Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

17 May 2019 01:38:35 AM IST
Last Updated : 17 May 2019 01:41:14 AM IST

सामयिक : निर्विवाद मारक उग्रवादी

राजेंद्र शर्मा
सामयिक : निर्विवाद मारक उग्रवादी
सामयिक : निर्विवाद मारक उग्रवादी

प्रसिद्ध पत्रिका ‘टाइम’ के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘डिवाइडर इन चीफ’ करार देने के एकदम उपयुक्त होने का ताजातरीन सबूत तमिलनाडु से आया है।

केसरिया पलटन और उसके धर्म-संस्कृति के नाम पर राजनीति के तरह-तरह के अभियानों से दूर और काफी हद तक अछूते रहे इस दक्षिणी राज्य में भी, मोदी के राज के पांच साल बाद और उससे भी बढ़कर 2019 के आम चुनाव के लिए मोदी-शाह की भाजपा के अभियान के आखिर तक आते-आते, ठीक वही उग्र, बहुसंख्यकवादी सांप्रदायिक भाषा सुनाई देने लगी है, जो पिछले पांच साल में हिंदी पट्टी में और पश्चिमी भारत समेत देश दूसरे कई हिस्सों में, पहले ही आम हो गई थी।
तमिलनाडु सरकार के दुग्ध और डेयरी विकास मंत्री, राजेंद्र बालाजी ने सोमवार को बाकायदा एक बयान जारी कर कहा कि जाने-माने फिल्मकार और राज्य में नयी-नयी बनी पार्टी एमएनएम के संस्थापक, कमल हासन की ‘जीभ काट लेनी चाहिए’! हासन का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने गांधी की प्रतिमा के सामने खड़े होकर, केसरिया पलटन को नागवार यह सच दोहराने की जुर्रत की थी कि, ‘स्वतंत्र भारत का पहला उग्रवादी हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। वहीं से इसकी ‘उग्रवाद’ की शुरुआत हुई।’ गोडसे से स्वतंत्र भारत में उग्रवाद/आतंकवाद की शुरुआत होने पर भले बहस हो सकती हो, पर इसका स्वतंत्र भारत का सबसे चर्चित और मारक उग्रवादी हमला होना निर्विवाद है। बहरहाल, गौर करने वाली बात यह है कि इस सचाई का जिक्र करते ही, कमल हासन केसरिया पलटन के तीखे हमले के ही निशाने पर नहीं आ गए हैं, तमिलनाडु में मोदी-शाह की भाजपा की नयी सहयोगी बनी, सत्ताधारी अन्नाद्रमुक के नेताओं ने उनके लिए, अगुआ मारक दस्ते की भूमिका ही संभाल ली है।

इस संदर्भ में यह याद दिलाना भी जरूरी है कि 2019 के आम चुनाव के अपने लंबे प्रचार अभियान में खुद नरेन्द्र मोदी ने यह सरासर बेतुका दावा कर के कि ‘हिंदू आतंकवादी हो ही नहीं सकता है, हजारों साल के इतिहास में हिंदुओं ने कभी हिंसा नहीं की’, गोडसेओं की धार्मिक पहचान के सवाल को बहस के बीच लाकर खड़ा कर दिया है। इसके बाद, उनके यह मांग करने का कोई औचित्य ही नहीं रह जाता है कि गोडसे जैसों की धार्मिक पहचान का जिक्र नहीं किया जाना चाहिए या आतंक/उग्रवाद का कोई धर्म नहीं होता है! बेशक, आतंकवाद/ उग्रवाद का कोई धर्म नहीं होता है, लेकिन इसके बावजूद धर्मनिरपेक्ष भारत का प्रधानमंत्री यह साबित करने पर क्यों तुला हुआ है कि एक हिंदू ही हैं, जो आतंकवादी नहीं हो सकते हैं। यानी दूसरे धर्म वाले ही आतंकवादी हो सकते हैं! कहने की जरूरत नहीं है कि मोदी-शाह की भाजपा के लिए और आमतौर पर संघ परिवार के लिए, कभी भी यह धर्म का आतंकवाद/ उग्रवाद के साथ संबंध होने न होने का अकादमिक सवाल नहीं था।
मोदी के राज के पांच साल में सोचे-समझे तरीके से और एनआइए समेत तमाम सरकारी एजेंसियों और शासन के अधिकारों का खुल्लमखुल्ला दुरुपयोग करते हुए, भगवा आतंक के उस ताने-बाने को बेदाग छुड़वाने की कोशिश की गई है, जिसने नयी सदी के पहले दशक में समझौता ट्रेन विस्फोट समेत, खासतौर पर मुस्लिम उपस्थिति/पूजा स्थलों को निशाना बनाकर किए गए करीब आधा दर्जन आतंकवादी हमलों को अंजाम दिया था और जिसके तार आगे चलकर, नरेन्द्र दाभोलकर, पानसरे, कलबुर्गी और गौरी लंकेश जैसे स्वतंत्रचेता बुद्धिजीवियों की हत्या से जुड़ जाते हैं।
आरएसएस के लिए इन्हें आतंकवाद के आरोपों से बेदाग साबित कराना कोई इसीलिए जरूरी नहीं था कि इससे हिंदू धर्म की बदनामी होती थी बल्कि इसलिए और भी जरूरी था कि इससे, भारत में खासतौर पर मुसलमानों को आतंकवाद का पर्याय बनाने की उनकी मुहिम में बाधा पड़ती थी, जबकि यह मुहिम धर्मनिरपेक्ष, जनतांत्रिक भारत की जगह ‘हिंदू राष्ट्र’ को कायम करने के उनके प्रोजेक्ट का, नयी सदी का सबसे कारगर हथियार है। मोदी ने इस अभियान को कई कदम आगे ले जाते हुए, इस तथ्य को अपने बहुसंख्यकवादी सांप्रदायिक अभियान का महत्त्वपूर्ण हथियार ही बना दिया कि उनकी सरकार से पहले की जांचों में, भगवा आतंकवादी ताने-बाने का सच सामने आया था। इस हिंदुत्ववादी आतंकी ताने-बाने के सरगनाओं में से एक, असीमानंद को समझौता एक्सप्रेस कांड में सबूतों के अभाव में अदालत द्वारा बरी किए जाने के बहाने से प्रधानमंत्री ने, चुनावी प्रचार का एक पैना सांप्रदायिक हथियार ही गढ़ लिया।
खासतौर पर महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार की शुरुआत ही उन्होंने अपने राजनीतिक विरोधियों को इस आधार पर हिंदू विरोधी ठहराने से की कि उन्होंने, ‘भगवा आतंक’ की बात कहकर हिंदुओं को बदनाम किया था और वह भी अल्पसंख्यकों का तुष्टीकरण करने के लिए। इसी के दूसरे हिस्से के तौर पर उन्होंने ‘हिंदू कभी आतंकवादी नहीं हो सकता’ का दावा कर, खुद को और भाजपा-आरएसएस को हिंदुओं का इकलौता हितरक्षक दिखाने की कोशिश की। और फिर आतंकवाद की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर को प्रतिष्ठा के मुकाबले के लिए भोपाल से लोक सभा उम्मीदवार बना दिया। जाहिर है कि मोदी-शाह ही भाजपा के इस खुल्लम-खुल्ला सांप्रदायिक चुनावी खेल का विस्तार, सिर्फ तमिलनाडु तक ही सीमित नहीं रहा है। इस खेल का ऐसा ही विस्तार, प. बंगाल में भी देखा जा सकता है, जहां खुद मोदी और शाह के नेतृत्व में ‘जय श्री राम’ की पुकार को, चुनावी युद्ध घोष बना दिया गया है।
बंगाल में, किसी जमाने में गठबंधन की सहयोगी रही भाजपा और तृणमूल कांग्रेस, बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक सांप्रदायिकता के हथियारों से, प्रकटत: जबर्दस्त लड़ाई का अभिनय करती हुई, वास्तव में एक-दूसरे की मदद ही कर रही हैं। इस तरह वे दोनों आजादी के बाद से सचेत रूप से सांप्रदायिक गोलबंदियों से काफी दूर चले गए इस राज्य में, धर्मनिरपेक्ष राजनीति की ताकतों की जमीन सिकोड़ने की ही कोशिशों में लगी हुई हैं। दूसरी तरफ एनडीए से बाहर की पार्टियों को ही नहीं, खुद एनडीए में शामिल सहयोगी पार्टियों को भी इसका बखूबी एहसास है कि मोदी-शाह की भाजपा चरित्र ही तानाशाहाना है, जो वास्तविक गठबंधन की गुंजाइश ही नहीं छोड़ता है।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

'रंगीला' से 'लाल सिंह चड्ढा' तक: कार्टूनिस्ट के कैलेंडर में आमिर खान के किरदार

PICS: आप का

PICS: आप का 'छोटा मफलरमैन', यूजर्स को हुआ प्यार

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

Oscars 2020:

Oscars 2020: 'पैरासाइट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, वाकिन फिनिक्स और रेने ने जीता बेस्ट एक्टर्स का खिताब

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास


 

172.31.21.212