Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

16 Sep 2020 12:35:36 AM IST
Last Updated : 16 Sep 2020 12:38:14 AM IST

ओजोन दिवस : ..ताकि बची रहे पृथ्वी

अभिषेक कु. सिंह
ओजोन दिवस : ..ताकि बची रहे पृथ्वी
ओजोन दिवस : ..ताकि बची रहे पृथ्वी

धरती से 10-40 किलोमीटर की ऊंचाई पर समताप मंडल में मौजूद ओजोन परत को पृथ्वी का रक्षक इसलिए माना जाता है कि यह सूर्य के अल्ट्रावॉयलेट विकिरण से इंसानों और अन्य जीवों को बचाने में काफी मददगार है।

चूंकि ग्रीन हाउस गैसों, खासकर रेफ्रीजरेटर्स और एयर कंडीशनरों में इस्तेमाल होने वाली क्लोरो-फ्लोरो गैसें रिसाव के कारण पृथ्वी की ऊपरी सतह में पहुंच कर ओजोन के कणों को विघटित कर देती हैं, इसलिए यह घटना चिंता का कारण मानी जाती रही है। साफ है, ओजोन की परत में कोई छेद (ओजोन होल) हो जाता है, तो खतरनाक अल्ट्रावॉयलेट किरणों तबाही मचा सकती हैं।
इस साल लॉकडाउन की शुरु आत में इसके बारे में कुछ अच्छी खबरें आई थीं। अप्रैल में ‘कॉपरनिक्स एटमॉस्फियर मॉनिटिरंग सर्विस’ के वैज्ञानिकों ने जानकारी दी थी कि इस साल मार्च में उत्तरी गोलार्ध के आर्कटिक इलाके में ओजोन परत में जो अभूतपूर्व छेद दिखा था, लॉकडाउन की शुरुआती अवधि में ही वह बंद हो गया। ग्रीनलैंड के आकार के बराबर इस छिद्र के बंद होने से काफी राहत मिली थी, लेकिन यह राहत शायद हमारे शहरों के लिए उतनी बड़ी नहीं है क्योंकि यहां ओजोन का एक नया ही चेहरा हमारे सामने है। दिल्ली जैसे बड़े शहरों में अब पता चल रहा है कि वहां की हवा में ओजोन की मात्रा खतरनाक ढंग से बढ़ रही है। इस खतरे के बारे में ‘सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट’ (सीएसई) जैसी संस्थाएं काफी पहले आगाह कर चुकी हैं। दो साल पहले 2018 में सीएसई ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के दिल्ली स्थित 31 निगरानी केंद्रों से वायु प्रदूषण के मिले आंकड़ों को देखा तो एक चौंकाने वाली बात पता चली। देखा गया कि दिल्ली में फरवरी-मई के बीच चार महीनों के दौरान कम से कम 23 दिन हवा में जहर घोलने के मामले में ओजोन को प्रमुख प्रदूषक पाया गया। शहरों में यह एक बड़े खतरे के शुरु आत है, क्योंकि हवा में बढ़ती ओजोन दिल की बीमारियों के अलावा सांस संबंधी रोगों, दमा और फेफड़ों की तकलीफों से पीड़ित मरीजों के लिए बहुत खतरनाक है। सेहत के लिए नया विलेन बन रही ओजोन गैस की मात्रा में खतरनाक इजाफे के संकेत शहरों में रोजाना दर्ज किए जा रहे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एयर क्वॉलिटी इंडेक्स- एक्यूआई) के जरिए मिल रहे हैं। सीएसई के अध्ययन में बताया गया कि  वर्ष 2018 में फरवरी से मई के दौरान एक्यूआई में ओजोन की मात्रा में बढ़ोतरी पाई गई जो सूक्ष्म कणों के साथ प्रमुख प्रदूषक रही है।

सवाल है कि हवा में यह ओजोन गैस कहां से आ रही है। असल में ओजोन काफी प्रतिक्रियाशील तत्व है, जो नाइट्रोजन ऑक्साइड से पैदा हुई गर्मी, सूरज की रोशनी और अन्य वाष्पशील गैसों के साथ प्रतिक्रया से बन रही है। ये गैसें वाहनों से निकलने वाले धुएं और अन्य स्रोतों से शहरी हवा में आकर मिलती हैं, जिनसे खतरनाक ओजोन पैदा होती है। खास बात यह है कि घनी बस्तियों में ओजोन की मौजूदगी ज्यादा बड़े संकट पैदा कर रही है। सीएसई ने अपने अध्ययन में पटपड़गंज, आरके पुरम, नेहरू नगर, नजफगढ़ और सोनिया विहार के औद्योगिक व निम्न आय वाले लोगों की आबादी वाले इलाकों में प्रदूषण की स्थिति सबसे खतरनाक पाई गई। ये सारे इलाके काफी घने बसे हैं और यहां वाहनों की रेलमरेल इस कोरोना काल में अनलॉक की प्रक्रिया के बाद पहले जैसी ही हो गई है। ओजोन और अन्य खतरनाक प्रदूषक गैसों से हवा में घुली जहर का मुकाबला मास्क और एयर प्यूरीफायर जैसे उपायों से कर भी लें, तो उस पर संकट यह है कि ये गैसें शहरों में हर वक्त भयानक गर्मी का अहसास भी करा रही हैं।  
दो साल पहले 2018 में अमेरिकन जियोफिजिकल यूनियन के जियोफिजिकल रिसर्च लेटर जर्नल में प्रकाशित एक रिसर्च पेपर ‘अर्बन हीट आईलैंड ओवर दिल्ली पंचेज होल्स इन वाइडस्प्रेड फॉग इन द इंडो-गैंगेटिक प्लेन्स’ में इसी बदलाव का खुलासा किया गया था। यह अध्ययन बताता है कि वाहनों के धुएं के अलावा शहरों में तेजी से हो रहे हर किस्म के निर्माण कार्यों, बढ़ रहे शहरीकरण, हरित पट्टी (ग्रीन लेयर) में तेज गिरावट और कंक्रीट से तैयार हो रही संरचनाओं के कारण जमीन के अंदर की गर्मी सतह में या सतह के करीब फंसकर रह जाती है। इससे यह शहरों की गर्मी सर्दियों में ठंडक लाने वाले प्राकृतिक कोहरे तक को जला देती है। इसकी वजह से ग्रामीण इलाकों के मुकाबले शहरों का तापमान 4 से 5 डिग्री ज्यादा हो जाता है। यूं बात चाहे जहरीली हो रही ओजोन की हो या अर्बन हीट की, इन सभी के पीछे इंसानी लिप्सा है, जिसमें विकास के नाम पर प्रकृति को छिन्न-भिन्न किया जा रहा है।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह


 

172.31.21.212