Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

10 Jul 2020 04:17:42 AM IST
Last Updated : 10 Jul 2020 04:19:22 AM IST

चीन : विस्तारवादी नहीं तो क्या कहें?

आचार्य पवन त्रिपाठी
चीन : विस्तारवादी नहीं तो क्या कहें?
चीन : विस्तारवादी नहीं तो क्या कहें?

पाश्चात्य दशर्न के विचारकों में जॉर्ज विल्हम, फ्रेडरिक हेगल और कार्ल हेनिरख मार्क्‍स के दशर्न से प्रभावित होकर अनेक देशों में प्रचलित शासन प्रणाली के खिलाफ विद्रोह होने लगे।

सत्ता परिवर्तन के दौर में रक्तपात भी हुए। साम्यवादी परिवर्तन की इस लहर में ‘लोकतंत्र’ शब्दावली की जगह साम्यवादी ‘गणराज्य’ को प्रतिष्ठित किया गया। सर्वहारा क्रांति और राजनीतिक क्रांति के गर्भ से जोसेफ स्टालिन, ब्लादिमीर इल्यीच उल्यानोव उर्फ लेनिन और माओत्से तुंग जैसे निरंकुश शासकों ने जन्म लिया। इन लोगों ने निर्ममता के साथ मौलिक अधिकारों से जनता को वंचित रखा। आलोचना करने और  सुविधाओं की मांग को भी वर्जित कर दिया गया। दमन की छड़ी ने पूरा जीवनदशर्न ही रहस्यमय कर दिया। सामंतशाही और राजशाही का विरोध करने वाले अनेक शासक 30-30 साल से भी अधिक समय तक शासन करते रहे।
चीन भी गैर-लोकतांत्रिक परंपरा से अछूता नहीं रहा है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कम्युनिस्ट नेता आजीवन सत्ता के लिए भूखे रहते हैं। चीन में 30 साल तक माओ त्से तुंग सत्ता पर काबिज रहे। काफी मंथन के बाद चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने ही चीनी संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) से आजीवन सत्ता में बने रहने के विरुद्ध प्रस्ताव पारित कराया। इसे अमल में लाया गया। लेकिन डेंग जिआओ पिंग का यह सराहनीय प्रयास रद्द हो गया। मौजूदा राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी पार्टी के महासचिव की हैसियत से सात सदस्यों की समिति गठित की। समिति ने शी जिनिपंग को आजीवन राष्ट्रपति बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर पहले पार्टी की बैठक में पारित कराया।

इस प्रस्ताव के खिलाफ उठे जन स्वर को कड़ाई से दबा दिया गया। उधर चीनी संसद एनपीसी में मार्च, 2018 के दरम्यान यह प्रस्ताव पेश हुआ। प्रस्ताव में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को आजीवन पद पर बने रहने के लिए संविधान संशोधन करने के लिए सिफारिश थी। संसद ने इस प्रस्ताव को दो तिहाई बहुमत से पारित कर दिया। प्रस्ताव दशर्ता है कि रहस्यमय व्यक्तित्व के धनी शी जिनपिंग के निरंकुश शासक बनने का रास्ता साफ हो गया है। ऐसी स्थिति में विश्व के सभी देशों को चीन से सतर्क रहने की जरूरत है। साम्यवादी दशर्न में साम्राज्यवाद और पूंजीवाद वर्जित है। इसके खिलाफ भी रक्तपात हो चुका है। तथापि चीन जैसे देश में यह वर्जित नहीं है। चीन में कुटिल नीति के तहत साम्राज्यवाद पर चुप्पी है और विस्तारवाद की नीति के तहत पड़ोसी देशों के भू-भाग पर गिद्ध दृष्टिकोण कायम है।
बीते करीब दो महीने से अधिक समय से भारत-चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर तनाव बना हुआ है। चीनी सेना के हमले में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। भारत की जवाबी कार्रवाई में चीन को भी भारी नुकसान उठना पड़ा। आश्चर्य  तो यह  है कि चीन ने इस संबंध में अब तक कोई अधिकृत बयान नहीं दिया। हां, भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विस्तारवादी रवैये जैसा आरोप लगाया तो चीन ने तत्काल बयान जारी कर इस आरोप का खंडन किया।
वस्तुत: हेगल ने त्रिक नियम के तहत एक सिद्धांत प्रतिपादित किया है। उसे ‘पक्ष’, ‘प्रतिपक्ष’, और  ‘संपक्ष’ कहते हैं। फिर किसी ने इस सिद्धांत को ‘क्रिया’, ‘प्रतिक्रिया’, और ‘संक्रिया’ नाम दिया। चीन का शिखर नेतृत्व इसी सिद्धांत पर काम करता रहा। पहले वह अपने मतलब साध्य होने वाले देश के साथ हमदर्दी दिखाता है। उसे आर्थिक और अन्य सहायता देता है। कुछ समय बाद सुरक्षा चौकी आदि बनाने के नाम पर उस देश में घुसपैठ करता है और शक्तिशाली अड्डा बना लेता है। कुछ समय बाद धौंस दिखा कर उस इलाके को अपना भू-भाग घोषित कर देता है। इसी तरह सीमावर्ती इलाकों में भी बहानेबाजी कर घुसपैठ करता है और उस इलाके अपना बताया करता है। प्रधानमंत्री मोदी ने चीन पर विस्तारवादी होने का आरोप यों ही नहीं लगाया है। जो देश  अनावश्यक दावा कर तर्कहीन अन्यायकारी दावों के आधार पर भूमि पर अतिक्रमण  करता है, तो उसे विस्तारवादी न  कहा जाए तो क्या कहा जाए। वर्तमान वैश्विक व्यवस्था में जब किसी भूमि पर कोई देश कब्जा करता है, तो वहां की भाषा, संस्कृति और सभ्यता पर भी अपनी भाषा, संस्कृति और सभ्यता को थोपता है।
तिब्बत बौद्ध धर्म का सबसे बड़ा केंद्र था, चीन वहां घुसा और दलाई लामा को तिब्बत छोड़कर भारत में शरण लेनी पड़ी।  तिब्बत ऐतिहासिक दृष्टि से कभी चीन का अंग नहीं रहा, तिब्बत में घुसकर चीन ने 12.28 लाख वर्ग किलोमीटर भू भाग पर कब्जा कर लिया, उस समय भारत की तरफ से चीन को चुनौती आनी चाहिए थी, लेकिन भारत के तत्कालीन सत्ताधीशों ने चुनौती नहीं दी। भारत के अकसाई चिन में पंडित जवाहर लाल नेहरू युग में चीन ने 38 हजार किलोमीटर भू-भाग पर कब्जा कर लिया। चीन ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की सक्सगम वैली के 5580 वर्ग किलोमीटर पर कब्जा कर लिया। भारत ने 1963 में जब पाकिस्तान को सिंधु नदी का जल दिया, उस समय सकसगम वैली और अकसाई चिन को मिलाकर 43580 वर्ग किलोमीटर पर चीन ने कब्जा कर लिया। चीन ने  नेपाल के एक हिस्से को यह दावा करके कब्जा लिया कि सन 1728 से 1792 के मध्य चीन-नेपाल का युद्ध हुआ था, उसमें चीन जीता था, चीन के इस बेतुके दावे पर क्या कहा जाए?
चीन नेपाल में घुसपैठ को तिब्बत का विस्तार मानता है! वियतनाम में सन 1368 से 1644 तक मिंगराजवंश का शासन था, तब साउथ चाइना सी का बड़ा हिस्सा उसके पास था, इसलिए स्प्रैटली द्वीप समूह पर चीन अपना कब्जा बता रहा है। ब्रुनेई में  स्प्रैटली द्वीप समूह के एक हिस्से को अपना होने का दावा चीन करता है। ताइवान में स्कारबॉरो शोअल द्वीप तथा नेकलेस सील्ड पर चीन अपना दावा करता है। जापान के ईस्ट चाइना सी में सेनकाकू द्वीप को चीन अपना होने का दावा करता है। साउथ कोरिया, नॉर्थ कोरिया से भी चीन का भूमि को लेकर विवाद हैं। रूस के 1 लाख 60 हजार वर्ग किलोमीटर भूमि पर चीन दावा ठोक कर विवाद खड़ा करता है। कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजकिस्तान, कंबोडिया, लाओस, इंडोनेशिया, मलयेशिया, सिंगापुर सहित सभी पड़ोसी देशों के साथ अन्यायकारी दावों के साथ उसने भूमि पर कब्जा किया है और करने की कोशिश कर रहा है। इसलिए प्रधानमंत्री मोदी चीन को विस्तारवादी न कहें तो क्या कहें।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :

राम मंदिर भूमि पूजन LIVE
ayodhya, ram mandir bhumi pujan, ram mandir, ayodhya bhumi pujan, pm modi, अयोध्या, अयोध्या भूमि पूजन, राम मंदिर, राम मंदिर भूमि पूजन, रामलला, भगवान राम, पीएम मोदी, योगी आदित्यनाथ , Nation News, Samay Live ayodhya, ram mandir bhumi pujan, ram mandir, ayodhya bhumi pujan, pm modi, अयोध्या, अयोध्या भूमि पूजन, राम मंदिर, राम मंदिर भूमि पूजन, रामलला, भगवान राम, पीएम मोदी, योगी आदित्यनाथ , Nation News, Samay Live
13:16 IST: अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन की प्रक्रिया पूरी हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इस पूजा में संघ प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे।
12:24 IST: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 साल बाद आज श्रीरामजन्मभूमि परिसर में रामलला विराजमन के दर्शन किए और रामलला को दंडवत प्रणाम किया।
11:51 IST: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हुमानगढ़ी में बजरंगबली के दर्शन किए। मुख्यमंत्री योगी ने भी लिया बजरंगबली का आशीर्वाद।
अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें

फ़ोटो गैलरी
प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला रखी, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला रखी, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया


 

172.31.21.212