Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

22 Jan 2023 09:41:44 AM IST
Last Updated : 22 Jan 2023 09:43:58 AM IST

मिलिए कश्मीर के स्व-शिक्षित अमूर्त कलाकार से, जो लीफ पोट्रेट बनाता है

मिलिए कश्मीर के स्व-शिक्षित अमूर्त कलाकार से, जो लीफ पोट्रेट बनाता है

हर गुजरते दिन के साथ जम्मू और कश्मीर के कलाकार स्थानीय और साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन जारी रखते हैं, जिससे युवा पीढ़ी को कला के प्रति प्रेरणा मिले।

चाहे वह कला हो, खेल हो, शिक्षा हो, लेखन हो, या प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करना हो, कश्मीर के युवाओं ने उड़ते रंगों के साथ उत्कृष्टता हासिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

कश्मीर के अन्य कलाकारों में, कुलगाम जिले के कुलपोरा गांव के मुदासिर रहमान डार हर गुजरते दिन के साथ कला में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहे हैं, क्योंकि इस प्रसिद्ध स्व-शिक्षित सार ने कभी उम्मीद नहीं खोई, और रचनात्मक पेंटिंग, स्केच बनाकर बचपन से ही अपनी कलाकृति को वितरित करना जारी रखा।

कला के क्षेत्र में अन्य असाधारण कार्यो के अलावा, डार को एक अंगूठी और एक पत्ते पर पवित्र कब्बा की सबसे छोटी पेंटिंग बनाने के लिए जाना जाता है, जबकि उनके काम को विश्व स्तर पर प्रदर्शित किया गया है।

विभिन्न संगठनों ने अब तक इस युवा कलाकार की मेहनत को प्रोत्साहित किया है, जिसके बाद कई साल पहले उन्हें कई बार, विशेष रूप से जिला प्रशासन कुलगाम द्वारा सम्मानित किया गया है।

डार का कहना है कि कला के अन्य सभी पहलुओं पर परफॉर्म करने के बाद अब उन्होंने कुछ अलग करने के लिए लीफ पोट्रेट बनाना शुरू किया।

उन्होंने आगे कहा, "अलग-अलग कलाकारों की अलग-अलग शैली होती है, और मैंने अपनी विशिष्ट पहचान के लिए हमेशा अलग होने का विकल्प चुना, जिसके लिए लोग मुझे बहुत अच्छी तरह से जानते हैं।"



अपने द्वारा किए गए लीफ पोट्रेट आर्टवर्क के बारे में विस्तार से बताते हुए डार कहते हैं कि लीफ पोट्रेट बनाकर वह हरियाली को बढ़ावा देना चाहते थे और पेड़ों के महत्व और प्रदूषण को नियंत्रित करने में उनकी भूमिका पर प्रकाश डालना चाहते थे।

उनका यह भी कहना है कि लीफ आर्ट के जरिए वह अलमा इकबाल, महात्मा गांधी, रवींद्र नाथ टैगोर, ए.पी.जे. अबुल कलाम, और अब प्रसिद्ध क्रिकेटरों शाहिद अफरीदी, विराट कोहली और अन्य के चित्र बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

2020 में कला और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए डार को पुरस्कार मिला, जबकि वह समय-समय पर अपनी उत्कृष्ट कलाकृति के लिए कई प्रमाण पत्र प्राप्त करने में सफल रहे।

युवा कलाकार का मानना है कि इच्छुक कलाकारों को जुनूनी और पेशेवर कलाकार बनने के लिए कड़ी मेहनत सुनिश्चित करके सभी बाधाओं को पार करना चाहिए, जबकि उनका यह भी मानना था कि घाटी में कलाकारों के लिए एक अच्छा मंच उपलब्ध कराया जाना चाहिए।


आईएएनएस
श्रीनगर
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 


फ़ोटो गैलरी

 

172.31.21.212