Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

26 Oct 2019 12:37:13 PM IST
Last Updated : 26 Oct 2019 01:14:29 PM IST

मुगलों का भी दिल अजीज रहा है रोशनी का त्योहार

वार्ता
प्रयागराज
मुगलों का भी दिल अजीज रहा है रोशनी का त्योहार

धर्म के नाम पर समाज को बांटने की फितरत भले ही कुछ कट्टरपंथियों और सांप्रदायिक ताकतों में आज भी कायम है लेकिन इतिहास गवाह है कि मुगलकालीन दौर में ज्यादातर बादशाह न सिर्फ रोशनी का त्योहार पूरी शिद्दत से मनाते थे बल्कि कुछ शंहशाह तो बाकायदा लक्ष्मी पूजन कर गंगा जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल पेश करते थे।

धर्म के नाम पर समाज को बांटने की फितरत भले ही कुछ कट्टरपंथियों और सांप्रदायिक ताकतों में आज भी कायम है लेकिन इतिहास गवाह है कि मुगलकालीन दौर में ज्यादातर बादशाह न सिर्फ रोशनी का त्योहार पूरी शिद्दत से मनाते थे बल्कि कुछ शंहशाह तो बाकायदा लक्ष्मी पूजन कर गंगा जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल पेश करते थे।

इतिहासकारों के मुताबिक हिंदुओं की तरह मुगल बादशाह भी लक्ष्मी-गणेश पूजन कर धूमधाम से दिवाली मनाते थे। इस दौरान गरीबों को उपहार बांटते थे। आतिशबाजी का आनंद लेने के बाद शहर में निकलकर रोशनी का लुत्फ उठाते थे। वे इस पर्व को कौमी एकता त्यौहार के रूप में मनाते थे।

मुगलों का शासन बाबर (1526) से लेकर बहादुर शाह द्वितीय (1857) तक रहा। इतिहासकारों के अनुसार मु्गल बादशाहों में औरंगजेब को छोड़कर लगभग सभी ने कभी मजहब के साथ सियासत का घालमेल नहीं किया। उन्होने अपनी हुकूमत से हमेशा उदारवादी तौर तरीके अपनाए। उनकी हुकूमत के दौरान धर्मिक स्वतंत्रता अपना धर्म पालन तक सीमित नहीं थी बल्कि उन्होने एक ऐसा माहौल तैयार किया जिसमें सभी धर्मों को मनाने वाले एक दूसरे के त्यौहारों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते थे,दीवाली उनमें से एक प्रमुख था।

मुगलकाल में दीवाली पर्व पर एक अलग प्रकार की रौनक होती थी। इसे केवल हिन्दू पर्व नहीं अपितु कौमी त्यौहार के रूप में धूमधाम से मानाया जाता था। मुगल काल में जिस उत्साह से हिंदू-मुस्लिम एक दूसरे के त्यौहारों पर मेल- मिलाप कर भाईचारे, सांप्रदायिक एवं धार्मिक सौहार्द का परिचय देकर मनाते थे, अब उसकी खासी कमी दिखाई देती है। मुगल बादशाह बाबर ने इस त्यौहार को ‘‘एक खुशी का मौका’’ के रूप में मान्यता प्रदान किया था। वे इस त्यौहार को जोश-ओ-खरोश से मनाते थे। इस दिन पूरे महल को दुल्हन की तरह सजा कर कई पंक्तियों में हजारों की संख्या में मिट्टी के दीप प्रज्वलित किये जाते थे। शहंशाह अपनी गरीब रियाया में नये वस, मिठाइयां और उपहार बांटते थे।

बाबर के उत्तराधिकारी हुमांयू ने इस परंपरा को केवल बरकरार ही नहीं रखा बल्कि इसे और बढ़ावा देने के साथ हर्षोल्लास के साथ मनाते भी थे। इस अवसर पर वह लक्ष्मी के साथ अन्य देवी-देवताओं की विधि-विधान से पूजा अर्चना करवाते थे। तत्कालीन ऐतिहासिक पुस्तकों, इतिहासकार, साहित्यकार और समीक्षकों ने मुगल शासकों के बारे में दीवाली और लक्ष्मी पूजन का वर्णन किया है।

अकबर के नौ रत्नों में से एक अबुल फजल ने अपनी पुस्तक‘‘आइना-ए-अकबरी’’ में अकबर के दीवाली मनाने का विस्तृत जिक्र किया है। पुस्तक में लिखा है ‘‘अकबर ने अग्नि और प्रकाश की पूजा करना धर्मिक कर्तव्य मानते थे। इसे नजरंदाज करने वाले एक तरह सर्वशक्तिमान ईश्वर को विस्मृत करते हैं।’’उर्दू के नामचीन साहित्यकार ख्वाजा हसन निजामी ने अपनी अमर कृति ‘‘मुगल दरबार के रोजनामचा से’’में दीवाली को धूमधाम से मनाने का जिक्र किया है।

यूरोपियन ट्रेवलर्स की किताबों में किलों के रहन-सहन के जिक्र में जश्न-ए-चराग़ा (दीवाली) का जिक्र प्रमुख रूप से है। इंग्लैंड के यात्री एन्ड्रयू ने ‘‘जकाउल्लाह आफ दिल्ली’’ नामक पुस्तक में दिवाली के बारे में विस्तृत रूप से लिखा है। उर्दू के एक अन्य साहित्यकार शहिद अहमद देहलवी ने ‘‘मेरी दिल्ली’’नामक पुस्तक में बहादुरशाह जफर द्वारा विधि- विधान से दीवाली पूजन और मनाने का जिक्र किया है। ‘‘तुजुक-ए-जहांगीर’’ नामक पुस्तक में जहांगीर काल की दीवाली का वर्णन किया गया है। जहांगीर रात में अपनी बेगम के साथ आतिशबाजी का मजा लेने भी निकलते थे ।

शहंशाहों में हुमांयू,बेटा बाबर, जलालुद्दीन अकबर, शाहजहां और मुगल सम्राज्य के आखिरी बादशाह बहादुर शाह जफर द्वितीय के दौर में महल में दीवाली की रात लक्ष्मी पूजन का कई प्राचीन पुस्तकों में जिक्र मिलता है। इस मौके पर शाही पंडित महालक्ष्मी देवी के साथ अन्य देवी देवताओं का भी पूजन करवाते थे। सम्राट बहादुर शाह जफर को उनके शाही पुजारी निश्चित समय पर लक्ष्मी की मूर्ति को लेकर लाल किले के दीवान-ए- खास में आते थे जहां सम्राट विधि-विधान से लक्ष्मी पूजन करते थे। उसके बाद पंडित को दक्षिणा दी जाती थी।

हुमायूं की दिलचस्पी हिन्दू परंपरा तुलादान में भी थी। वह स्वयं तुला दान करते थे। उसके बाद बादशाह जफर भी तुला दान करते थे। उन्हें सात किस्म के अनाजों से और दूसरी बार चांदी के सिक्कों से तौल कर गरीबों में बांट दिया जाता था।

इतिहास के पन्नों में दर्ज है कि शहंशाह अकबर के शासनकाल में पूरे देश के अंदर ‘‘गंगा-जमुनी तहजीब’’ और परवान चढ़ी। उनके शासनकाल में दीवाली जश्न की शुरूआत आगरा से की गयी थी। बादशाह शाहजहां जितनी शान-ओ-शौकत से ईद मनाते थे ठीक उसी तरह दीवाली पर्व भी मनाते थे। दीवाली पर पूरा किला रोशनी में जगमगाने लगता था। किले के अंदर स्थित मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की जाती थी। इस मौके पर शाहजहां अपने दरबारियों, सैनिकों और अपनी रिआया में मिठाई बंटवाते थे।

अबुल फजल ने ‘आईना-ए-अकबरी‘ में लिखा है कि अकबर दिवाली की सांझ अपने पूरे  राज्य में मुंडेरों पर दीये प्रज्वलित करवाते। महल की सबसे लंबी मीनार पर बीस गज लंबे बांस पर कंदील लटकाए जाते थे। यही नहीं, महल में पूजा दरबार आयोजित किया जाता था।

बौद्ध विद्वान राहुल सांस्कृतायन ने अकबर की जीवनी में लिखा है,‘‘ वह दशहरा उत्सव बड़े ही शान-ओ-शौकत से मनाता।’’ दीवाली की रात लाल किले और शाही महलों को बेहतरीन ढंग से सजाया जाता था और उन पर मिट्टी के दीपकों को प्रज्वलित किया जाता था जिससे पूरी किले और महलों की दीवार झिलमिलाने लगती थी। पूजन के बाद सम्राट अपने शाही हाथी पर सवार होकर आतिशबाजी और रोशनी का लुत्फ उठाने निकलते थे।

 


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

'रंगीला' से 'लाल सिंह चड्ढा' तक: कार्टूनिस्ट के कैलेंडर में आमिर खान के किरदार

PICS: आप का

PICS: आप का 'छोटा मफलरमैन', यूजर्स को हुआ प्यार

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

Oscars 2020:

Oscars 2020: 'पैरासाइट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, वाकिन फिनिक्स और रेने ने जीता बेस्ट एक्टर्स का खिताब

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास


 

172.31.21.212