Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

18 Oct 2020 12:44:55 AM IST
Last Updated : 18 Oct 2020 12:48:13 AM IST

वैश्विकी : अस्थिरता के अगले दौर में

वैश्विकी : अस्थिरता के अगले दौर में
अस्थिरता के अगले दौर में

पाकिस्तान राजनीतिक अस्थिरता की ओर बढ़ रहा है तथा प्रधानमंत्री इमरान खान की गद्दी डांवाडोल है।

यह घटनाक्रम आश्चर्यजनक है क्योंकि इमरान खान एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनके पीछे देश की सेना  और खुफिया एजेंसी आईएसआई खड़ी है। स्वयं इमरान भी यह दावा करते हैं कि निर्वाचित सरकार सहित पूरा सत्ता प्रतिष्ठान एक साथ है। वास्तव में उनका यह दावा और जमीनी हकीकत उनकी मुसीबत का कारण बन गई है।
एक ऐसे समय जब इमरान खान के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को बहुत कमजोर माना जा रहा था, देश में इमरान के विरुद्ध एक जनआंदोलन की शुरुआत हो गई है। पाकिस्तान के लगभग सभी विपक्षी दल ‘पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट’ (पीडीएम) के परचम के नीचे एकत्र हो गए हैं। इस विरोध आंदोलन का पहला बड़ा आयोजन बीते शुक्रवार को गुजरांवाला में हुआ। मध्य रात्रि के बाद तक चला यह जलसा सत्ता प्रतिष्ठान के लिए बड़ा सिरदर्द साबित हो सकता है। लंदन में निर्वासित मुस्लिम लीग के शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने जलसे को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित किया। मंच पर सभी बड़े विपक्षी दलों के नेता मौजूद थे। शरीफ ने जलसे में जो भाषण दिया वह असाधारण और अभूतपूर्व था। उन्होंने इमरान खान की बजाय सेनाध्यक्ष जनरल बाजवा और आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज को निशाना बनाया। किसी मौजूदा सेनाध्यक्ष या आईएसआई प्रमुख पर किसी बड़े राजनीतिक नेता द्वारा सीधे प्रहार करने का यह पहला मौका था। उन्होंने सेना को निर्वाचित सरकारों को अपदस्थ करने का ही नहीं बल्कि देश में महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी और अभाव का दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा को पाकिस्तान की आवाम की दुर्दशा और उनकी आंसूओं का जवाब देना होगा।

पूर्व प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान की नये सत्ता समीकरण के बारे में कहा कि आज सेना और आईएसआई लोकतांत्रिक सत्ता प्रतिष्ठान से ऊपर हो गई है तथा देश का हर क्रियाकलाप उसके कहने और उसकी मर्जी से होते हैं। इमरान खान तो बस सेना केंद्रित इस सत्ता प्रतिष्ठान की कठपुतली मात्र हैं। आमतौर पर पाकिस्तान में विपक्षी दलों की रणनीति यह रहती है कि वे सेना से कहें कि राजनीतिक रस्साकशी और विरोध आंदोलन के समय वह तटस्थ रहे। देश के सभी राजनीतिक दल पाकिस्तान की रक्षा नीति और विदेश नीति में सेना की निर्णायक भूमिका को स्वीकार करते हैं। उन्हें इस बात का भी अहसास है कि विभिन्न जातीय समूहों वाले प्रांतों के बीच एकता कायम करने का बड़ा आधार सेना है।
हाल के वर्षो में सेना का महत्त्व इसलिए भी बढ़ गया है कि पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार है तथा परमाणु कमान सेना के हाथ में है। नवाज शरीफ ने यह भी कहा कि जो राजनीतिक नेता सेना की दखलंदाजी का विरोध करता है, उसे गद्दार करार दिया जाता है। वास्तव में गद्दारी का अपराध तो 1971 में सेना ने किया था, जिसके कारण बांग्लादेश की स्थापना के रूप में पाकिस्तान का विभाजन हुआ। पीडीएम के अन्य नेताओं ने भी इमरान के इन आरोपों को खारिज किया कि उनका आंदोलन भारत को मजबूती देगा। इस परिप्रेक्ष्य में शरीफ का संबोधन एक बड़ा जोखिम माना जा सकता है। दुनिया के लिए पाकिस्तान में राजनीतिक अस्थिरता से बड़ा सवाल यह होगा कि परमाणु हथियारों का जखीरा किसी अविसनीय प्रतिष्ठान के हवाले होने से रोका जाए।
गुजरांवाला जलसे की सफलता के बाद पीडीएम के अगले जलसे कराची, क्वेटा, पेशावर, मुल्तान और लाहौर में आयोजित होने हैं। देश में इमरान विरोधी हवा कितना दम पकड़ती है, यह इन जलसों से साबित होगा।
फिलहाल इमरान ही नहीं बल्कि जनरल बाजवा के सामने जन आक्रोश को समझने और उसे शांत करने की चुनौती होगी। सेना के सामने भी यह दुविधा होगी कि वह शरीफ सहित विपक्षी नेताओं को अपना रुख नरम करने के लिए जनरल बाजवा और आईएसआई प्रमुख की कुर्बानी देने के लिए तैयार है या नहीं। पीडीएम के सामने झुकने से सेना की विसनीयता और छवि पर असर पड़ेगा, लेकिन यह भी साफ है कि किसी भी देश की सेना अपने आवाम से नहीं लड़ सकती।


डॉ. दिलीप चौबे
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की 'लव स्टोरी' का ट्रेलर जारी

भारत जीता ओवल टेस्ट

भारत जीता ओवल टेस्ट

दिल्ली हुई पानी-पानी

दिल्ली हुई पानी-पानी

स्कूल चलें हम

स्कूल चलें हम

शहनाज का बोल्ड अंदाज

शहनाज का बोल्ड अंदाज

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

जश्न मनाती टीम इंडिया

जश्न मनाती टीम इंडिया

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

सोने सी चमकती मलाइका

सोने सी चमकती मलाइका

कंगना का बॉलीवुड

कंगना का बॉलीवुड

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

हिमाचल में भूस्खलन

हिमाचल में भूस्खलन

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार


 

172.31.21.212