Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

26 Jan 2020 04:24:35 AM IST
Last Updated : 26 Jan 2020 04:27:01 AM IST

मीडिया : सांस्कृतिक राजनीति

सुधीश पचौरी
मीडिया : सांस्कृतिक राजनीति
मीडिया : सांस्कृतिक राजनीति

एक मुस्लिम नेता ने कहा कि ‘हलवा’ अरबी भाषा का शब्द है। वे सीएए के खिलाफ बोल रहे थे और इतिहास में मुसलमानों के योगदान पर जोर दे रहे थे।

अगले रोज भाजपा के एक नेता ने कह दिया कि मेरे यहां कुछ मजदूर काम करते थे। मैंने एक दिन उनको एक साथ पोहा खाते देखा। उनके खाने के ढंग से मैं पहचान गया कि वे बांग्लादेशी मुसलमान हैं। हमारे कई चैनलों ने अपने प्राइम टाइम में इसे ‘हलवा बरक्स पोहा’ की बहस में बदल दिया। देर तक ‘हिंदू-मुसलमान’ करते-कराते रहे।
उसी दिन सीएए के विरोध में भाषण देते हुए एक अन्य मुस्लिम नेता ने कह दिया कि हमने यहां आठ सौ साल हुकुमरानी और जांबाजी की है..। इसके जवाब में भाजपा के एक प्रवक्ता ने कह दिया कि हां, हमें मालूम है कि आपके बाप-दादों ने अपनी लैलाओं के लिए ताजमहल बनवाए हैं..। फिर एक मुस्लिम युवा नेता ने अलीगढ़ में कह दिया कि हमारी कौम के सब्र को देखा। हम उस कौम से हैं, जो अपनी सी पर आ गए तो सब कुछ बर्बाद करके रख देंगे। मुल्क के टुकड़े-टुकड़े कर देंगे लेकिन नहीं करेंगे..। जब एक चैनल ने इस युवक को बुलाकर चरचा की तो एंकर ने इस युवक को ‘देशद्रोही’ कहकर उसे ‘अरेस्ट’ करने की मांग तक कर डाली और उसे फटकारता हुआ कहता रहा कि तू तोड़ेगा मेरे देश को! बता कैसे तोड़ेगा? बता कैसे तोड़ेगा? फिर भाजपा के एक युवा नेता की धमकी आई कि आप अगर शाहीन बाग बनाओगे, चांद बाग बनाओगे या इंदल्रोक बनाओगे तो आठ फरवरी को दिल्ली के लोग हिंदुस्तान बनाएंगे..।

हमारे खबर चैनल इन दिनों ऐसे ही धार्मिक व भावनात्मक मुद्दों को बड़ी खबर बनाने के आदी हैं। जिस तरह से एक दल अरसे से ‘सांस्कृतिक राजनीति’ करने में लगा है, लगभग उस के समानांतर हमारे कई चैनल भी ‘सांस्कृतिक राजनीति’ का निर्माण करते रहते हैं। सांस्कृतिक राजनीति भावों को जगाने, उनको उत्तेजित करने और उसी तरह के उन्मद-व्यवहार को करने की राजनीति है। तथ्य, तर्क और विचार करना यहां हेय माने जाता है। जब बजट आता है, तब अवश्य हमारे चैनल एक-दो दिन ठोस आर्थिक खबर बनाते हैं लेकिन अगर कहीं कोई उत्तेजक ‘हेट कथा’ मिल जाती है, तो उसे जम के बताते हैं। ‘इन दिनों जो एंकर व चैनल दर्शकों की भावनाओं को जितना ही अधिक तिकितिकाते व उत्तेजित करते हैं, अपनी ‘रेटिंग्स’ बढ़ाने में वे उतने ही सफल होते हैं।
जीडीपी गिरने, बेरोजगारी या मंदी जैसी  समस्याएं हमारे एंकरों का ध्यान अधिक नहीं खींचतीं क्योंकि ऐसे मुद्दे गहन सोच-विचार करने और उनके उपाय सोचने को विवश करते हैं। ‘सांस्कृतिक राजनीति’ के भड़काऊ मुद्दे सामान्य मानवीय मुद्दों तक को भुलवा देते हैं। जैसे दिल्ली के मंडी हाउस के सतराहे पर कुछ दिनों पहले हुए रेलवे सेवाओं में चयनित विकलांगों के लंबे धरने को याद करें जिसके जरिए वे रेलवे प्रशासन से नौकरी ज्वॉइन करने-कराने की मांग कर रहे थे। एकाध चैनल को छोड़कर किसी ने भी विकलांगों के उत्पीड़न की इस कहानी को अपना मुद्दा नहीं बनाया क्योंकि इन विकलांगों की यह कष्ट-कथा किसी को ‘उत्तेजित’ करने वाली नहीं थी। उनको देख हमें ‘हमदर्दी’ महसूस होती और अधिक मानवीय बनने को उद्यत होते।
लेकिन तब ‘हेट’ की ‘सांस्कृतिक राजनीति’ कैसे बिकती और घृणा के बढ़ते मार्केट का क्या होता? माना कि सीएए, एनआरसी का विरोध एक बड़ी खबर है, लेकिन जिस तरह से कुछ तत्व उसे हिंदू बरक्स मुस्लिम बनाए दे रहे हैं, उसी तरह हमारे चैनल भी उसे हिंदू-मुस्लिम बनाने-बताने में लगे हैं। राजनीतिक दल या उनके नेता भावनात्मक सांस्कृतिक राजनीति करें तो समझ में आता है, लेकिन अगर एंकर और चैनलों की भाषा भी वैसी ही सांस्कृतिक राजनीति करने लगे तो दलों व मीडिया में क्या फर्क रहेगा?
मीडिया की भाषा भावनात्मक या उत्तेजनात्मक नहीं हो सकती। हड़काऊ-भड़काऊ नहीं हो सकती, बल्कि विश्लेषणात्मक तथ्य-सम्मत और तर्कसंगत ही हो सकती है। लेकिन इन दिनों तो हमारे कई एंकर व कई रिपोर्टर तक ऐसी उत्तेजक व भावोन्मादी भाषा बोलने लगते हैं। अगर आप उत्तेजना की दुकान लगाएंगे तो अन्य उन्मादी तत्व अपने उन्मादी माल को भी आपके लिए बनाएंगे ताकि आप उसे बेच सकें और इस तरह आप ध्रुवीकरण का मंच बन जाएं।
जब मीडिया ही ‘भावोत्तेजक सांस्कृतिक राजनीति’ का औजार बन जाएगा तो क्या वह मीडिया रह जाएगा?


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह


 

172.31.21.212