर तथा अन्य श्रेणी में विभक्त कर दिया गया ताकि किसानों की आत्महत्या संबंधी आंकड़े कम दिखें। आत्महत्या का मूल कारण बाढ़-सुखाड़ से फसल की बर्बादी, उपज का लाभकारी दाम नहीं मिलना, ऋणजाल में फंसते जाना तथा भविष्य की खेती के संकट के साथ उत्पादन के साधनों तथा घरेलू उपयोग की सामग्री की बढ़ती लागत भी है। सरकार स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसा के आलोक में ड्योढ़ा मूल्य देने की बात तो दूर उस पर चर्चा तक नहीं कराना चाहती।

दूसरी ओर, सरकार द्वारा तय एमएसपी पर भी कृषि उत्पादों की खरीद नहीं होती, सरकारी खरीद किसानों के साथ मजाक बनी हुई है। किसान कृषि  की जरूरतों को पूरा करने के लिए बिचौलियों के हाथों अपना उत्पाद औने-पौने भाव पर बेचने को विवश है। इन परिस्थितियों में किसान घाटे की खेती करने को मजबूर है क्योंकि उसके जीवनयापन का कोई दूसरा आधार नहीं है। नोटबंदी ने भी किसानों को बहुत परेशान किया। आज बैंक किसानों के बदले पूंजीपतियों की ओर मुखातिब हैं। किसानों के ऋणमुक्ति की बात नहीं होती, ऋणमुक्ति के विरोध में सारे अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ तथा ब्यूरोक्रेसी एकजुट खड़े हो जाते हैं, जबकि किसानों  से  छोटे ऋण की वसूली के लिए कानूनी कार्रवाई के लिए सरकार खड़ी रहती है। उद्योगपतियों के ऋण एनपीए हो रहे हैं तथा कुछ लोग बैंकों से हजारों करोड़ लेकर फरार हो चुके हैं। बावजूद उद्योगपतियों को पुन: ऋण उपलव्ध कराने के लिए सरकार बैंकों को पुनर्वित्त की सुविधा प्रदान दे रही है।
किसान संगठनों ने ‘ऋणमुक्ति तथा ड्योढ़ा दाम’, दोनों मुद्दों के साथ अन्य समस्याओं जैसे भूमि अधिग्रहण कानून, 2013 पर सख्ती से अमल करने, वन कानून के तहत आदिवासियों के अधिकारों की सुरक्षा देने तथा विस्थापन  पर रोक लगाने, पुनर्वास तथा नदी जल प्रबंधन जैसे महत्त्वपूर्ण साधनों का विनाश रोकने तथा सिंचाई की व्यवस्था, सभी ग्रामीणों को दस हजार रुपये मासिक पेंशन तय करने, मुक्त  व्यापार  संधियों से खेती को मुक्त  रखने, खेतिहर मजदूर तथा बटाईदार किसानों के हक में समग्र कानून बनाने,फसल बीमा तथा आपदा मुआवजे की त्वरित भुगतान प्रकिया में सुधार, जम्मू-कश्मीर के किसानों के नुकसान  की भरपाई  करने, पराली  तथा पत्ती के उपयोग  के लिए किसानों  को सहयोग  देने तथा कॉरपोरेट  लूट के  खिलाफ तथा गन्ना को वाजिब मूल्य, गन्ना मूल्य  के बकाये के भुगतान, तटबंधों से विनाश सहित अन्य  ज्वलंत  सवालों  पर व्यापक  चर्चा कर उन्हें एजेन्डा में जोड़कर गांवों से जुड़ने तथा किसान हित में आंदोलन तेज कर सरकार पर दबाव बनाने की  रणनीति  बनाई है।
हार्टकिल्चर पर भी केसीसी  देने तथा दूध, सब्जियों तथा हार्टकिल्चर का भी एमएसपी तय किये जाने की मांग की जा रही है। किसानों को आरसीईपी की तलवार खेती पर लटकने की चिंता है। खेती अभी प्रतियोगी नही है इसे पर्याप्त  सहयोग  की जरूरत  है अगर आरसीईपी को खेती से जोडा जायगा तो खेतिहरों का विनाश तय है। उधर, ‘किसान  सम्मान  योजना’ से भी किसानों को भ्रम टूट रहा है, किसान इसे अपर्याप्त तथा ‘ऊंट के मुंह में जीरा’ की तरह मान रहे है। कृषि आय दुगुनी करने की सरकारी घोषणा की दिशा में कुछ नहीं दिखता। लगता है यह घोषणा भी जुमला  बनकर रह जायेगा। अभी कुछ दिन पहले केन्द्र सरकार ने गन्ना  के  उचित एवं लाभकारी मूल्य तय करने के नाम पर एक रुपया नहीं बढ़ाया। राज्य सरकारें भी परामर्शी मूल्य नहीं बढ़ा रही है जबकि उर्वरक, कीटनाशक,मजदूरी तथा बिजली की दरों में वृद्धि  से उत्पादन  लागत बहुत बढ़ी है। समय रहते सरकार को  किसानों  की पीड़ा की समीक्षा  करनी चाहिए। केवल बातों से किसानों के मसले का हल नहीं होने वाला।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: प्रियंका चोपड़ा को मिला यूनिसेफ का डैनी काये मानवतावादी पुरस्कार

PICS: प्रियंका चोपड़ा को मिला यूनिसेफ का डैनी काये मानवतावादी पुरस्कार

PICS: रितिक रोशन बने सबसे सेक्सी एशियाई पुरुष

PICS: रितिक रोशन बने सबसे सेक्सी एशियाई पुरुष

शादी की पहली सालगिरह पर तिरुमाला मंदिर पहुंचे दीपिका-रणवीर, देखें तस्वीरें

शादी की पहली सालगिरह पर तिरुमाला मंदिर पहुंचे दीपिका-रणवीर, देखें तस्वीरें

अयोध्या में सामान्य माहौल, कार्तिक पूर्णिमा पर सरयू में स्नान के लिए पहुंच रहे श्रद्धालु

अयोध्या में सामान्य माहौल, कार्तिक पूर्णिमा पर सरयू में स्नान के लिए पहुंच रहे श्रद्धालु

PICS: जानें, वायु प्रदूषण के घातक प्रभावों से बचने के उपाय

PICS: जानें, वायु प्रदूषण के घातक प्रभावों से बचने के उपाय

'दबंग 3' में प्रीति जिंटा की एंट्री? सलमान संग पुलिस वर्दी में आईं नज़र

रामायण,महाभारत काल से ही छठ मनाने की रही है परंपरा

रामायण,महाभारत काल से ही छठ मनाने की रही है परंपरा

Birthday Special: अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थीं परिणीति चोपड़ा

Birthday Special: अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थीं परिणीति चोपड़ा

PICS: रणवीर, अर्जुन को भाया अनुष्का का

PICS: रणवीर, अर्जुन को भाया अनुष्का का 'बॉस' लुक

PICS:

PICS: 'बाला' के लिए यामी ने रीक्रिएट किया नीतू सिंह का 70 के दशक का लुक

ड्रीमगर्ल हु 71 वर्ष की

ड्रीमगर्ल हु 71 वर्ष की

मोदी ने जिनपिंग को उनके चेहरे की आकृति बना शॉल किया भेंट

मोदी ने जिनपिंग को उनके चेहरे की आकृति बना शॉल किया भेंट

PICS: ...जब महाबलीपुरम में मोदी बने

PICS: ...जब महाबलीपुरम में मोदी बने 'टूरिस्ट गाइड', जिनपिंग को कराई सैर

बिंदास अदाओं से सिने प्रेमियों को दीवाना बनाया रेखा ने

बिंदास अदाओं से सिने प्रेमियों को दीवाना बनाया रेखा ने

साइना की बायोपिक के लिए जमकर पसीना बहा रही हैं परिणीति, शेयर की ये तस्वीर

साइना की बायोपिक के लिए जमकर पसीना बहा रही हैं परिणीति, शेयर की ये तस्वीर

PICS: ...जब रक्षा मंत्री राजनाथ ने राफेल में भरी उड़ान

PICS: ...जब रक्षा मंत्री राजनाथ ने राफेल में भरी उड़ान

जब विनोद खन्ना को पिता से मिली धमकी

जब विनोद खन्ना को पिता से मिली धमकी

पटना में बाढ़ से हाहाकार, देखिए तस्वीरें

पटना में बाढ़ से हाहाकार, देखिए तस्वीरें

दमदार अभिनय से खास पहचान बनायी रणबीर ने

दमदार अभिनय से खास पहचान बनायी रणबीर ने

'Bigg Boss' के लिए इन सेलिब्रिटीज ने लिया ज्यादा पैसा!

'बिग बॉस 13’ का घर होगा पर्यावरण के अनुकूल, देखें First Look

बिंदास अंदाज से दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने, आज है जन्मदिन

बिंदास अंदाज से दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने, आज है जन्मदिन

Photos: जन्मदिन पर ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’, जंगल सफारी, बटरफ्लाई पार्क पहुंचे PM मोदी

Photos: जन्मदिन पर ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’, जंगल सफारी, बटरफ्लाई पार्क पहुंचे PM मोदी

पिंडदानियों के लिए सजधज कर तैयार

पिंडदानियों के लिए सजधज कर तैयार 'मोक्ष नगरी' गया

PICS: एप्पल ने आईफोन 11 मॉडल किया लांच, शुरुआती कीमत में हुई 50 डॉलर की कटौती

PICS: एप्पल ने आईफोन 11 मॉडल किया लांच, शुरुआती कीमत में हुई 50 डॉलर की कटौती

PICS:स्कूल में लोग डांस को लेकर उड़ाते थे मजाक: नोरा फतेही

PICS:स्कूल में लोग डांस को लेकर उड़ाते थे मजाक: नोरा फतेही

PICS: 19वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद भावुक हुए नडाल, जानें कैसे बने लाल बजरी के बादशाह

PICS: 19वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद भावुक हुए नडाल, जानें कैसे बने लाल बजरी के बादशाह

PICS: रवीना टंडन जल्द ही बनने वाली हैं नानी

PICS: रवीना टंडन जल्द ही बनने वाली हैं नानी

PICS: रैंप पर अचानक जब दीपिका करने लगीं डांस

PICS: रैंप पर अचानक जब दीपिका करने लगीं डांस

PICS: वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग -21 में भरी उड़ान

PICS: वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग -21 में भरी उड़ान

PICS: इतिहास रचकर बोलीं पीवी सिंधु -बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं, इस पल का इंतजार था

PICS: इतिहास रचकर बोलीं पीवी सिंधु -बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं, इस पल का इंतजार था

PICS: BJP के ‘थिंक टैंक’ थे अरुण जेटली

PICS: BJP के ‘थिंक टैंक’ थे अरुण जेटली


 

172.31.21.212