Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

06 Apr 2020 06:00:15 AM IST
Last Updated : 06 Apr 2020 06:02:04 AM IST

क्वारंटाइन : धार्मिक स्थलों का हो इस्तेमाल

रिजवान अंसारी
क्वारंटाइन : धार्मिक स्थलों का हो इस्तेमाल
क्वारंटाइन : धार्मिक स्थलों का हो इस्तेमाल

किसी भी मुहिम या किसी भी लड़ाई की सफलता के लिए यह जरूरी होता है कि प्रत्येक धरातल पर उसको समर्थन मिले। समर्थन किस प्रकार का हो, यह उस मुहिम की प्रकृति पर निर्भर करता है।

कोरोना वायरस को मात देने की मुहिम को भी कई तरह के समर्थन की दरकार है। लेकिन, देशभर में अफवाहों का बाजार गर्म होने से इस मुहिम की राह में कई अड़चनें आ रही हैं। अफवाहों का ही नतीजा है कि लोग या तो इस बीमारी को छुपाने की कोशिश कर रहे हैं, या फिर क्वारंटाइन में रखे गए लोग वहां से भागने की कोशिश कर रहे हैं। कई ऐसी खबरें आई हैं, जब जांच के लिए हॉस्पिटल लाए गए संदिग्ध भाग खड़े हुए हैं। 
रांची के रिम्स से 29 संदिग्धों के भाग जाने की खबर आई थी। इसी तरह, इंदौर के एक इलाके में कोरोना की जांच के लिए गए स्वास्थ्यकर्मिंयों पर लोगों ने पत्थर बरसा दिए। ऐसे में सरकार के माथे पर चिंता की लकीरें खिंचनी तय हैं। लेकिन, सवाल यह है कि लोग अपनी ही जान के दुश्मन क्यों बन रहे हैं? दरअसल, सोशल मीडिया और स्थानीय स्तर पर फैली अफवाह की घटनाओं की मुख्य वजहें हैं। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है, जिसमें क्वारंटाइन के नाम पर लोगों के दिल में खौफ पैदा किया जा रहा है।
संदिग्धों को दो हफ्ते अलग-थलग रखे जाने पर जान का खतरा बताया जा रहा है। लिहाजा, वे क्वारंटाइन को इलाज की प्रक्रिया का हिस्सा न समझ कर खुद के किसी हिरासत में चले जाने जैसा समझ रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि सरकार कुछ ऐसी कवायद करे जिससे न सिर्फ  लोगों में भय का माहौल खत्म हो, बल्कि अफवाह फैलाने वालों की भी कमर टूट जाए।
दरअसल, अस्पतालों में जगह की कमी के कारण लोगों को दूसरे सरकारी या निजी भवनों में क्वारंटाइन किया जा रहा है। चूंकि ये कोई अस्पताल नहीं हैं, इसलिए कुछ लोग ऐसे भवनों में रखे जाने को सुरक्षित नहीं समझ रहे हैं। यही कारण है कि वे इन अफवाहों के चंगुल में फंस रहे हैं। ऐसे में किसी अन्य जगह के बरक्स धार्मिंक स्थलों में संदिग्धों को क्वारंटाइन किया जाना एक बेहतर उपाय हो सकता है। इस व्यवस्था के तहत जो संदिग्ध जिस समुदाय से ताल्लुक रखते हों, उनको उसी समुदाय के भवनों, मसलन-मस्जिद, धर्मशाला, गुरु द्वारा आदि में क्वारंटाइन किया जा सकता है।

इसके दो फायदे सीधे तौर पर दिख रहे हैं। पहला, इससे लोगों के मन में व्याप्त भय खत्म होगा। यह व्यवस्था सुनिश्चित करने में कारगर होगी कि उनके साथ कुछ भी गलत नहीं होगा। दूसरा, इस व्यवस्था से क्वारंटाइन से जुड़ी अफवाहों को रोकना आसान हो जाएगा। इसमें धर्म को आधार बना कर अफवाह फैलाने वालों पर भी लगाम लगेगी। इसके और भी फायदे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, क्वारंटाइन में रखे जाने वाले लोगों में मानसिक बीमारी के बढ़ने का भी खतरा है। अलग-थलग रखे जाने से लोग साइकोलॉजिकल फोबिया या मानसिक भय का शिकार हो सकते हैं। इससे लोगों में डिप्रेशन के लक्षण भी आ सकतेंहैं। ऐसा न हो, इसके लिए जरूरी है कि क्वारंटाइन में रखे गए लोगों का ध्यान बंटा रहे। जाहिर है, जब वे अपने धर्म-स्थलों में रहेंगे तो खाली समय में पूजा-पाठ भी करेंगे। ऐसे में न केवल उनका मन लगा रहेगा, बल्कि उनमें एक प्रकार का विास भी जगेगा। क्वारंटाइन के प्रति भय खत्म होने से एक फायदा यह भी होगा कि वे लोग भी आसानी से सामने आने की हिम्मत करेंगे जो अब तक छुपते रहे हैं।
समझना होगा कि किसी एक समस्या का भी सुलझ जाना कई राहें खोल देता है। संदिग्धों का सामने आना इतना महत्त्वपूर्ण है कि इससे कोरोना के खिलाफ मुहिम की भावी रणनीतियां तैयार की जा सकती हैं। सरकार और एजेंसियों को सही तस्वीर का पता न होना, मुहिम को कमजोर कर देने जैसा है। जब तक सरकारों से मामले छुपाए जाएंगे, न दशा का पता चलेगा और न दिशा ही हम तय कर पाएंगे। मामले छुपाने की प्रवृत्ति खत्म होगी तो कोरोना पीड़ितों का एक डेटाबेस तैयार हो सकेगा। इस खतरनाक वायरस से पीड़ित हो रहे लोगों के उन तरीकों का पता चलेगा जिनसे वे प्रभावित हुए होंगे। फिर, उन पीड़ितों की प्रकृति और दूसरे आयामों का भी पता चलेगा। इन कवायदों का फायदा यह भी है कि पीड़ितों को उनके नजदीक के धार्मिंक स्थलों में क्वारंटाइन करने से सरकारी खर्च में कमी आएगी। इससे कोरोना के खिलाफ सरकार की मुहिम को बल मिलेगा। वक्त की मांग है कि ऐसे समय में सरकारी मुहिम को चारों दिशाओं से मजबूती मिले।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

'रंगीला' से 'लाल सिंह चड्ढा' तक: कार्टूनिस्ट के कैलेंडर में आमिर खान के किरदार

PICS: आप का

PICS: आप का 'छोटा मफलरमैन', यूजर्स को हुआ प्यार

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

Oscars 2020:

Oscars 2020: 'पैरासाइट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, वाकिन फिनिक्स और रेने ने जीता बेस्ट एक्टर्स का खिताब

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

Bigg Boss 13: एक्स कंटेस्टेंट मधुरिमा तुली ने नई तस्वीरों से चौंकाया

Bigg Boss 13: एक्स कंटेस्टेंट मधुरिमा तुली ने नई तस्वीरों से चौंकाया

PICS: दिल्ली में कई दिग्गज नेताओं ने डाला वोट

PICS: दिल्ली में कई दिग्गज नेताओं ने डाला वोट


 

172.31.21.212