Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

27 Jan 2021 03:28:56 AM IST
Last Updated : 27 Jan 2021 03:31:17 AM IST

हिरासत में मौत : सबके लिए सुरक्षित हो न्याय

हिरासत में मौत : सबके लिए सुरक्षित हो न्याय
हिरासत में मौत : सबके लिए सुरक्षित हो न्याय

हिरासत में मौत के मामले जघन्य अपराध की श्रेणी में आते हैं। दुनिया भर में हिरासत में मौत (कस्टोडियल डेथ) को लेकर तमाम बड़े सवाल उठते रहे हैं।

राष्ट्रीय मानवाधिकार सहित बड़े  नागरिक हितैषी संस्थान इसे स्वतंत्र जांच का मामला मानते रहे हैं। तथापि न्यायालय के आदेशों में लगातार संशोधन के चलते अब तक ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। धारा 176 (1 ए) के आलोक में राष्ट्रीय मानव अधिकार की हालिया टिप्पणी संजीदा सवाल खड़ा करती है। आयोग ने 2010 के आदेश में विसंगति का अवलोकन किया और इसे वापस लेने का फैसला किया।
खबर के अनुसार अपराध प्रक्रिया (सीआरपीसी) की धारा 176 (1 ए) की गलत तरीके से व्याख्या करने के दस साल बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने 2010 के एक आदेश को निरस्त कर दिया है, जिसमें हिरासत में होने वाली मौतों की जांच का दायरा केवल उन मामलों तक सीमित है, जहां गुंडागर्दी या संदेह के अपराध को उचित रूप में स्थापित किया गया हो या जहां कोई सबूत या अपराध का आरोप नहीं है, वहां न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा ‘जांच’ अनिवार्य नहीं है। सितम्बर, 2020 में इस संशोधित आदेश के अनुसार हिरासत में होने वाली मौतों के सभी मामलों, जिनमें प्राकृतिक मौतें या किसी बीमारी के कारण होने वाली मौतें शामिल हैं, की जांच न्यायिक मजिस्ट्रेट या मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट करेंगे।

हालांकि मौजूदा नियमों के अनुसार साल 2005 में लागू  धारा 176 (1 ए) सीआरपीसी के प्रावधानों के अनुसार हिरासत में मौत, बलात्कार और लापता होने के मामलों में न्यायिक मजिस्ट्रेट या मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट जांच अनिवार्र्य होगी। मजिस्ट्रेट को अप्राकृतिक मौत के मामलों में पूछताछ करने का अधिकार है। वह पुलिस अधिकारी द्वारा की जा रही जांच के अलावा मौत के कारणों की जांच कर सकता है। यह एक सामान्य सशक्तिकरण का प्रावधान है, जो मजिस्ट्रेट को ऐसी जांच का विवेक देता है। पुलिस अत्याचार या हिरासत में मौत के मामलों में शायद ही कभी पुलिसकर्मिंयों की संलिप्तता के सबूत उपलब्ध होते हैं। कारण यह कि पुलिस को खुद अपने ही खिलाफ जांच करने के लिए कहा जाता है, जो एक बड़ी समस्या है। उच्चतम न्यायालय पुलिस के ‘आपसी भाईचारे’ पर पहले ही टिप्पणी कर चुका है।
एक अप्रैल, 2019 से लेकर 31 मार्च, 2020 तक देश में पुलिस हिरासत में मारे गए लोगों की संख्या 113 थी जबकि न्यायिक हिरासत में मरने वालों का आंकड़ा 1585 रहा है। इसके अलावा, उक्त अवधि के दौरान दिल्ली में 47, महाराष्ट्र में 91, गुजरात में 53, हरियाणा में 74, राजस्थान में 79, उड़ीसा में 59 और तमिलनाडु में 57 लोगों की न्यायिक हिरासत में मौत हो गई। नागरिकों की व्यक्तिगत आजादी और जिंदगी की हिफाजत करने के लिए भले ही संवैधानिक प्रावधान बने हों, मगर हकीकत यह है कि पुलिस हिरासत में यातना और मौत की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे मामलों की अदालतों द्वारा र्भत्सना किए जाने के बावजूद पुलिस द्वारा इन पर संज्ञान नहीं लिया जा रहा।
 राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के अनुसार, 2019 में हिरासत में हुई मौतों के कुल 85 मामलों में से 33 को आत्महत्या और 36 को बीमारियों के कारण दर्ज किया गया था। पुलिस हिरासत में शारीरिक हमलों के कारण केवल दो मौतें दर्ज की गई। इसी तरह, पिछले एक दशक में (कुल 1,004 में से) पुलिस हिरासत में लगभग 70% मौतें प्राकृतिक कारणों से बीमारी, आत्महत्या या मृत्यु के कारण हुई हैं। कई मामलों में जांच बाद में सीबीआई, विशेष जांच टीम जैसी स्वतंत्र एजेंसियों को सौंप दी जाती है। हालांकि इससे परिणाम कितने ठोस निकलेंगे, इसे लेकर कोई आश्वासन नहीं दिया जाता।
अगर साक्ष्य जुटाने के शुरुआती महत्त्वपूर्ण चरणों मसलन, पोस्टमार्टम, पूछताछ आदि में हेर-फेर की गई हो तब तो परिणाम निश्चित ही अनुकूल नहीं निकलते। परिणामस्वरूप, राज्य के पुलिस बल हिरासत में ज्यादातर मौतों की घटनाओं को प्राकृतिक मौत या आत्महत्या के रूप में दर्ज कर रहे हैं। सवाल जीवन से जुड़े मौलिक अधिकारों का है। कानून द्वारा शासित एक सभ्य समाज में कस्टडी में मौत न केवल संगीन अपितु जघन्य अपराध है। क्या गिरफ्तारी के बाद किसी व्यक्ति के जीवन के मौलिक अधिकार समाप्त हो जाते हैं? सवाल गंभीर और बड़ा है। इस पर गंभीर चिंतन की आवश्यकता है।


डॉ. दर्शनी प्रिय
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी

'तेजस' के लिए कंगना ने ली आर्मी की ट्रेनिंग

वरुण धवन ने नताशा संग लिए सात फेरे, शेयर की शादी की पहली तस्वीर

वरुण धवन ने नताशा संग लिए सात फेरे, शेयर की शादी की पहली तस्वीर

गुब्बारों, फूलों, सेनिटाइज़र और मुस्कुराते चेहरों के साथ दिल्ली में खुले स्कूल

गुब्बारों, फूलों, सेनिटाइज़र और मुस्कुराते चेहरों के साथ दिल्ली में खुले स्कूल

देश में कैसे लग रही है कोरोना की वैक्सीन, देखें तस्वीरें

देश में कैसे लग रही है कोरोना की वैक्सीन, देखें तस्वीरें

उत्तर भारत में ठंड और शीतलहर जारी, छाया घना कोहरा

उत्तर भारत में ठंड और शीतलहर जारी, छाया घना कोहरा

PICS: बिग बॉस के स्टेज पर मनाया गया सलमान का बर्थडे, रवीना टंडन और जैकलीन ने की शिरकत

PICS: बिग बॉस के स्टेज पर मनाया गया सलमान का बर्थडे, रवीना टंडन और जैकलीन ने की शिरकत

PICS: कश्मीर, लद्दाख में हुई सीजन की पहली बर्फबारी

PICS: कश्मीर, लद्दाख में हुई सीजन की पहली बर्फबारी

Good Bye Golden Boy: फुटबॉल के भगवान माराडोना के वो 2 गोल जो आज भी किए जाते हैं याद

Good Bye Golden Boy: फुटबॉल के भगवान माराडोना के वो 2 गोल जो आज भी किए जाते हैं याद

IPL 2020: जानें, विजेता और उपविजेता सहित किसने कितनी जीती प्राइस मनी

IPL 2020: जानें, विजेता और उपविजेता सहित किसने कितनी जीती प्राइस मनी

PICS: कंगना रनौत को आई मुंबई की याद, तस्वीरें शेयर करके बताया कौन सी चीज करती हैं सबसे ज्यादा मिस

PICS: कंगना रनौत को आई मुंबई की याद, तस्वीरें शेयर करके बताया कौन सी चीज करती हैं सबसे ज्यादा मिस

PICS: पीएम मोदी ने आरोग्य वन, एकता मॉल और पोषक पार्क का किया उद्घाटन, जानिए इनकी खासियत

PICS: पीएम मोदी ने आरोग्य वन, एकता मॉल और पोषक पार्क का किया उद्घाटन, जानिए इनकी खासियत

PICS: ढेर सारे शानदार फीचर्स के साथ iPhone 12 Pro, iPhone 12 Pro Max लॉन्च, जानें कीमत

PICS: ढेर सारे शानदार फीचर्स के साथ iPhone 12 Pro, iPhone 12 Pro Max लॉन्च, जानें कीमत

PICS: नोरा फतेही ने समुद्र किनारे किया जबरदस्त डांस, वीडियो वायरल

PICS: नोरा फतेही ने समुद्र किनारे किया जबरदस्त डांस, वीडियो वायरल

Big Boss 14 : झलक बिग बॉस 14 के आलीशान घर की

Big Boss 14 : झलक बिग बॉस 14 के आलीशान घर की

PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर


 

172.31.21.212