Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

15 Dec 2019 03:07:54 AM IST
Last Updated : 15 Dec 2019 03:12:06 AM IST

वैश्विकी : नया बनेगा ब्रिटेन !

डॉ. दिलीप चौबे
वैश्विकी : नया बनेगा ब्रिटेन !
वैश्विकी : नया बनेगा ब्रिटेन !

ब्रिटेन के चुनाव में वैसे तो सबसे बड़ा मुद्दा यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने (ब्रेक्जिट) का था। लेकिन कुछ विश्लेषकों ने इस पर भारतीय राजनीति की छाया देखते हुए इसे ‘कश्मीर चुनाव’ की संज्ञा दी है।

इसका कारण यह है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने और भारतीय संसद में नागरिक संशोधन विधेयक पारित होने की गूंज ब्रिटेन में भी सुनाई दी। ब्रिटेन में भारतीय उपमहाद्वीप के देशों भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोगों की काफी संख्या है। मोदी सरकार द्वारा कश्मीर पर उठाए गए कदमों का ब्रिटिश मुस्लिम समुदाय ने व्यापक विरोध किया। पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी एजेंसियों के जरिए वहां भारत विरोधी भावनाएं भड़काई। पहले से सक्रिय कश्मीरी अलगाववादी और खालिस्तानी तत्वों ने भारतीय उच्चायोग पर विरोध प्रदर्शन किया जिसमें हिंसा और तोड़फोड़ भी हुई। भारतीय उपमहाद्वीप की राजनीति का असर दिखाई दिया। उस घटनाक्रम ने इस क्षेत्र के साथ अन्य मतदाताओं पर भी असर डाला।

ब्रिटेन के भारतीय मतदाता आम तौर पर वामपंथी रुझान वाली लेबर पार्टी के समर्थक माने जाते हैं, लेकिन कश्मीर संबंधी घटनाक्रम के कारण इन मतदाताओं का झुकाव कंजरवेटिव पार्टी की ओर हो गया। अनेक सीटों पर इंडियन वोटर्स की भूमिका निर्णायक सिद्ध हुई और इसका फायदा बोरिस जॉनसन को हुआ। कश्मीर मुद्दे ने ब्रिटेन में मुस्लिम समुदाय के बारे में व्याप्त विरोध की भावना को भी और मजबूत किया। बोरिस जॉनसन मुस्लिम समुदाय और उनकी तहजीब पर पहले ही आपत्तिजनक टिप्पणियां कर चुके हैं। उन्होंने बुर्काधारी मुस्लिम महिलाओं को लेटरबॉक्स की संज्ञा देकर उपहास उड़ाया था। वास्तव में ब्रिटेन में यह धारणा मजबूत हो रही है कि वहां रहने वाला मुस्लिम समुदाय राष्ट्रीय मुख्यधारा में शामिल होने की बजाय अपना पृथक अस्तित्व और पहचान बनाए हुए है। मुस्लिम धार्मिक नेताओं का रूढ़िवादी मजहबी नेतृत्व ब्रिटेन में शरियत कानून बनाने लगा है।

देश में कई नगर और आवासीय इलाके  ऐसे हैं, जहां लाहौर और ढाका जैसा नजारा देखने को मिलता है। हाल के वर्षों में ब्रिटेन में कोई बड़ी आतंकी वारदात नहीं हुई है, लेकिन छिटपुट जेहादी वारदात हुई हैं। इसके बावजूद जनता का एक बड़ा वर्ग आगामी दशकों में होने वाले धार्मिक-सांस्कृतिक बदलावों को लेकर चिंतित है। मुस्लिम समुदाय के बारे में इस खराब छवि का असर चुनाव परिणामों पर भी पड़ा। वोट के पूर्व जॉनसन ने ‘हिंदू कार्ड’खेला और अपनी जीवन साथी कैरी साइमंड्स के साथ मंदिरों में गए। उनका संदेश था कि जिस तरह हिंदू समुदाय मजहबी असहिष्णुता व उत्पीड़न का शिकार बना है,वैसा ही ब्रिटेन के लोगों के साथ हो सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप भी जॉनसन की तरह इस्लामोफोबिया की बात करते हैं। लिहाजा, कुछ बुद्धिजीवियों ने बोरिस की जीत को मजहबी अल्पसंख्यकों के लिए काला दिन बताया है।

जॉनसन की जीत का तात्कालिक परिणाम यह होगा कि ब्रिटेन करीब पचास वर्षों से चले आ रहे यूरोपीय संघ से संबंध तोड़ लेगा। ब्रेक्जिट के बाद ब्रिटेन में यूरोपीय देशों से आने-जाने वाले लोगों पर नजर रखी जाएगी। और उन्हें नियंत्रित किया जाएगा। इसका सबसे बड़ा असर मुस्लिम समुदाय के लोगों पर होगा। आने वाले दिनों में हो सकता है कि सरकार मुस्लिम धार्मिक एवं शैक्षणिक संस्थाओं के बारे में नये नियम बनाए तथा कट्टरवादी मजहबी नेताओं के पल्राप को रोकने के लिए नये नियम बनाए। इस बदलाव का एक असर देश की एकता पर भी पड़ेगा। संयुक्त ब्रिटेन की एक इकाई स्कॉटलैंड में पृथक देश की मांग काफी वर्षों से चल रही है। मुख्यधारा की राजनीति के मजबूत होने के कारण इस पृथकतावाद पर रोक लगी हुई थी। अब यह रोक उतनी प्रभावशाली नहीं होगी। स्कॉटलैंड में राष्ट्रवादी स्कॉटिश नेशनलिस्ट पार्टी को जबरदस्त सफलता मिली है। यह हो सकता है कि यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने के साथ ही स्कॉटलैंड  संयुक्त ब्रिटेन से अलग हो जाए।

ब्रिटेन का संविधान अलिखित है, और वहां  प्रधानमंत्री को असाधारण अधिकार हासिल हैं। अमेरिका और अन्य यूरोपीय देशों की तरह वहां प्रधानमंत्री और सत्ताधारी दल को काबू में रखने के लिए पर्याप्त नियंत्रणकारी व्यवस्था नहीं है। बोरिस अनुमान से परे ऐसे बहुत से कदम उठा सकते हैं। यही कारण है कि बहुत से समीक्षक उनकी जीत को ब्रिटेन में अधिनायकवाद की शुरुआत बता रहे हैं।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा


 

172.31.21.212