Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

02 Apr 2020 01:12:13 AM IST
Last Updated : 02 Apr 2020 01:14:14 AM IST

कोरोना : सतर्कता, सहजता, सदाचार

आचार्य पवन त्रिपाठी
कोरोना : सतर्कता, सहजता, सदाचार
कोरोना : सतर्कता, सहजता, सदाचार

मानव के समक्ष अनादि काल से ही शुभ और अशुभ की घड़ी आती रही है। इसमें शुभ से तो कोई समस्या नहीं रही है। बवाल की सारी जड़ें अशुभ के ही गर्भ से निकलती रही हैं।

जब हम अशुभ के प्रकार पर ध्यान देते हैं, तो हमारे समक्ष इसके दो भेद मिलते हैं। इनमें पहला प्राकृतिक अशुभ और दूसरा नैतिक अशुभ है। प्राकृतिक अशुभ में भूकंप, बाढ़, अकाल, सूखा, मृत्यु, रोग-महामारी, हिंसक पशु और अज्ञानता आदि का समावेश है अर्थात प्रकृति में ऐसे तत्वों का भी समावेश है, जो मनुष्य और अन्य जीव जगत के लिए दुखदायी हैं। इसके आलावा, मनुष्य के खुद के अनैतिक कृत्य (असत्य, हिंसा, चोरी, मनमाना आचरण आदि) दुख के कारण हैं। 
कुछ दिन पहले से देश-दुनिया में व्याप्त अशुभ लक्षण ‘कोरोना’ के संबंध में ज्योतिष के अनुसार कारण, समस्या और समाधान के लिए विवेचना प्रस्तुत की जाती रही हैं। लेकिन दरम्यान कोरोना के संबंध में तरह-तरह  की भ्रांतियां फैलाई गई हैं। इनका निराकरण चिकित्सा विज्ञान के तहत करते हुए बचाव के सहज उपाय बताने का यहां संवाद शैली में प्रयास किया गया है। सबसे पहले सवाल तो यही है कि कोरोना का अर्थ क्या है? इसका प्रादुर्भाव कैसे हुआ और चिकित्सा विज्ञान के अनुसार इसकी व्याख्या क्या है?

कोरोना शब्द न तो चीनी भाषा का है और न ही अंग्रेजी भाषा का है। यह नामकरण राजाओं के ताज की आकृति ‘क्राउन’ (लैटिन शब्द) से हुआ है। जैसे ताज का ऊपरी हिस्सा कंटीला दिखाई देता है, वैसे ही कोरोना की आकृति कांटेदार दिखाई देती है। कोरोना एक वायरस (जीवाणु) है यानी यह बीमारी का नाम नही है। दिलचस्प तथ्य यह है कि इस वायरस का प्रादुर्भाव उस समय हुआ जब चीन के वुहान शहर के निकट एक जंगली गांव में वर्षो पहले एक चमगादड़ के जरिए लोगों को संक्रमित होते देखा गया था। यहीं से लोग संक्रमित होते चले गए और कोरोना विव्यापी बना। इसे किसी प्रयोगशाला में विकसित नहीं किया गया है। यह वायरस कुदरती है, और अशुभ है। एक सवाल यह है कि कोरोना किस देश में नहीं  फैलेगा? जवाब में कह सकते हैं कि जहां मानव समुदाय है, वहां यह अपने पैर जमा सकता है। पूछा जा रहा है कि क्या गर्मी का मौसम आने पर कोरोना जल जाएगा? कह सकते हैं कि ऐसी उम्मीद नहीं रखनी चाहिए। कारण, कोरोना जीवाणु को जलाने के लिए 55 अंश सेंटीग्रेट तापमान की जरूरत होती है। भारत में अधिकतम तापमान 51अंश सेंटीग्रेट का रिकॉर्ड  केवल राजस्थान में है। इसलिए हमें किसी भुलावे में नहीं रहना है और न दुष्प्रचार करना चाहिए। एक विवाद कोरोना से प्रभावित होने के मामले में उम्र को लेकर है। बता दें कि दस साल से कम उम्र के बच्चों और साठ साल से ज्यादा उम्र के लोगों को जल्दी प्रभावित करता है। कोई युवा है, या पहलवान है, या ताकतवर है तो भी कोरोना उसे चपेट में ले सकता है। 
मांसाहार लेने वाले भी अपनी डफली अलग बजा रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि उच्च तापमान पर मांस और अंडे का सेवन करने पर रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ सकती है। बेहतरी इसमें है कि महीने भर मांसाहार बंद कर दें। उधर, मदिरा सेवन करने वाले ललकार रहे हैं कि कोरोना के वायरस को मदिरा (इथाइल/ आइसप्रोपाइल अल्कोहल) नष्ट कर देगी। यह भी अर्धसत्य है। कारण, 70 प्रतिशत अल्कोहल से कोरोना को नष्ट किया जा सकता है। मदिरा सेवन से शरीर में मात्र 8 से 40 प्रतिशत अल्कोहल शरीर में जाता है। इसलिए कोरोना के प्रकोप से बचने में मदिरा सहायक नहीं है। उलटपक्षी मदिरा सेवन से रोग प्रतिकार क्षमता घटती है। महत्त्वपूर्ण प्रश्न यह है कि कोरोना से पीड़ित होने के लक्षण क्या हैं? इसके लक्षण हैं-1) बुखार; 2) सर्दी; 3) सांस लेने में परेशानी; तथा 4) थकावट के साथ सूखी खांसी। यदि ऐसा है तो सचेत हो जाएं और डॉक्टर से संपर्क करें। यह भी ध्यान रखना है कि अपनों और पराये से दूरी बनाएं रखें अन्यथा उनके नाक और मुंह से निकले द्रव बूंद आपको परेशानी में डाल सकती हैं। एक संक्रमित कम से कम 2/3 लोगों को प्रभावित कर सकता है। कुल मिलाकर आग्रह यही है कि अपने पूर्वाग्रहों को बिसार दें और सतर्कता, सहजता और सदाचार का मार्ग अपनाएं। कोरोना जीवाणु की उम्र की जहां तक बात है, तो कोरोना जीवाणु की उम्र अलग-अलग परिस्थितियों में अलग-अलग होती है। अब आनाकानी छोड़ कर हम सबको देशप्रेम से ही नाता जोड़े रहना चाहिए। इस समय भारत ही नहीं, बल्कि सम्पूर्ण विश्व ‘कोरोना’ नामक इस जानलेवा वायरस के प्रकोप से पीड़ित है। सटीक दवा नहीं होने के कारण हर तरफ कोहराम मचा है। हर देश की सरकार अपने संसाधनों के बल पर कोरोना का मुकाबला कर रही है। कहने की जरूरत नहीं है कि भारत जैसे सघन आबादी घनत्व वाले देश में कोरोना का मुकाबला करना काफी कठिन काम है। लेकिन मुश्किल देखकर हथियार डाल देने में तो कोई छुटकारा मिल जाने जैसी बात नहीं है। हमें पूरे प्राणपण से इसका मुकाबला करना होगा। यही कारण है कि देश में हर स्तर पर इस नामुराद संक्रमण से मुकाबला जारी है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र के नाम दिए अपने संदेश में कोरोना वायरस को मात देने के लिए बीजमंत्र दिया है। उन्होंने हर नागरिक से 21 दिन तक आवास-वास या कह सकते हैं कि एकांतवास में रहने की अपील की है। प्रधानमंत्री मोदी की इस अपील का हर नागरिक आदर करते हुए इस दौरान योग, व्यायाम, अपने-अपने धार्मिंक  संदेशों के अनुसार अपनी रुचि के अनुसार अपना समय व्यतीत कर अपने परिवार में नई ऊर्जा का संचार कर सकता है।
महत्त्वपूर्ण बात यह है कि  21 दिन तक अपने घर में रह कर कोरोना से संघर्ष कर हम अपनी ही नहीं, बल्कि अनेक लोगों की भी प्राण रक्षा भी करेंगे। हम सब का कर्त्तव्य पालन आने वाली पीढ़ियों के लिए आदर्श के रूप में इतिहास में दर्ज हो जाएगा। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए सभी नागरिक अपने पूर्वाग्रह का त्याग करें, आनाकानी को छोड़ें और देश प्रेम का इजहार करें। यही देशवासियों के लिए श्रेयस्कर होगा।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

मेरे भीतर एक मॉडल छिपी हुई है: करीना

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

PICS: मौनी रॉय की छुट्टियों की तस्वीर हुई वायरल

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

लैक्मे फैशन वीक में जाह्नवी और विक्की कौशल ने रैम्प वॉक किया

'रंगीला' से 'लाल सिंह चड्ढा' तक: कार्टूनिस्ट के कैलेंडर में आमिर खान के किरदार

PICS: आप का

PICS: आप का 'छोटा मफलरमैन', यूजर्स को हुआ प्यार

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: ढोल नगाड़ों से गूंज रहा है ‘AAP’ कार्यालय

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

PICS: जिम लुक की चर्चा से मायूस हैं जान्हवी कपूर, बोलीं...

Oscars 2020:

Oscars 2020: 'पैरासाइट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, वाकिन फिनिक्स और रेने ने जीता बेस्ट एक्टर्स का खिताब

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

PICS: मारुती ने ऑटो एक्सपो में नई Suzuki Jimny की दिखाई झलक, जानें क्या है खास

Bigg Boss 13: एक्स कंटेस्टेंट मधुरिमा तुली ने नई तस्वीरों से चौंकाया

Bigg Boss 13: एक्स कंटेस्टेंट मधुरिमा तुली ने नई तस्वीरों से चौंकाया

PICS: दिल्ली में कई दिग्गज नेताओं ने डाला वोट

PICS: दिल्ली में कई दिग्गज नेताओं ने डाला वोट


 

172.31.21.212