Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

15 Mar 2019 06:43:35 AM IST
Last Updated : 15 Mar 2019 06:45:51 AM IST

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस : मानव सभ्यता का संकट

सन्नी कुमार

हर नई प्रौद्योगिकी जीवन को बेहतर बनाने के जितने दावों के साथ मानव जीवन में प्रवेश करती है, उससे जुड़ी आशंकाएं भी उतनी ही मजबूत होती हैं।

‘आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस’ (एआई)  की प्रौद्योगिकी भी इस सिद्धांत का अपवाद नहीं है बल्कि कई मायनों में यह पूर्व की तुलना में अधिक आशंकामूलक है। दरअसल, पूर्व की लभभग सभी वैज्ञानिक अविष्कारों को उसकी सैद्धांतिकी में कमोबेश अच्छा माना जाता रहा है और चिंता की मूल बात उसके ‘व्यावहारिक अनुप्रयोग’ से जुड़ी होती थी। उदाहरण के लिए परमाणु से विद्युत भी बनाया जा सकता है और उसका उपयोग कर विध्वंसक बम भी निर्मिंत किया जा सकता है। इसमें चिह्नित करने लायक बात यह है कि इसके दुरु पयोग का दायित्व ‘मानव समुदाय’ पर आता है न कि यह अपने आप में ही बुरी खोज थी। पर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस इन दोनों ही मानकों पर अलग है।

सबसे पहले अगर उन दावों की पड़ताल करें, जो आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के औचित्य को सही ठहराते हैं तो वे निश्चित ही उत्साहजनक हैं। सबसे प्रमुख खासियत तो यही है कि ये ‘त्रुटिरहित’ होते हैं। इस कौशल का उपयोग जटिल चिकित्सकीय उपचार और अंतरिक्ष अन्वेषण में किया जा सकता है, जो अन्यथा मानव द्वारा एकदम सटीकता से कर पाना संभव नहीं है। इसी प्रकार इसका उपयोग वाहन चालक के रूप में किया जा सकता है और चूंकि इसका एलगोरिद्म ट्रैफिक नियमों से संचालित होता है इसलिए वाहन दुर्घटना की संभावना शून्य रहेगी। फिर, एकदम जोखिम वाले कार्य जैसे-खदान में खनन जैसे कार्यों के लिए प्रशिक्षित रोबोट का उपयोग किया जा सकता है ताकि मानव को अपनी जान जोखिम में न डालनी पड़े। इसके अतिरिक्त शिक्षा क्षेत्र से लेकर रोजमर्रा के जीवन की ढेर सारी जरूरतों में भी इसका प्रयोग किया जा सकेगा।
सबसे बढ़कर इसकी खूबी यह है कि इससे वैसे सुदूर क्षेत्र जहां शिक्षा या चिकित्सा की सुविधाएं ‘प्रत्यक्ष’ रूप से प्रेषित कर पाना दुष्कर है, उस कमी को ये नई प्रौद्योगिकी आसानी से भर देती है। कह सकते हैं कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कैसे मानव समुदाय की संरचना को ही आमूलचूल ढंग से परिवर्तित करने में सक्षम है? यहां इस्रइली इतिहासकार ‘युवल नोवा हरारी’ की ‘ट्वेंटीवन लेसंस फॉर ट्वेंटी फस्र्ट सेंचुरी’ नामक पुस्तक का उल्लेख प्रासंगिक होगा, जिसमें विस्तार से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के खतरे की पड़ताल की गई है। दरअसल, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस अपने स्वरूप में मानव समुदाय की सहभागी नहीं बल्कि कई बार एक ‘विकल्प’ के रूप में भी नजर आती है। औद्योगिक क्रांति के बाद जब मशीनों का प्रयोग पहली बार बड़े पैमाने पर शुरू हुआ तो उसने सिर्फ  मानव ‘श्रम’ को विस्थापित किया किंतु मानव मस्तिष्क का महत्त्व अपनी जगह बना रहा। फिर वो मशीनें अपने संचालन के लिए मानव पर ही आश्रित थीं। किंतु, एआई न केवल अपने आप संचालित होंगी बल्कि यह मानव मस्तिष्क को भी विस्थापित करने में सक्षम होंगी क्योंकि यह बुद्धिमत्ता से युक्त मशीन है। इस तरह यह मानव सभ्यता के विकास के मूल कारक‘मस्तिष्क’ को ही चुनौती देता है। दूसरे, औद्योगिक क्रांति के बाद जो संरचना निर्मिंत हुई, वह कितनी भी शोषणपूर्ण क्यों न हो किंतु वह पूंजी और श्रमिक के सहयोग पर ही टिकी थी। सम्प्रति हमारे पास इस एआई संरचना से लड़ने का कोई वैकल्पिक मॉडल नहीं है क्योंकि मनुष्य का ‘अप्रासंगिक’ हो जाना नितांत ही नई परिघटना है। तीसरे, पूर्व के प्रौद्योगिकी विकास के उलट इस पर सत्ता का न्यूनतम नियंत्रण है। ऐसे में इस प्रौद्योगिकी को नियंत्रित कर पाना कठिन है। चौथा, एआई ‘मौलिकता’ की मान्यता को भी सिर के बल खड़ा कर रहा है।
अभी तक यह माना जाता रहा है कि मशीन कुछ भी कर ले किंतु मौलिकता पर मानव समुदाय का ही अधिकार है। एआई इसे ‘मिथक’ सिद्ध करने में सक्षम है। पांचवें बिंदु के रूप में एआई के ‘सकल खतरे’ का उल्लेख आवश्यक होगा। ऐसा होना बहुत सामान्य सी बात है कि एआई के एलगोरिद्म में कोई तकनीकी खराबी आ जाए फिर इससे संचालित वाहन और चिकित्सकीय उपचार के खतरे को वहन कर पाना मानव समुदाय के लिए संभव होगा? अर्थात एकल इकाई के रूप में भले ही एआई की चुनौती कम गंभीर प्रतीत होती हो किंतु इसका सकल नुकसान सभ्यता को नाश करने में भी समर्थ है। अंत में यह कहने में कोई संकोच नहीं कि अपनी तमाम खूबियों के बावजूद एआई जिस आवृत्ति से मानव सभ्यता की बुनियाद को ही चुनौती देती है, उसका मानव जीवन में प्रवेश एक गंभीर परिघटना होगी।



 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: बॉलीवुड सितारों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

PICS: बॉलीवुड सितारों के लिए चुनाव का स्वाद रहा खट्टा-मीठा

वर्ल्ड कप: लंदन पहुंची विराट ब्रिगेड, एक जैसी यूनीफॉर्म में नजर आई भारतीय टीम

वर्ल्ड कप: लंदन पहुंची विराट ब्रिगेड, एक जैसी यूनीफॉर्म में नजर आई भारतीय टीम

PICS: कान्स में सफेद टक्सीडो पहनकर

PICS: कान्स में सफेद टक्सीडो पहनकर 'बॉस लुक' में नजर आईं सोनम

PICS: 25 साल पहले आज ही के दिन सुष्मिता बनीं थीं मिस यूनिवर्स

PICS: 25 साल पहले आज ही के दिन सुष्मिता बनीं थीं मिस यूनिवर्स

PICS: Cannes में ऐश्वर्या ने गोल्डन मर्मेड लुक में बिखेरा जलवा

PICS: Cannes में ऐश्वर्या ने गोल्डन मर्मेड लुक में बिखेरा जलवा

PICS: Cannes में दीपिका के

PICS: Cannes में दीपिका के 'लाइम ग्रीन' लुक के मुरीद हुए रणवीर सिंह

PICS: पीएम मोदी का पहाड़ी परिधान बना आकर्षण का केंद्र

PICS: पीएम मोदी का पहाड़ी परिधान बना आकर्षण का केंद्र

Photos: Cannes में दीपिका पादुकोण के लुक ने जीता सबका दिल

Photos: Cannes में दीपिका पादुकोण के लुक ने जीता सबका दिल

PICS: Cannes में कंगना की कांजीवरम ने सबको लुभाया

PICS: Cannes में कंगना की कांजीवरम ने सबको लुभाया

Photos: प्रियंका चोपड़ा ने Cannes में किया अपना डेब्यू

Photos: प्रियंका चोपड़ा ने Cannes में किया अपना डेब्यू

अमित शाह के रोडशो में हिंसा, कई घायल

अमित शाह के रोडशो में हिंसा, कई घायल

IPL: मुंबई इंडियंस ने सड़कों पर निकाली चैंपियन परेड, खुली बस में ऐसे मनाया जश्न

IPL: मुंबई इंडियंस ने सड़कों पर निकाली चैंपियन परेड, खुली बस में ऐसे मनाया जश्न

PICS: ...जब सिंधिया और सिद्धू उतरे क्रिकेट की पिच पर

PICS: ...जब सिंधिया और सिद्धू उतरे क्रिकेट की पिच पर

PHOTOS: मेट गाला में अनोखे अंदाज में नजर आए प्रियंका, निक जोनस

PHOTOS: मेट गाला में अनोखे अंदाज में नजर आए प्रियंका, निक जोनस

PICS: गर्मियों में खूब पीएं पानी, नहीं लगेगी लू

PICS: गर्मियों में खूब पीएं पानी, नहीं लगेगी लू

PICS: माधुरी, मातोंडकर और रेखा समेत इन बॉलीवुड सितारों ने डाला वोट

PICS: माधुरी, मातोंडकर और रेखा समेत इन बॉलीवुड सितारों ने डाला वोट

PICS: मोदी फिर प्रधानमंत्री बने तो रचेंगे इतिहास

PICS: मोदी फिर प्रधानमंत्री बने तो रचेंगे इतिहास

PICS:

PICS: 'वीरू' के अंदाज में बोले धर्मेंद्र, हेमा को नहीं जिताया तो पानी की टंकी पर चढ़ जाऊंगा

PICS: चुनावी समर में चमकेंगे फिल्मी सितारे

PICS: चुनावी समर में चमकेंगे फिल्मी सितारे

PICS: कॉफी, चाय के बारे में सोचने से ही आ जाती है ताजगी

PICS: कॉफी, चाय के बारे में सोचने से ही आ जाती है ताजगी

31 मार्च से 6 अप्रैल तक का साप्ताहिक राशिफल

31 मार्च से 6 अप्रैल तक का साप्ताहिक राशिफल

शुक्रवार, 29 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

शुक्रवार, 29 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 28 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 28 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: रेड कार्पेट पर लाल साड़ी में दिखीं आलिया भट्ट

PICS: रेड कार्पेट पर लाल साड़ी में दिखीं आलिया भट्ट

बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बृहस्पतिवार, 21 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

श्रोताओं को खूब भाते है बॉलीवुड फिल्मों में फिल्माएं ये होली गीत

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

Holi Tips: खूब खेलें होली लेकिन जरा संभलकर

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

बुधवार, 20 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

PICS: होली के रंग में रंगा बाजार, बाजार में बढी रौनक

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

मंगलवार, 19 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

सोमवार, 18 मार्च, 2019 का राशिफल/पंचांग

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर

PICS: परिणीति चोपड़ा ने शेयर की ‘केसरी’ की ये नई तस्वीर


 

172.31.21.212