Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

20 Apr 2017 04:19:29 AM IST
Last Updated : 20 Apr 2017 04:24:16 AM IST

तीन तलाक : शरीयत या शोषण?

असद रजा
लेखक
तीन तलाक : शरीयत या शोषण?
तीन तलाक : शरीयत या शोषण?

इस प्रश्न कि क्या एक साथ एक ही बैठक में तीन तलाक देना पत्नी का शोषण है, का उत्तर देने से पहले हमें शरीयत (इस्लामी धार्मिक विधान), मौलवियों, बुद्धिजीवियों और इस मुद्दे पर कुरआन के निर्देशों पर विचार करना होगा.

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की उस घोषणा पर भी सोचना होगा जिसमें कहा गया है एक साथ तीन तलाक तो सही है परंतु उसका गलत इस्तेमाल करने वालों का सामाजिक बहिष्कार किया जाए.
बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना सैयद राबे हसन नदवी का कथन है कि ‘यदि कुछ लोग तीन तलाक का नाजायज इस्तेमाल कर रहे हैं, तो उस स्थिति में कानून को बदलने की आवश्यकता नहीं बल्कि लोगों को अपना व्यवहार बदलने के लिए तैयार करने की जरूरत है.’ इसका तात्पर्य है कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड एक ही बैठक में एक साथ तीन तलाक को शरीयत का अंग मानता है, मगर इसके गलत इस्तेमाल पर सामाजिक बहिष्कार की बात करता है. परंतु प्रश्न है कि इस बात को कौन तय करेगा कि तीन तलाक के अधिकार का किसी पति ने सही इस्तेमाल किया है या गलत? वास्तविक प्रश्न तो यह है कि एक साथ तीन तलाक देने का कानून सही है या गलत? इस प्रश्न के संदर्भ में उल्लेखनीय है कि इस्लाम धर्म अब अनेक (72 या अधिक) मसलकों (उप संप्रदायों) में बंटा हुआ है, जो शरीयत के कानूनों की व्याख्या अपने-अपने दृष्टिकोण से करते हैं. उदाहरणार्थ-अहले हदीस और शिया इत्यादि मसलक एक ही बैठक में तीन तलाक देने के कानून को इस्लाम विरोधी करार देते हैं.

भारत सहित पूरी दुनिया के एक सौ से अधिक देशों में उपरोक्त मसलकों के मानने वाले करोड़ों मुसलमान रहते हैं. लेकिन इस्लाम के हन्फी मसलक और कुछ अन्य मसलकों के मुसलमान एक साथ तीन तलाक को शरीयत का कानून मानते हैं. पूरे विश्व में तीन तलाक को सही मानने वाले मुसलमानों की जनसंख्या भी करोड़ों में है. यहां यह उल्लेख भी उचित होगा कि एक साथ तीन तलाक को शरीयत का अंग मानने वाले भी इस प्रकार की तलाक को अच्छा नहीं समझते हैं परंतु कोई पति यदि इस प्रकार तीन तलाक दे दें तो वह इसे शरीयत की दृष्टि से सही करार देते हैं, और कहते हैं कि तलाक हो गई है.
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी अनेक बन गए हैं. शिया धार्मिक नेता मौलाना मोहम्मद अतहर ने शिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड गठित किया, जिसका नेतृत्व इन दिनों मौलाना यासूब अब्बास कर रहे हैं. यह मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक को शरीयत नहीं मानता है. इसी प्रकार मुस्लिम महिलाओं ने भी शाइस्ता अम्बर के नेतृत्व में मुस्लिम महिलाओं के लिए अलग से एक मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड बनाया है. यह भी एक ही बैठक में तीन तलाक को गलत मानता है. इन बोडरे के गठन से साबित होता है कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से मुस्लिम महिलाएं और कुछ मुस्लिम मसलक सन्तुष्ट नहीं हैं. इन असंतुष्टों का कहना है एक ही बैठक में तीन तलाक में मुस्लिम महिलाओं का शोषण है और कुरआन और इस्लाम की शिक्षा के खिलाफ है. इस सिलसिले में वे कुरआन शरीफ के ‘सूरए निसा’ और ‘सूरए तलाक’ का हवाला देते हैं, जिसमें साफ कहा गया है कि तीन तोहर (मासिक धर्मो के बाद का समय) में यानी तीन महीनों में तीन तलाक दी जाएं  और यह कि अल्लाह को तलाक पसंद नहीं है.
यहां बताना भी उचित होगा कि इस्लाम धर्म में धार्मिक कानून या शरीयत के मुख्य स्रोत दो हैं. एक स्रोत कुरआन शरीफ है. कुरआन पाक में प्रत्येक मसलक के मुसलमान का अटूट विश्वास है. दूसरा स्रोत हदीस है. हदीस पैगम्बर-ए-इस्लाम  हजरत मोहम्मद (सल्लम) के उन कथनों एवं निर्देशों को कहते हैं, जो उन इस्लामी हस्तियों द्वारा बयान किए गए हैं, जो पैगम्बरे अकरम के जीवनकाल में उनके साथ रहीं. परंतु इन हदीसों में जहां बहुत-सी सही हैं, वहीं कुछ कमजोर और संदेहास्पद भी. एक साथ तीन तलाक देने का स्रोत कुरआन पाक नहीं बल्कि हदीसें ही हैं. इसीलिए लगभग 22 मुस्लिम देशों सऊदी अरब, पाकिस्तान, इराक, ईरान, इंडोनेशिया, तुर्की, मिस्र आदि में एक ही बैठक में तीन तलाक पर विभिन्न ढंगों से अंकुश लगाया गया है. इधर, तीन तलाक के समर्थक भारतीय मुसलमानों और मौलवियों का कहना है कि हम इन इस्लामी देशों के कानूनों को नहीं मानते. प्रश्न  है कि जब भारत में भी तीन तलाक के रिवाज पर बहस हो रही है और केंद्र सरकार और उप्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड, हरियाणा, झारखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, मणिपुर आदि सरकारें और स्वयं सर्वोच्च न्यायालय भी एक ही बैठक में तीन तलाक देने के पक्ष में नहीं है और इस पर कानूनी पाबंदी की मांग उठा रहे हैं, तब क्या ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और हन्फी मसलक के मुसलमान ऐसी पाबंदी को स्वीकार करेंगे? 
जहां तक मुस्लिम छात्रों विशेष रूप से छात्राओं का प्रश्न है तो वे खुल कर तीन तलाक का विरोध करते हैं. हन्फी मसलक के अनेक बुद्धिजीवी भी एक बैठक में तीन तलाक को गलत मानते हैं. जामिया मिल्लिया इस्लामिया के इस्लामिक अध्ययन के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी, जोधपुर के अध्यक्ष प्रो. अख्तरूलवासे तीन तलाक को कुरआन के खिलाफ बताते हैं. इसी प्रकार मशहूर शायर  जावेद अख्तर ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड द्वारा तीन तलाक को जायज करार देने की घोषणा की आलोचना करते हुए इसे शोषण कहा है और इस पर पाबंदी लगाने की मांग की है.
वास्तव में 21वीं सदी में जब महिलाएं जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर महान कार्य कर रही हैं, तब उन पर  तीन  तलाक की तलवार से उनके मानवीय अधिकारों का हनन निश्चित ही चिंता का विषय है. वे अपने अधिकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई हैं, तो ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड और उलेमा को भी इस मुद्दे पर खुले मन से इस पर पुनर्विचार करना चाहिए. ऐसा नहीं किया गया तो उनका अड़ियलपन देश में मुस्लिमों की बदनामी का सबब बन जाएगा. वास्तव में एक साथ तीन तलाक शरीयत नहीं बल्कि मुस्लिम महिलाओं का शोषण है.


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :



फ़ोटो गैलरी
PICS: दीपोत्सव का पांच दिवसीय उत्सव शुरू, सजे बाजार, धनतेरस आज

PICS: दीपोत्सव का पांच दिवसीय उत्सव शुरू, सजे बाजार, धनतेरस आज

जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड की

जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड की 'ड्रीम गर्ल' हेमा मालिनी के डॉयलॉग जो हिट रहेंगे

धनतेरस पर इन चीजों को खरीदना है शुभ, धन में होगी 13 गुना वृद्धि

धनतेरस पर इन चीजों को खरीदना है शुभ, धन में होगी 13 गुना वृद्धि

त्यौहारों पर निखारें बाल,हाथ,नाखून,अपनाएं शहनाज हुसैन के टिप्स

त्यौहारों पर निखारें बाल,हाथ,नाखून,अपनाएं शहनाज हुसैन के टिप्स

पापा शाहिद के बेटी मीशा के साथ प्यार भरे पल, देखें तस्वीरें

पापा शाहिद के बेटी मीशा के साथ प्यार भरे पल, देखें तस्वीरें

अशोक कुमार, किशोर कुमार दोनों भाईयों को हमेशा से जोड़ गयी 13 अक्टूबर

अशोक कुमार, किशोर कुमार दोनों भाईयों को हमेशा से जोड़ गयी 13 अक्टूबर

अजीब खबर, 5 साल की छोटी उम्र में जवानी पार कर आने लगा बुढ़ापा

अजीब खबर, 5 साल की छोटी उम्र में जवानी पार कर आने लगा बुढ़ापा

PICS: दिल्ली का सेंट्रल विस्टा 16 मिलियन रंगों से जगमगाया, 365 दिन रहेगा रोशन

PICS: दिल्ली का सेंट्रल विस्टा 16 मिलियन रंगों से जगमगाया, 365 दिन रहेगा रोशन

ताजनगरी के एक गांव में उगाई जाती है लोगों की जिंदगियां दांव पर लगाने वाली फसल

ताजनगरी के एक गांव में उगाई जाती है लोगों की जिंदगियां दांव पर लगाने वाली फसल

मिनी चंडीगढ़: ऐसा गांव जिसे देख शहर भी शरमा जाए

मिनी चंडीगढ़: ऐसा गांव जिसे देख शहर भी शरमा जाए

जन्मदिन मुबारक रेखा: जानिए रेखा के विवादास्पद लव अफेयर्स की कहानियां

जन्मदिन मुबारक रेखा: जानिए रेखा के विवादास्पद लव अफेयर्स की कहानियां

बिग बॉस 11: सलमान के खिलाफ FIR

बिग बॉस 11: सलमान के खिलाफ FIR

जानिए 8 से 14 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 8 से 14 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

PICS: पति की दीर्घायु के लिए रखती हैं सुहागिन करवा चौथ व्रत

PICS: पति की दीर्घायु के लिए रखती हैं सुहागिन करवा चौथ व्रत

फिल्में जिन्होंने करवा चौथ का बढ़ा दिया क्रेज

फिल्में जिन्होंने करवा चौथ का बढ़ा दिया क्रेज

PICS: अंडर-17 फीफा विश्व कप: भारतीय फुटबाल के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो जाएगा आज का दिन

PICS: अंडर-17 फीफा विश्व कप: भारतीय फुटबाल के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो जाएगा आज का दिन

PICS: ‘मातानुवन’ है ‘पर्यावरण’ बचाने का महाअभियान

PICS: ‘मातानुवन’ है ‘पर्यावरण’ बचाने का महाअभियान

शाहरूख ने क्यों किया अभिनेत्रियों को धन्यवाद

शाहरूख ने क्यों किया अभिनेत्रियों को धन्यवाद

रोहित का शतक, भारत फिर बना नंबर वन

रोहित का शतक, भारत फिर बना नंबर वन

जानिए 1 से 7 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 1 से 7 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

PICS: मां दुर्गा की विदाई में

PICS: मां दुर्गा की विदाई में 'सिंदूर खेला' की धूम

महिला खिलाड़ियों से मिले विराट कोहली

महिला खिलाड़ियों से मिले विराट कोहली

PICS: महाअष्टमी पर माता को लगाया गया मदिरा का भोग

PICS: महाअष्टमी पर माता को लगाया गया मदिरा का भोग

PICS: अच्छा, तो हम चलते हैं .. , कहने की तैयारी में रावण का साम्राज्य

PICS: अच्छा, तो हम चलते हैं .. , कहने की तैयारी में रावण का साम्राज्य

मां मुंडेश्वरी मन्दिर: अद्भुत मन्दिर जहां दी जाती है रक्तहीन बलि

मां मुंडेश्वरी मन्दिर: अद्भुत मन्दिर जहां दी जाती है रक्तहीन बलि

PICS:  सचिन ने किया बांद्रा की सड़को को साफ और दिया ये संदेश...

PICS: सचिन ने किया बांद्रा की सड़को को साफ और दिया ये संदेश...

PICS: यहां 75 दिन तक मनाते हैं दशहरा लेकिन नहीं होता रावण वध

PICS: यहां 75 दिन तक मनाते हैं दशहरा लेकिन नहीं होता रावण वध

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 25 सितम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 25 सितम्बर 2017 का राशिफल

जानिए 24 से 30 सितम्बर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 24 से 30 सितम्बर का साप्ताहिक राशिफल

गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल है मदरसा, यहां भगवा ड्रेस में गाया जाता है वंदेमातरम और राष्ट्रगान

गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल है मदरसा, यहां भगवा ड्रेस में गाया जाता है वंदेमातरम और राष्ट्रगान

PICS: वनडे में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय कुलदीप की हैट्रिक ऐसे बनी...

PICS: वनडे में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय कुलदीप की हैट्रिक ऐसे बनी...

करीना का हर फैसला तैमूर को ध्यान में रखकर

करीना का हर फैसला तैमूर को ध्यान में रखकर


 

172.31.20.145