Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

22 Feb 2017 09:45:29 AM IST
Last Updated : 22 Feb 2017 09:59:19 AM IST

यूपी चुनाव: जब मुलायम सिंह यादव को मिली उनकी नामराशि वालों से चुनौती

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव (फाइल फोटो)

बड़ा नाम होना और उससे मिलता जुलता कोई अन्य नाम होना कभी परेशानी का सबब भी बन सकता है. कुछ ऐसा ही सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के साथ हुआ.

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के कई मौकों पर उन्हें अपनी नामराशि वाले उम्मीदवारों से चुनौती का सामना करना पड़ा.
 

वर्ष 1989:  
मुलायम को वर्ष 1989 में पहली बार मुलायम को अपनी वास्तविक मतदाता पहचान स्थापित करने के लिए पिता के नाम (सुघड़ सिंह) का सहारा लेना पड़ा था क्योंकि जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र से उन्हीं की नामराशि वाले व्यक्ति ने उन्हें चुनौती दी थी. यही हालात साल 1991 और साल 1993 के चुनाव में भी रहे.
   
मुलायम वर्ष 1967 में पहली बार विधायक बने थे. कुल मिलाकर वह आठ बार विधायक रहे.
   
चुनाव आयोग के आंकड़े देखें तो वर्ष 1989 में जनता दल ने मुलायम सिंह यादव पुत्र सुघड़ सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था. उनके मुकाबले एक अन्य मुलायम सिंह यादव (निर्दलीय) खड़े थे लेकिन उनके पिता का नाम पत्तीराम था.
   
मुलायम को उस समय 65 हजार 597 वोट मिले थे जबकि उनके नामराशि वाले प्रतिद्वंद्वी को मात्र 1032 वोट हासिल हुए थे.

वर्ष 1991:
यही हालात वर्ष 1991 में भी थे जब जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ कर मुलायम जसवंतनगर सीट से जीते. उन्हें 47 हजार 765 मत मिले जबकि उनके नामराशि वाले को केवल 328 वोट मिले.
   
इसी चुनाव में भी एक अन्य मुलायम सिंह नजर आये वो भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में. बरौली विधानसभा सीट से लड़े ये नये मुलायम 218 वोट ही हासिल कर पाये. मुलायम वर्ष 1993 के विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की तीन सीटों जसवंत नगर (इटावा), शिकोहाबाद (फिरोजाबाद) और निधौली कलां (एटा) से सपा के टिकट पर चुनाव लड़े और तीनों सीटों पर जीत गए.
   
इस समय तक सपा का गठन हो चुका था और राम मंदिर आंदोलन के बाद चुनाव हुए थे. यह अलग बात है कि तीनों विधानसभा सीटों पर मुलायम को अपनी नामराशि वाले व्यक्तियों से चुनौती का सामना करना पड़ा था.

जसवंत नगर (इटावा):
जसवंत नगर में मुलायम को 60 हजार 242 मत मिले जबकि उनकी नामराशि वाले निर्दलीय उम्मीदवार को केवल 192 मत हासिल हुए.


 

शिकोहाबाद (फिरोजाबाद)   
शिकोहाबाद में मुलायम को 55 हजार 249 मत हासिल हुए जबकि उनकी नामराशि वाले निर्दलीय प्रत्याशी को केवल 154 मत मिले. निधौलीकलां में मुलायम सिंह यादव को 41 हजार 683 वोट मिले जबकि उनकी नामराशि वाले निर्दलीय को मात्र 184 मत. बरौली सीट (अलीगढ़) से मुलायम सिंह सेहरा (निर्दलीय) को मात्र 164 मत मिले.
   
बात वर्ष 1985 चुनाव की करें तो मुलायम जसवंतनगर सीट से लोकदल के टिकट पर जीते. उनकी नामराशि वाले मुलायम औरैया से चुनाव लड़े लेकिन उन्हें केवल 292 वोट मिले.

मुलायम सिंह यादव वर्ष 1980 का विधानसभा चुनाव जसवंतनगर से हार गये. वह चौधरी चरण सिंह की अगुवाई वाली जनता दल (सेक्यूलर) से चुनाव लड़े थे. उनकी नामराशि वाले प्रतिद्वन्द्वी इंडियन नेशनल कांग्रेस (यू) के टिकट पर भर्थना से लडे थे और केवल 2367 वोट पा सके.
   
दिलचस्प बात यह है कि उत्तर प्रदेश की चुनावी राजनीति में मुलायम सिंह यादव के उतरने से पहले ही वर्ष 1951 में निर्दलीय मुलायम सिंह गुन्नौर उत्तर सीट से लड़े थे और उन्हें 2944 मत हासिल हुए थे.
   
मुलायम सिंह यादव वर्ष 2007 में गुन्नौर और भर्थना दोनों सीटों से लड़े और जीते भी. 1969 विधानसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव जसवंतनगर सीट पर दूसरे नंबर पर थे.
   
मुलायम सिंह यादव वर्ष 1974 में जसवंतनगर से भारतीय क्रान्ति दल के टिकट पर जीते और साल 1977 में इसी सीट से जनता पार्टी (जेएनपी) के टिकट पर विजयी हुए.

 


भाषा
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
कान्स 2022: दीपिका का रेड कार्पेट लुक

कान्स 2022: दीपिका का रेड कार्पेट लुक

केदारनाथ: बाबा केदार के खुले कपाट, उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

केदारनाथ: बाबा केदार के खुले कपाट, उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

युद्ध में खंडहर बना यूक्रेन

युद्ध में खंडहर बना यूक्रेन

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 29 पुरावशेष लौटाए, पीएम मोदी ने किया निरीक्षण, देखें तस्वीरें

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 29 पुरावशेष लौटाए, पीएम मोदी ने किया निरीक्षण, देखें तस्वीरें

रूस यूक्रेन युद्ध में तबाही

रूस यूक्रेन युद्ध में तबाही

यूरोप एक बार फिर युद्ध की दहलीज पर

यूरोप एक बार फिर युद्ध की दहलीज पर

नहीं रहीं भारत की स्वर कोकिला

नहीं रहीं भारत की स्वर कोकिला

73वां गणतंत्र दिवस समारोह : गणतंत्र दिवस पर देखें राजपथ का भव्य नजारा

73वां गणतंत्र दिवस समारोह : गणतंत्र दिवस पर देखें राजपथ का भव्य नजारा

तस्वीरों में देखें- कहीं पोंगल, कहीं खिचड़ी तो कहीं है मकर संक्रांति

तस्वीरों में देखें- कहीं पोंगल, कहीं खिचड़ी तो कहीं है मकर संक्रांति

दिल्ली में लगा 55 घंटे का कर्फ्यू, सड़कें हुईं वीरान

दिल्ली में लगा 55 घंटे का कर्फ्यू, सड़कें हुईं वीरान

आज से 15 से 18 साल के बच्चों को टीकाकरण, देखिए देशभर से तस्वीरें

आज से 15 से 18 साल के बच्चों को टीकाकरण, देखिए देशभर से तस्वीरें

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़

प्रयागराज में पीएम मोदी

प्रयागराज में पीएम मोदी

ड्रोन मेगा शो में दिखी अमर शहीद नायकों की गाथा

ड्रोन मेगा शो में दिखी अमर शहीद नायकों की गाथा

कैटरीना-विक्की ने शेयर की खूबसूरत तस्वीरें

कैटरीना-विक्की ने शेयर की खूबसूरत तस्वीरें

सीएम योगी संग आधी रात

सीएम योगी संग आधी रात 'काशी दर्शन' करने निकले PM मोदी

इतिहास के नाम काशीधाम

इतिहास के नाम काशीधाम

शुरू हुई किसानों की घर वापसी

शुरू हुई किसानों की घर वापसी

हेलीकॉप्टर दुर्घटना : योद्धाओं के शोक में पूरा देश

हेलीकॉप्टर दुर्घटना : योद्धाओं के शोक में पूरा देश

तेजस्वी ने रचाई एलेक्सिस से शादी

तेजस्वी ने रचाई एलेक्सिस से शादी

कैटरीना एवं विक्की बंधे बंधन में

कैटरीना एवं विक्की बंधे बंधन में

भारत-रूस की अटूट दोस्ती

भारत-रूस की अटूट दोस्ती

दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का अनावरण

दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का अनावरण

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की 'लव स्टोरी' का ट्रेलर जारी

भारत जीता ओवल टेस्ट

भारत जीता ओवल टेस्ट

दिल्ली हुई पानी-पानी

दिल्ली हुई पानी-पानी

स्कूल चलें हम

स्कूल चलें हम

शहनाज का बोल्ड अंदाज

शहनाज का बोल्ड अंदाज

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी


 

172.31.21.212