Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

07 Jul 2020 12:53:26 PM IST
Last Updated : 07 Jul 2020 01:09:28 PM IST

आखिर किस बात का संकेत है बार-बार भूकंप आना, क्या छोटे झटके बड़े भूकंप के हैं संकेत?

ज्योति सिंह
आखिर किस बात का संकेत है बार-बार भूकंप आना, क्या छोटे झटके बड़े भूकंप के हैं संकेत?

पिछले डे़ढ़ माह के अंदर दिल्ली एनसीआर में 10 से ज्यादा बार भूकंप के झटके आ चुके हैं।

दिल्ली–एनसीआर में शुक्रवार शाम के बाद रविवार को पूर्वोत्तर भारत में भी एक बार फिर भूकंप के झटके फिर महसूस किए गए। शुक्रवार को आए भूकंप की रिएक्टर स्केल पर तीव्रता 4.7 थी और केंद्र राजस्थान का अलवर जिला था। भूकंप के झटके दिल्ली समेत नोएडा‚ फरीदाबाद और गाजियाबाद में भी महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र 35 किलोमीटर गहराई में था। अच्छी बात ये है कि इन झटकों से अभी तक किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। ॥

पिछले डे़ढ़ माह के अंदर दिल्ली एनसीआर में 10 से ज्यादा बार भूकंप के झटके आ चुके हैं। वाडि़या इंस्टीट्यूट आफ हिमालयन जियोलॉजी के निदेशक कलाचंद सैन के अनुसार ये झटके किसी बड़े़ भूकंप की वजह बन सकते हैं। भूवैज्ञानिकों ने चेताया है कि अगर इस क्षेत्र में कोई बड़़ा भूंकप आया तो यह बड़़ी तबाही ला सकता है। इसको देखते हुए नेशनल डि़जास्टर मैनेजमेंट को इस संभावी आपदा से कैसे निपटना है‚ इसकी तैयारी पहले से ही करनी होगी। इसमें भी बचाव सबसे महत्वपूर्ण है।

जापान जैसे देश जो अक्सर ज्यादा तीव्रता वाले भूकंपों का सामना करते रहते हैं‚ उन्होंने बचाव के उपायों पर ही ज्यादा ध्यान दिया और करना ही श्रेयस्कर है। नेशनल सेंटर ऑफ सिस्मोलॉजी के चीफ जीएल गौतम के मुताबिक‚ वैसे भूकंप‚ जिनकी तीव्रता 4.0 से कम होती है‚ उनसे नुकसान की आशंका बेहद कम या न के बराबर होती है। यह हल्की एडजेस्टमेंट का नतीजा होते हैं जो खतरनाक नहीं होते। ॥

क्यों आते हैं भूकंपः भूवैज्ञानियों के अनुसार धरती के भीतर सात प्लेटें हैं जो समय–समय पर विस्थापित होती रहती हैं। इन प्लेटों को टैक्टॉनिक्स कहते हैं। भारत इंड़ो एशियन प्लेट पर टिका है। यह प्लेट लगातार यूरेशियन प्लेट से टकरा रही है। इनके टकराने से हिमालयी‚ हिंदूकुश क्षेत्र प्रभावित होने के साथ फाल्ट लाइन प्रभावित होने से इनमें सक्रियता बढ़ जाती है। दिल्ली और हरियाणा के पास पांच फाल्ट रिज लाइन हैं। इनमें से जब दो प्लेटों के जोड़़ में हलचल होती है तो रिज क्षेत्र में अंतर बढ़ता है। इससे भूकंप आने के आसार बन जाते हैं। फाल्ट लाइन लिक्विड़ पर तैरती रहती हैं। फाल्ट लाइन में दरारें भी होती हैं। जब भी प्लेट टकराती हैं तो लिक्विड़ पर तैरने वाली फाल्ट लाइन में हलचल होने लगती है। कुछ महीने बाद यह हलचल शांत हो जाती

ऐसे मापते हैं भूकंप की तीव्रताः
भूकंप की तीव्रता और अवधि जानने के लिए सिस्मोग्राफ का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए धरती में होने वाली हलचल का ग्राफ बनाया जाता है जिसे सिस्मोग्राम कहते हैं। इस यंत्र के आधार पर रिक्टर स्केल के जरिए भूकंप की तरंगों की तीव्रता‚ भूकंप का केंद्र और इससे निकलने वाली ऊर्जा का पता लगाया जाता है। सिस्मोग्राफ का एक हिस्सा ऐसा होता है जो भूकंप आने पर भी नहीं हिलता है और अन्य हिस्से हिलने लगते हैं। जो हिस्सा नहीं हिलता है वो भूकंप की तीव्रता को रिकॉर्ड करता रहता है।

भूंकप के केंद्र और तीव्रता का क्या मतलब हैः भूकंप का केंद्र वह स्थान होता है जिसके ठीक नीचे प्लेटों में हलचल से भूगर्भीय ऊर्जा निकलती है। इस स्थान पर भूकंप का कंपन ज्यादा होता है। जैसे जैसे कंपन की आवृत्ति दूर होती जाती हैं‚ इसका प्रभाव कम होता जाता है। फिर भी यदि रिक्टर स्केल पर 7 या इससे अधिक की तीव्रता वाला भूकंप है तो आसपास के 40 किमी के दायरे में झटका तेज होता है। लेकिन यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि भूकंपीय आवृत्ति ऊपर की तरफ है या दायरे में।

भूकंप की केंद्र की गहराई भी उसके प्रभाव को प्रभावित करती है। यदि भूकंप का केंद्र 20 किमी या इससे ज्यादा गहराई पर है तो यह कम नुकसान करता है। यदि इसका केंद्र 4 वा 5 किमी की गहराई पर है और उसकी तीव्रता 7 के आसपास है तो यह ज्यादा विनाशकारी हो सकता है।

चार जोन में बांटा गया है भारतः राजधानी दिल्ली में भूकंप के झटके आने के पीछे वैज्ञानिकों ने कई कारण बताए गए हैं। मैक्रो सेस्मिक जोनिंग मैपिंग के अनुसार‚ भारत को 4 जोन में बांटा गया है। ये जोन हैं जोन 2‚ जोन 3‚ जोन 4 और जोन 5 हैं।

इन सभी में जोन 5 को सबसे ज्यादा संवेदनशील माना जाता है और जोन–2 सबसे कम संवेदनशील। जोन–5 ऐसा क्षेत्र है जहां भूकंप आने की आशंका सबसे ज्यादा है और जोन–2 ऐसा क्षेत्र है जहां भूकंप आने की आशंका सबसे कम होती है॥।

जानें दिल्ली किस जोन में शामिलः दिल्ली में भूंकप के खतरे को देखते हुए इसे जोन तीन से जोन चार में शिफ्ट कर दिया गया। राजधानी दिल्ली और उसके आसपास का इलाका जोन 4 में आता है। ये वो जोन है जहां 7.9 तीव्रता तक का भूकंप आ सकता है। इस जोन में दिल्ली–एनसीआर‚ जम्मू–कश्मीर‚ हिमाचल प्रदेश‚ उत्तर–प्रदेश‚ बिहार और बंगाल का कुछ इलाका आता है।

पूर्वानुमान संभव नहीं: भूकंप के पूर्वानुमान की वैज्ञानिक तकनीक दुनिया के किसी भी देश के पास नहीं है। दरअसल‚ धरती के भीतर क्या चल रहा है‚ इसकी स्कैनिंग करने की कोई पुख्ता तकनीक अब तक विकसित नहीं की जा सकी है। जापान जैसा देश भी इसमें कामयाब नहीं हो सका है। हालांकि भूकंप का सामना करने वाले समाज में इस तरह की धारणाएं रही हैं कि कुत्ते‚ चूहे‚ मेंढ़क और अन्य कई जानवरों को इसका पहले वे आभास हो जाता है।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त


 

172.31.21.212