Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

08 Jan 2012 10:46:26 AM IST
Last Updated : 08 Jan 2012 10:46:26 AM IST

बीजेपी के धुरंधरों की डगर नहीं आसान

बीजेपी के धुरंधरों की डगर नहीं आसान

उत्तर प्रदेश के चुनावी मैदान में यूं तो बीजेपी के कई दिग्गज खम ठोंक रहे हैं, लेकिन इनमें से कुछ ऐसे भी हैं जिनकी डगर आसान नहीं दिख रही है.

प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही, विधानमंडल दल के नेता ओमप्रकाश सिंह और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी ऐसे नेताओं में हैं जिन्हें अपनी जीत के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ रहा है.

ओमप्रकाश सिंह जहां मिर्जापुर की चुनार विधानसभा सीट से लगातार चार बार से विजेता बने हुए हैं, वहीं शाही पिछले दो चुनावों से हार का सामना कर रहे हैं. शाही के सामने 'करो या मरो' की स्थिति होगी तो पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी की मुश्किलें भी कम नहीं हैं. पार्टी ने इस बार उन्हें महाराजगंज की सिसवा विधानसभा सीट से मैदान में उतारा है.

प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद चुनाव में जीत हासिल करना शाही के लिए प्रतिष्ठा का विषय बन गया है. कसया विधानसभा सीट से वह दो बार हार चुके हैं और इस बार परिसीमन के बाद बनी नई सीट पथरदेवा से वह अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. विकास के लिहाज से पिछड़े इस क्षेत्र में विरोधियों के निशाने पर शाही ही हैं.

यह सीट परिसीमन के बाद उभरी है और शाही के सामने नए प्रतिद्वंद्वी भी हैं. शाही का मुकाबला इस बार सपा प्रत्याशी और पूर्व मंत्री शाकिर अली, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के संजय सिंह और कांग्रस के नियाज खान के बीच होगी.

कसया, गौरीबाजार और देवरिया सदर विधानसभा क्षेत्रों को काटकर बने पथरदेवा विधानसभा क्षेत्र में तीन लाख 21 हजार मतदाता शाही की किस्मत का फैसला करेंगे. पिछले चुनावों में शाही के प्रमुख प्रतिद्वंद्वी सपा के ब्रह्मशंकर त्रिपाठी रहे हैं.

बीजेपी विधानमंडल दल के नेता ओमप्रकाश सिंह की स्थिति शाही से एकदम उलट है. शाही जहां लगातार दो बार से हार का स्वाद चखने के बाद दबाव में हैं, वहीं दूसरी ओर ओमप्रकाश सिंह वर्ष 1993 से लेकर 2007 तक लगातार चार बार मिर्जापुर की चुनार विधानसभा क्षेत्र से अपना परचम लहराते रहे हैं.

चुनार विधानसभा क्षेत्र कुर्मी बहुल होने की वजह से बीजेपी, सपा, कांग्रेस एवं बसपा ने यहां से इसी बिरादरी के उम्मीदवार को मैदान में उतारा है.

ओमप्रकाश सिंह के सियासी दुर्ग में चुनावी जंग पटेलों में ही होगी, लेकिन इस सीट पर निर्णायक भूमिका 30 हजार बियार और 25 हजार सवर्ण मतदाता निभाएंगे.

इस बार उनके मुकाबले में बसपा के घोषित प्रत्याशी घनश्याम पटेल हैं. घनश्याम यदि बसपा का परम्परागत वोट बैंक हासिल करने में कामयाब हुए तो इस सीट पर परिणाम चौंकाने वाले आ सकते हैं.

सपा ने अपने पुराने चेहरे जगतंबा पटेल को ही मैदान में उतारा है और पिछले चुनाव में उन्होंने सिंह को कड़ी टक्कर दी थी. वह करीब 3500 मतों के अंतर से ही पीछे रहे थे.

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय कार्य समिति के सदस्य रमापति राम त्रिपाठी के आने से महाराजगंज की सिसवा विधानसभा सीट भी वीआईपी सीटों में शामिल हो गई है.

पिछले विधानसभा चुनाव में यहां से भाजपा के उम्मीदवार महंत दूबे चुनाव जीते थे, लेकिन पार्टी ने इस बार त्रिपाठी पर दांव लगाया है. माना जा रहा है कि भाजपा की गढ़ माने जाने वाली इस विधानसभा सीट से प्रदेश के अगली कतार के इस नेता की नैया पार कराने के लिए खाली कराई गई है.

बहरहाल त्रिपाठी की राह आसान नहीं है, क्योंकि समाजवादी पार्टी (सपा) ने पूर्व मंत्री शिवेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है. पिछली बार वह सपा के टिकट पर ही चुनाव हार गए थे.

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार को जहां 51206 वोट मिले थे, वहीं दूसरे नम्बर पर सपा के उम्मीदवार शिवेंद्र थे, जिन्हें 43835 वोट मिले थे.


 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
कान्स 2022: दीपिका का रेड कार्पेट लुक

कान्स 2022: दीपिका का रेड कार्पेट लुक

केदारनाथ: बाबा केदार के खुले कपाट, उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

केदारनाथ: बाबा केदार के खुले कपाट, उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

युद्ध में खंडहर बना यूक्रेन

युद्ध में खंडहर बना यूक्रेन

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 29 पुरावशेष लौटाए, पीएम मोदी ने किया निरीक्षण, देखें तस्वीरें

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 29 पुरावशेष लौटाए, पीएम मोदी ने किया निरीक्षण, देखें तस्वीरें

रूस यूक्रेन युद्ध में तबाही

रूस यूक्रेन युद्ध में तबाही

यूरोप एक बार फिर युद्ध की दहलीज पर

यूरोप एक बार फिर युद्ध की दहलीज पर

नहीं रहीं भारत की स्वर कोकिला

नहीं रहीं भारत की स्वर कोकिला

73वां गणतंत्र दिवस समारोह : गणतंत्र दिवस पर देखें राजपथ का भव्य नजारा

73वां गणतंत्र दिवस समारोह : गणतंत्र दिवस पर देखें राजपथ का भव्य नजारा

तस्वीरों में देखें- कहीं पोंगल, कहीं खिचड़ी तो कहीं है मकर संक्रांति

तस्वीरों में देखें- कहीं पोंगल, कहीं खिचड़ी तो कहीं है मकर संक्रांति

दिल्ली में लगा 55 घंटे का कर्फ्यू, सड़कें हुईं वीरान

दिल्ली में लगा 55 घंटे का कर्फ्यू, सड़कें हुईं वीरान

आज से 15 से 18 साल के बच्चों को टीकाकरण, देखिए देशभर से तस्वीरें

आज से 15 से 18 साल के बच्चों को टीकाकरण, देखिए देशभर से तस्वीरें

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़

प्रयागराज में पीएम मोदी

प्रयागराज में पीएम मोदी

ड्रोन मेगा शो में दिखी अमर शहीद नायकों की गाथा

ड्रोन मेगा शो में दिखी अमर शहीद नायकों की गाथा

कैटरीना-विक्की ने शेयर की खूबसूरत तस्वीरें

कैटरीना-विक्की ने शेयर की खूबसूरत तस्वीरें

सीएम योगी संग आधी रात

सीएम योगी संग आधी रात 'काशी दर्शन' करने निकले PM मोदी

इतिहास के नाम काशीधाम

इतिहास के नाम काशीधाम

शुरू हुई किसानों की घर वापसी

शुरू हुई किसानों की घर वापसी

हेलीकॉप्टर दुर्घटना : योद्धाओं के शोक में पूरा देश

हेलीकॉप्टर दुर्घटना : योद्धाओं के शोक में पूरा देश

तेजस्वी ने रचाई एलेक्सिस से शादी

तेजस्वी ने रचाई एलेक्सिस से शादी

कैटरीना एवं विक्की बंधे बंधन में

कैटरीना एवं विक्की बंधे बंधन में

भारत-रूस की अटूट दोस्ती

भारत-रूस की अटूट दोस्ती

दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का अनावरण

दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का अनावरण

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की 'लव स्टोरी' का ट्रेलर जारी

भारत जीता ओवल टेस्ट

भारत जीता ओवल टेस्ट

दिल्ली हुई पानी-पानी

दिल्ली हुई पानी-पानी

स्कूल चलें हम

स्कूल चलें हम

शहनाज का बोल्ड अंदाज

शहनाज का बोल्ड अंदाज

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी


 

172.31.21.212