Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

15 Mar 2019 06:46:03 AM IST
Last Updated : 15 Mar 2019 06:48:37 AM IST

विश्लेषण : उन्मत्त राष्ट्रवाद और चुनाव

राजेंद्र शर्मा
विश्लेषण : उन्मत्त राष्ट्रवाद और चुनाव
विश्लेषण : उन्मत्त राष्ट्रवाद और चुनाव

पुलवामा की घटना से लेकर, चुनाव की तारीखों की घोषणा के बीच गुजरे तीन सप्ताह से कुछ ज्यादा के दौरान सत्ताधारी भाजपा ने जो कुछ कहा और किया है, उसके बाद इसमें किसी संदेह की गुंजाइश नहीं रह जाती है कि उसके हिसाब से उसके हाथ बाजी पलटने वाला मुद्दा लग गया है।

इसे तलवार और ढाल दोनों ही बनाकर, वह न सिर्फ मोदी राज की पांच साल की चौतरफा विफलताओं के लिए विपक्ष के हमलों से, अपना बचाव कर सकती है बल्कि अपने विरोधियों को बचाव पर भी डाल सकती है।
इसकी शुरुआत तो सीआरपीएफ जवानों की शहादत और अंत्येष्टियों का, सत्ताधारी भाजपा व संघ परिवार और उसके वफादार मीडिया द्वारा आतंकवाद और पाकिस्तान के विरोध के नाम पर, उन्माद जगाने के लिए इस्तेमाल किए जाने से ही हो चुकी थी। और पुलवामा के आतंकी हमले के जवाब के तौर पर, सीमा पार पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत में बालाकोट के जैश-ए-मोहम्मद का शिविर माने जाने वाले परिसर पर हवाई हमले किए जाने के बाद तो उन्मत्त राष्ट्रवादी दुहाई के सहारे चुनाव की वैतरणी पार करने की सत्ताधारी पार्टी की कोशिश, अपने पूरे कद में सामने आ गई। बेशक, यह कोई संयोग ही नहीं था कि पुलवामा पर हमले के बाद गुजरे तीन हफ्तों में नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार और पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं ने, अपने चुनाव-केंद्रित सरकारी-गैरसरकारी कार्यक्रमों का सिलसिला ज्यों का त्यों जारी रखा था, जबकि उनके विरोधी कई दिनों तक राजनीतिक आयोजनों से बचते रहे थे। सभी ने देखा है कि किस तरह इन कार्यक्रमों का, गाल-बजाऊ और छाती ठोकू आतंकवाद/ पाकिस्तान विरोध के प्रदर्शनों के जरिए, खासतौर पर मोदी की ‘हिम्मतवर और फैसलाकुन’ प्रधानमंत्री की छवि बनाने के लिए खुलकर इस्तेमाल किया जा रहा था।

पाकिस्तान की ओर से जवाबी कार्रवाई और नष्ट हुए भारतीय मिग विमान के पायलट, अभिनंदन की वापसी के बाद तो, प्रधानमंत्री और भाजपा ने, बालाकोट कार्रवाई और अभिनंदन के नाम को, सभाओं से लेकर पोस्टरों आदि तक में और सीधे-सीधे अपने कारनामे के तौर पर जोर-शोर से भुनाना शुरू कर दिया था। पुलवामा की घटना के दूसरे-तीसरे दिन से ही भाजपा अध्यक्ष, अमित शाह ने अपनी पार्टी की सभाओं में इसके दावे शुरू कर दिए थे कि देश में चूंकि अब पहले वालों की नहीं, मोदी की सरकार है, पुलवामा का पूरा बदला लिया जाएगा! उधर, खुद प्रधानमंत्री ने चुरू की सभा से ही, जहां से राजनीतिक सभाओं के मंच पर पृष्ठभूमि में शहीद जवानों की तस्वीरें लगाए जाने का चलन शुरू हुआ, बदले की भाषा का सिलसिला चालू कर दिया था। इस सिलसिले को बालाकोट की कार्रवाई और अभिनंदन की वापसी के बाद, अपने गृह प्रदेश में अहमदाबाद के अपने संबोधन में उन्होंने ‘घर में घुसकर मारने’, ‘सात पताल से निकालकर’ मारने आदि के सिद्धांत में अपने यकीन और ‘ज्यादा इंतजार नहीं करने’ अपने मिजाज का बखान करने तक पहुंचा दिया। यह पूरे मामले को, एक ‘निजी बदले’ की मुद्राओं में ही बदल देना था। और गाजियाबाद की सभा में प्रधानमंत्री ने ‘मोदी मार गया’, ‘मोदी मारकर चला गया’ के जुमलों से, इसे शुद्ध रूप से ‘निजी वीरता’ के दावों तक पहुंचा दिया!
अचरज नहीं कि इसी प्रक्रिया के हिस्से के तौर पर, पुलवामा की घटना के बाद के दौर में ही ‘नामुमकिन अब मुमकिन है’ के मोदी राज के सरकारी विज्ञापन अभियान के नारे को, भाजपा के ‘मोदी है तो मुमकिन है’ के नारे तक पहुंचा दिया गया। मोदी राज के लिए उग्र-राष्ट्रवादी छवि गढ़ने के इसी अभियान के दूसरे पहलू के तौर पर, विपक्ष को अगर राष्ट्रविरोधी नहीं तो कमतर राष्ट्रवादी साबित करने की कोशिश तो जरूर की जा रही थी। यह कहना गलत नहीं होगा कि फर्जी राष्ट्रवाद के इस हल्ले से, विपक्ष भी कुछ समय तक तो हतप्रभ ही बना रहा था, जिसने संघ-भाजपा के इस हथियार को और मारक बना दिया। फिर भी, उन्मत्त राष्ट्रवादी दुहाई की आड़ में, चुनावी बढ़त बनाने का यह खेल इतनी नंगई से खेला जा रहा था कि जल्द ही इसके खिलाफ चारों तरफ से आवाजें उठने लगीं और विपक्ष की भी मूच्र्छा टूटी।
अचरज नहीं कि खुद कई वरिष्ठ पूर्व-सैनिकों ने, सेना के नाम और उसकी कार्रवाई के प्रत्यक्ष राजनीतिक इस्तेमाल पर ही नहीं, सुरक्षा की चिंता के नाम पर युद्ध की पुकारों पर भी अपनी बेचैनी जतानी शुरू कर दी। ये पुकारें तो सिर्फ सुरक्षा के मुद्दों का राजनीतिक इस्तेमाल करने की कोशिश करती हैं और इस तरह सुरक्षा के मुद्दों पर जो सर्वानुमति रही भी है उसे भी तोड़कर, राष्ट्र को और असुरक्षित बनाने का ही काम करती हैं। बेशक, इसमें असुरक्षा का अनुपातहीन हौवा खड़ा कर, सुरक्षा बढ़ाने के वास्तविक प्रयासों का रास्ता रोकना या उन्हें मुश्किल बना देना भी शामिल है। कश्मीर, इसका जीता-जागता उदाहरण है कि कैसे सुरक्षा-सुरक्षा का जाप करने वाली मोदी सरकार ने, पांच साल में हालात को तेजी से बिगाड़कर, देश को असुरक्षित ही बनाया है। वायु सेना की जरूरत से बहुत कम लड़ाकू विमान खरीदे जाने और देश की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल से विमान बनाने का मौका छीनने वाले रफाल सौदे से लेकर, सुरक्षा के लिए वित्तीय संसाधनों की कमी पर मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाली संसदीय कमेटी की रिपोर्ट तक, इसके साक्ष्यों की भरमार है कि मोदी राज में देश पहले से ज्यादा असुरक्षित ही हुआ है। देश की जनता भी अपने-अपने तरीके से इस सचाई को समझ रही है और सारे आसार इसी के हैं कि उन्मत्त राष्ट्रवाद का यह चुनावी हथियार, टीन की तलवार ही साबित होने जा रहा है। चुनाव की तारीखों के  ऐलान से ऐन पहले आए चुनाव-पूर्व सव्रेक्षणों में, हफ्तों तक मैदान में लगभग अकेले ही इस तलवार को भांजते रहने के बावजूद, एनडीए का बहुमत के आंकड़े से पीछे ही छूटते नजर आना, इसी का महत्त्वपूर्ण संकेतक है।
सी वोटर के सव्रे के अनुसार भी, एनडीए के 264 का आंकड़ा पार करने की संभावना नहीं है। याद रहे कि सीवोटर के ही जनवरी के सव्रे की तुलना में, राष्ट्रवाद के सारे दोहन के बावजूद, मार्च के सव्रे में एनडीए के खाते में सिर्फ 31 सीट की बढ़ोतरी दिखाई देती है और इसमें से भी ज्यादातर बढ़ोतरी, इसी दौरान महाराष्ट्र व तमिलनाडु में भाजपा द्वारा किए गए गठजोड़ों का ही नतीजा है। जैसे-जैसे जनता के वास्तविक हितों से जुड़े मुद्दे अपना असर दिखाएंगे, वैसे-वैसे फर्जी राष्ट्रवाद की तलवार और खुट्टल होती जाएगी। टीन की ही साबित होगी संघ परिवार की उन्मत्त राष्ट्रवाद की तलवार।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर

कार्टून कोना

कार्टून कोना

PICS: देश भर में महाशिवरात्रि की धूम, शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु

PICS: देश भर में महाशिवरात्रि की धूम, शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु

PICS: ओलंपियन पीवी सिंधु ने लड़ाकू विमान तेजस में भरी उड़ान, बनी पहली महिला

PICS: ओलंपियन पीवी सिंधु ने लड़ाकू विमान तेजस में भरी उड़ान, बनी पहली महिला

PICS: पपराजी ने बेटे तैमूर की ली तस्वीर तो मम्मी करीना ने दी ये सीख...

PICS: पपराजी ने बेटे तैमूर की ली तस्वीर तो मम्मी करीना ने दी ये सीख...

सहारा इंडिया परिवार ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलि

सहारा इंडिया परिवार ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलि

PICS:टेनिस स्टार जोकोविक और जिम्नास्ट सिमोन बाइल्स ने जीता लॉरियस स्पोर्ट्स अवार्ड

PICS:टेनिस स्टार जोकोविक और जिम्नास्ट सिमोन बाइल्स ने जीता लॉरियस स्पोर्ट्स अवार्ड

कुंभ मेला : प्रयाग में आज माघी पूर्णिमा का स्नान, श्रद्धालुओं का उमड़ा रेला

कुंभ मेला : प्रयाग में आज माघी पूर्णिमा का स्नान, श्रद्धालुओं का उमड़ा रेला

मंगलवार, 19 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

मंगलवार, 19 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: शुरू हुई ‘वंदे भारत’ एक्सप्रेस, जानें कितना चुकाना होगा किराया

PICS: शुरू हुई ‘वंदे भारत’ एक्सप्रेस, जानें कितना चुकाना होगा किराया

शुक्रवार, 15 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

शुक्रवार, 15 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

आतंकी हमले से दहला कश्मीर, CRPF के 42 जवान शहीद

आतंकी हमले से दहला कश्मीर, CRPF के 42 जवान शहीद

PICS: Valentine Day पर दिल्ली-एनसीआर में बारिश, देखें तस्वीरें

PICS: Valentine Day पर दिल्ली-एनसीआर में बारिश, देखें तस्वीरें

Valentine Day: प्यार जताने का नायाब तरीका...

Valentine Day: प्यार जताने का नायाब तरीका...

बृहस्पतिवार, 14 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 14 फरवरी, 2019 का राशिफल/पंचांग

Happy Kiss Day: किस डे को बनाएं स्पेशल इन Gif इमेज और वॉलपेपर के जरिए...

Happy Kiss Day: किस डे को बनाएं स्पेशल इन Gif इमेज और वॉलपेपर के जरिए...

माधुरी ने याद किया

माधुरी ने याद किया 'तेजाब' के बाद का वाकया

happy Hug day: लव पार्टनर को भेजें प्यारे वालपेपर्स, Gif इमेजस

happy Hug day: लव पार्टनर को भेजें प्यारे वालपेपर्स, Gif इमेजस

देखिए, रजनीकांत की बेटी सौंदर्या की शादी की तस्वीरें

देखिए, रजनीकांत की बेटी सौंदर्या की शादी की तस्वीरें

PICS: शादी के बाद कुछ ऐसे होती है दीपिका-रणवीर सिंह के दिन की शुरुआत

PICS: शादी के बाद कुछ ऐसे होती है दीपिका-रणवीर सिंह के दिन की शुरुआत

Happy promise Day 2019: प्रॉमिस डे को और बनाएं खास, भेजें ये वालपेपर और फोटो

Happy promise Day 2019: प्रॉमिस डे को और बनाएं खास, भेजें ये वालपेपर और फोटो

10 से 16 फरवरी का साप्ताहिक राशिफल

10 से 16 फरवरी का साप्ताहिक राशिफल

रेवती नक्षत्र, साध्य योग में मनेगी बसंत पंचमी

रेवती नक्षत्र, साध्य योग में मनेगी बसंत पंचमी

Chocolate Day: इस खास मौके पर वॉलपेपर, इमेज और एनिमेटेड जीआईएफ से करें अपने प्यार का इजहार

Chocolate Day: इस खास मौके पर वॉलपेपर, इमेज और एनिमेटेड जीआईएफ से करें अपने प्यार का इजहार


 

172.31.21.212