Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

17 Jul 2020 12:43:27 PM IST
Last Updated : 17 Jul 2020 12:47:32 PM IST

गुना में गब्बू पारधी पर सियासी जंग तेज

(फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के गुना जिले में अवैध कब्जा हटाने गए पुलिस और प्रशासन के दल द्वारा दलित किसान परिवार की पिटाई के मामले में गब्बू पारधी को लेकर सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। भाजपा ने जहां कब्जा करने वाले पारधी के कांग्रेस नेता से रिश्तों पर सवाल उठाए है तो वहीं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी जांच को लेकर भाजपा पर तंज कसा है।

मालूम हो कि गुना के केंट क्षेत्र में गब्बू पारधी द्वारा सरकारी जमीन पर कब्जा कर उसे दलित परिवार को खेती के लिए बटिया पर दिए जाने का मामला सामने आया है। पिछले दिनों इस कब्जे को हटाने के दौरान पुलिस ने बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की थी। दलित परिवार के सदस्यों की पिटाई की थी। इस मामले में ग्वालियर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को हटाए जाने के साथ छह जवानों को निलंबित किया जा चुका है।

इस मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने घटना की निंदा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस घटना की जांच तो करा रही है, लेकिन इस मामले में दिग्विजय सिंह की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए।

इस प्रश्न का जवाब खोजा जाना चाहिए कि आखिर किसकी शह पर गब्बू पारधी ने इस जमीन पर कब्जा करने की हिम्मत जुटाई। उत्कृष्ट कॉलेज की भूमि से बेदखली की कार्रवाई नवंबर 2019 में शुरू की गई थी, लेकिन उस समय इस कार्रवाई को राजनीतिक दबाव के चलते रोक दिया गया था।

शर्मा के इस बयान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने कहा है, "मैं भाजपा अध्यक्ष बीडी शर्मा द्वारा गब्बू पारधी और मेरे संबंधों की जांच की मांग का स्वागत करता हूं। मैं शिवराज जी से अनुरोध करता हूं कि इसकी जांच बीडी शर्मा जी को ही सौंपी जाए। यह भी जांच करें कि शासकीय भूमि पर कब्जा हटाने की कार्रवाई भाजपा के 15 सालों में क्यों नहीं की गयी?"

राज्य के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि दिग्विजय सिंह को उन सवालों का जवाब देना चाहिए जो प्रदेशाध्यक्ष ने पूछे हैं। सवाल पर सवाल नहीं किए जाते। वे बताएं कि उनके गब्बू पारधी से रिश्ते हैं या नहीं हैं। इनका परिचित है या नहीं, पहले इसका जवाब दे, इसके बाद आगे भी बता देंगे।


Source:PTI, Other Agencies, Staff Reporters
आईएएनएस
भोपाल/गुना
 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 


फ़ोटो गैलरी

 

172.31.21.212