Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

12 Jan 2017 03:08:36 AM IST
Last Updated : 12 Jan 2017 03:10:04 AM IST

युवा दिवस : युवाओं को बढ़ानी होगी समझ

शशांक द्विवेदी
लेखक
युवा दिवस : युवाओं को बढ़ानी होगी समझ
युवा दिवस : युवाओं को बढ़ानी होगी समझ

आज धर्म के नाम पर दुनिया भर में जो मारकाट मची है, धर्म के नाम पर दुनिया भर में जो पाखण्ड फैला है ऐसे हालात में विवेकानंद के ओजस्वी विचारों का दुनिया भर के युवाओं के लिए अधिक महत्त्व है, जिन्हें संपूर्णता में समझने की जरूरत है.

जब वे युवाओं से कहते हैं कि गीता, कुरान पढ़ने से ज्यादा अच्छा फुटबॉल खेलना है तो इस बात में ही धर्म का बड़ा रहस्य छुपा है, क्योंकि वे कहते थे कि स्वस्थ शरीर ही धर्म और अध्यात्म को ठीक तरह से समझ सकता है. उन्होंने अपने पूरे जीवन धार्मिक पाखंड का पुरजोर विरोध करते हुए विचारों की शुचिता को बहुत अधिक महत्त्व दिया.

‘उठो, जागो और अपने लक्ष्य को प्राप्त करो’ का संदेश देने वाले युवाओं के प्रेरणास्रोत, समाज सुधारक युवा युग पुरुष स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में हुआ था. इनके जन्मदिन को ही राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है. स्वामी विवेकानंद ने देश के युवाओं को समग्र आध्यात्मिक सोच और दिशा दी थी. भारत में स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है. उनका जन्मदिवस को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाए जाने का मुख्य  कारण उनका दर्शन, सिद्धांत, अलौकिक विचार और उनके आदर्श हैं, जिनका उन्होंने स्वयं पालन किया और भारत के साथ-साथ अन्य देशों में भी उन्हें स्थापित किया.

उनके ये विचार और आदर्श युवाओं में नई शक्ति और ऊर्जा का संचार कर सकते हैं. किसी भी देश के युवा उसका भविष्य होते हैं. उन्हीं के हाथों में देश की उन्नति की बागडोर होती है. आज देश में जहां चारों तरफ भ्रष्टाचार, बुराई और अपराध का बोलबाला है, जो घुन बनकर देश को अंदर-ही-अंदर खाए जा रहे हैं. ऐसे में देश की युवा शक्ति को जागृत करना और उन्हें देश के प्रति कर्तव्यों का बोध कराना अत्यंत आवश्यक है. विवेकानंद के विचारों में वह क्रांति और तेज है, जो सारे युवाओं को नई चेतना से भर दे.

उनके दिलों को छू ले. स्वामी विवेकानंद की ओजस्वी वाणी भारत में तब उम्मीद की किरण लेकर आई, जब भारत पराधीन था. हर तरफ सिर्फ दुख और निराशा के बादल छाए हुए थे. उन्होंने भारत के सोए हुए समाज को जगाया और उनमें नई ऊर्जा-उमंग का प्रसार किया. गुरुदेव रवींद्रनाथ ठाकुर ने एक बार कहा था-‘यदि आप भारत को जानना चाहते हैं तो विवेकानंद को पढ़िए. उनमें आप सब कुछ सकारात्मक ही पाएंगे, नकारात्मक कुछ भी नहीं.’ रोम्यां रोलां ने उनके बारे में कहा था-‘उनके द्वितीय होने की कल्पना करना भी असम्भव है, वे जहां भी गए, सर्वप्रथम ही रहे.

हर कोई उनमें अपने नेता का दिग्दर्शन करता था. वे ईश्वर के प्रतिनिधि थे और सब पर प्रभुत्व प्राप्त कर लेना ही उनकी विशिष्टता थी.’ मात्र 39 वसंत देखने वाले युवा संन्यासी और युवा हृदय सम्राट नरेन्द्र यानी स्वामी विवेकानंद ने युवाओं का आह्वान किया था-‘गीता पढ़ने के बजाय फुटबल खेलो.’ दरअसल, वह कर्मयोगी और युगद्रष्टा थे, इसलिए उनका उद्घोष था-‘उठो, जागो और तब तक मत रुको, जब तक लक्ष्य को न प्राप्त कर लो.’ अपने समय से बहुत आगे की सोचने वाले महान चिंतक और दार्शनिक विवेकानंद वैज्ञानिक दृष्टिकोण को बहुत महत्त्व देते थे. वह शिक्षा और ज्ञान को आस्था की कुंजी मानते हैं. स्त्री शिक्षा के वह विशेष हिमायती थे. विवेकानंद भारतीय समाज को छुआछूत और सामाजिक बुराइयों से दूर करने की बात करते थे.

स्वामी विवेकानंद ने 1893 में अमेरिका के शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में जब कहा, ‘अमेरिका के मेरे भाइयो एवं बहनो !’ तब यह सम्बोधन सुनते ही पूरा अमेरिका उनका मुरीद बन गया. सभागार तालियों से गूंज उठा. भारतीय धर्म, अध्यात्म और दर्शन पर उनके संबोधन से सारा अमेरिका चकित रह गया. स्वामी विवेकानंद नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते थे. उन्होंने अपने गुरु महान आध्यात्मिक संत स्वामी  रामकृष्ण के नाम पर ही रामकृष्ण मिशन और मठ की स्थापना की. 39 वर्ष के संक्षिप्त जीवनकाल में स्वामी विवेकानंद जो काम कर गए वे आने वाली कई शताब्दियों तक पीढ़ियों का मार्गदर्शन करते रहेंगे. देश की वर्तमान परिस्थितियों में आज उनके विचार बहुत ज्यादा प्रासंगिक हो गए हैं. इसी वजह से वे देश के युवाओं के प्रेरणास्रोत बने हुए हैं. देश को उनके जैसे ही युवा नेतृत्व की जरुरत है, जो देश को आगे बढ़ा सके.


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :



फ़ोटो गैलरी
PICS: दीपोत्सव का पांच दिवसीय उत्सव शुरू, सजे बाजार, धनतेरस आज

PICS: दीपोत्सव का पांच दिवसीय उत्सव शुरू, सजे बाजार, धनतेरस आज

जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड की

जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड की 'ड्रीम गर्ल' हेमा मालिनी के डॉयलॉग जो हिट रहेंगे

धनतेरस पर इन चीजों को खरीदना है शुभ, धन में होगी 13 गुना वृद्धि

धनतेरस पर इन चीजों को खरीदना है शुभ, धन में होगी 13 गुना वृद्धि

त्यौहारों पर निखारें बाल,हाथ,नाखून,अपनाएं शहनाज हुसैन के टिप्स

त्यौहारों पर निखारें बाल,हाथ,नाखून,अपनाएं शहनाज हुसैन के टिप्स

पापा शाहिद के बेटी मीशा के साथ प्यार भरे पल, देखें तस्वीरें

पापा शाहिद के बेटी मीशा के साथ प्यार भरे पल, देखें तस्वीरें

अशोक कुमार, किशोर कुमार दोनों भाईयों को हमेशा से जोड़ गयी 13 अक्टूबर

अशोक कुमार, किशोर कुमार दोनों भाईयों को हमेशा से जोड़ गयी 13 अक्टूबर

अजीब खबर, 5 साल की छोटी उम्र में जवानी पार कर आने लगा बुढ़ापा

अजीब खबर, 5 साल की छोटी उम्र में जवानी पार कर आने लगा बुढ़ापा

PICS: दिल्ली का सेंट्रल विस्टा 16 मिलियन रंगों से जगमगाया, 365 दिन रहेगा रोशन

PICS: दिल्ली का सेंट्रल विस्टा 16 मिलियन रंगों से जगमगाया, 365 दिन रहेगा रोशन

ताजनगरी के एक गांव में उगाई जाती है लोगों की जिंदगियां दांव पर लगाने वाली फसल

ताजनगरी के एक गांव में उगाई जाती है लोगों की जिंदगियां दांव पर लगाने वाली फसल

मिनी चंडीगढ़: ऐसा गांव जिसे देख शहर भी शरमा जाए

मिनी चंडीगढ़: ऐसा गांव जिसे देख शहर भी शरमा जाए

जन्मदिन मुबारक रेखा: जानिए रेखा के विवादास्पद लव अफेयर्स की कहानियां

जन्मदिन मुबारक रेखा: जानिए रेखा के विवादास्पद लव अफेयर्स की कहानियां

बिग बॉस 11: सलमान के खिलाफ FIR

बिग बॉस 11: सलमान के खिलाफ FIR

जानिए 8 से 14 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 8 से 14 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

PICS: पति की दीर्घायु के लिए रखती हैं सुहागिन करवा चौथ व्रत

PICS: पति की दीर्घायु के लिए रखती हैं सुहागिन करवा चौथ व्रत

फिल्में जिन्होंने करवा चौथ का बढ़ा दिया क्रेज

फिल्में जिन्होंने करवा चौथ का बढ़ा दिया क्रेज

PICS: अंडर-17 फीफा विश्व कप: भारतीय फुटबाल के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो जाएगा आज का दिन

PICS: अंडर-17 फीफा विश्व कप: भारतीय फुटबाल के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो जाएगा आज का दिन

PICS: ‘मातानुवन’ है ‘पर्यावरण’ बचाने का महाअभियान

PICS: ‘मातानुवन’ है ‘पर्यावरण’ बचाने का महाअभियान

शाहरूख ने क्यों किया अभिनेत्रियों को धन्यवाद

शाहरूख ने क्यों किया अभिनेत्रियों को धन्यवाद

रोहित का शतक, भारत फिर बना नंबर वन

रोहित का शतक, भारत फिर बना नंबर वन

जानिए 1 से 7 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 1 से 7 अक्टूबर का साप्ताहिक राशिफल

PICS: मां दुर्गा की विदाई में

PICS: मां दुर्गा की विदाई में 'सिंदूर खेला' की धूम

महिला खिलाड़ियों से मिले विराट कोहली

महिला खिलाड़ियों से मिले विराट कोहली

PICS: महाअष्टमी पर माता को लगाया गया मदिरा का भोग

PICS: महाअष्टमी पर माता को लगाया गया मदिरा का भोग

PICS: अच्छा, तो हम चलते हैं .. , कहने की तैयारी में रावण का साम्राज्य

PICS: अच्छा, तो हम चलते हैं .. , कहने की तैयारी में रावण का साम्राज्य

मां मुंडेश्वरी मन्दिर: अद्भुत मन्दिर जहां दी जाती है रक्तहीन बलि

मां मुंडेश्वरी मन्दिर: अद्भुत मन्दिर जहां दी जाती है रक्तहीन बलि

PICS:  सचिन ने किया बांद्रा की सड़को को साफ और दिया ये संदेश...

PICS: सचिन ने किया बांद्रा की सड़को को साफ और दिया ये संदेश...

PICS: यहां 75 दिन तक मनाते हैं दशहरा लेकिन नहीं होता रावण वध

PICS: यहां 75 दिन तक मनाते हैं दशहरा लेकिन नहीं होता रावण वध

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 25 सितम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 25 सितम्बर 2017 का राशिफल

जानिए 24 से 30 सितम्बर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 24 से 30 सितम्बर का साप्ताहिक राशिफल

गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल है मदरसा, यहां भगवा ड्रेस में गाया जाता है वंदेमातरम और राष्ट्रगान

गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल है मदरसा, यहां भगवा ड्रेस में गाया जाता है वंदेमातरम और राष्ट्रगान

PICS: वनडे में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय कुलदीप की हैट्रिक ऐसे बनी...

PICS: वनडे में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय कुलदीप की हैट्रिक ऐसे बनी...

करीना का हर फैसला तैमूर को ध्यान में रखकर

करीना का हर फैसला तैमूर को ध्यान में रखकर


 

172.31.20.145