Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

23 Nov 2019 04:23:07 PM IST
Last Updated : 23 Nov 2019 04:33:14 PM IST

महाराष्ट्र: देवेन्द्र फडणवीस एक परिचय, ऐसे बनाया महाराष्ट्र की राजनीति में दबदबा

भाषा
मुंबई
महाराष्ट्र: देवेन्द्र फडणवीस एक परिचय, ऐसे बनाया महाराष्ट्र की राजनीति में दबदबा
देवेन्द्र फडणवीस (फाइल फोटो)

देवेन्द्र फडणवीस (49) शनिवार की सुबह जब दूसरी बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे थे, उस समय राजभवन में ज्यादा लोग मौजूद नहीं थे।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कई दिनों से चल रहे जोड़-घटाव और कल देर रात तक जारी गतिविधियों के बीच शनिवार की सुबह वह दूसरी बार मुख्यमंत्री पद पर आसीन हो गए।

फडणवीस 2014 में जब पहली बार मुख्यमंत्री बने थे तो दक्षिण मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में एक भव्य शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया था। उसमें उनकी मां, पत्नी, बेटी और भाजपा के हजारों कार्यकर्ता एवं समर्थक मौजूद थे। निवार की सुबह का यह समारोह आनन-फानन आयोजित हुआ उसमें 2014 जैसी भव्यता नहीं थी। कांग्रेस ने इसे गुपचुप तरीके से आयोजित किया गया समारोह बताया।         

महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनावों के परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित किए जाने के बाद फडणवीस महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने वाले थे, लेकिन सहयोगी दल शिवसेना ने उनकी मंशाओं पर पानी फेर दिया।         

नागपुर में जन्मे भाजपा नेता ऐसे पहले गैर कांग्रेस मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने राज्य में दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है और केवल दूसरे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया है।                  

288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 164 सीटों पर चुनाव लड़कर 105 पर जीत दर्ज की वहीं शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत दर्ज की लेकिन शिवसेना द्वारा मुख्यमंत्री पद आधे- आधे समय के लिए बांटे जाने की मांग पर अड़ने के कारण गठबंधन टूट गया।         

फडणवीस नागपुर विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक हैं और बिजनेस मैनेजमेंट में उनके पास परास्नातक की डिग्री है। उनका जन्म और पालन-पोषण नागपुर में हुआ जहां आरएसएस का मुख्यालय है। उनके पिता गंगाधर फडणवीस आरएसएस से जुड़े हुए थे और इसलिए वह भी बचपन से ही आरएसएस की विचारधारा से प्रभावित रहे। 

उन्होंने अपने राजनीतिक कॅरियर की शुरुआत 1990 के दशक में की। वह 1992 तथा 1997 में दो बार नागपुर नगर निगम से चुनाव जीते। वह नागपुर के सबसे युवा महापौर भी थे और भारत के दूसरे सबसे युवा महापौर रहे।         

फडणवीस 1999 से ही राज्य विधानसभा में नागपुर दक्षिण पश्चिम सीट का प्रतिनिधित्व करते रहे हैं। आरएसएस के साथ जुड़ाव के कारण ही वह महाराष्ट्र की राजनीति में कठिन डगर को पार कर सके।         

मुख्यमंत्री के तौर पर फडणवीस का पहला कार्यकाल शांतिपूर्ण रहा। उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पूरी छूट दी।         

लोकसभा चुनावों और राज्य विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत से फडणवीस ने अपनी दक्षता साबित की। उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल और हषर्वर्धन पाटिल के अलावा राकांपा के कई वरिष्ठ नेताओं को भाजपा में शामिल कराया और चुनावों से पहले विपक्षी खेमे को और कमजोर बना दिया।         

विधानसभा चुनावों में राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीट हासिल हुई।         

राजनीतिक पर्यवेक्षक फडणवीस को धैयवान श्रोता और विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक जानकारी रखने वाले ‘‘काम करने वाले व्यक्ति’’ के तौर पर जानते हैं। उन्हें ऐसे नेता के तौर पर भी जाना जाता है जो लोकप्रिय हैं।         

उनके पहले पांच वर्ष के कार्यकाल में मराठा आरक्षण, जलयुक्त शिवार जल संरक्षण योजना, नागपुर-मुंबई नॉलेज कोरीडोर, कृषि ऋण माफी और मेट्रो रेल नेटवर्क के विस्तार जैसे कई काम हुए।         

मराठा आरक्षण आंदोलन से उनकी सरकार के अस्तित्व पर खतरा आ गया लेकिन फडणवीस ने प्रदर्शनकारियों से संपर्क साधा और राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन किया ताकि नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की मांग को पूरा किया जा सके और कानून लाया जा सके।    इसी तरह कृषि कर्ज माफी की रकम बैंकों को देने के बजाए उन्होंने सुनिश्चित किया कि धन सीधे किसानों के खाते में भेजा जाए।         

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में लगातार सरकार पर हमला करने के कारण मुंबई निकाय चुनाव से पहले दोनों सहयोगी दलों के संबंध टूट के कगार पर पहुंच गए थे जिसे देखते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने सरकार के गिरने का अनुमान व्यक्त किया था।         

फडणवीस ने पिछले महीने दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘राजनीतिक हकीकत से तय होता है कि किस तरह के निर्णय करने की जरूरत है। धैर्य रखना जरूरी है।’’


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त


 

172.31.21.212