Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

13 Nov 2018 12:17:26 AM IST
Last Updated : 13 Nov 2018 12:18:42 AM IST

छठ : स्वच्छता और सहभागिता का महापर्व

अजीत दूबे
छठ : स्वच्छता और सहभागिता का महापर्व
छठ : स्वच्छता और सहभागिता का महापर्व

ऐसे समय में जब विचारों की नदी ही सूखने की कगार पर हो, जहां हृदय की जमीन प्रतिक्रियावादी हिंसा की उर्वर जमीन होती जा रही हो, वहां दान, त्याग, सेवा और सद्भाव के संदेश को संप्रेषित करने वाला पर्व छठ घोर अंधेरे में दीप की तरह है।

यह पर्व हमें स्वच्छता, समानता, सौहार्द एवं सहभागिता का महत्त्वपूर्ण संदेश देता है। इस पर्व के प्रति पूरबियों की भक्ति, आसक्ति और समर्पण को देखना अद्भुत है।
लोक आस्था का यह महापर्व प्रकृति का पर्व है। इसे हर जाति के लोग, राजा-रंक सब, एक ही घाट पर इकट्ठा होकर श्रद्धा और  विश्वास के साथ मनाते हैं। व्रत को बिना भेदभाव स्त्री-पुरु ष, विधवा-सुहागन सभी करते हैं।  छठ के मधुर लोकगीतों की एक विशिष्ट और पवित्र सांगीतिक लहर है। छठ गीत के ज्यादातर गीत भोजपुरी में ही मिलते हैं। छठ पूजा क्या है, इसकी खासियत क्या है, इसमें ऐसा क्या होता है, जिसने पूरी दुनिया में इसे मशहूर किया। इसे समझने के लिए लोककंठ में बसे छठ गीतों को सुनना चाहिए। छठ पर्व, छठ या षष्ठी पूजा कार्तिक शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाने वाला सनातन पर्व है।

सूर्योपासना का यह अनुपम लोक पर्व मुख्य रूप से पूर्वी भारत के बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और नेपाल के तराई क्षेत्रों में श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। छठव्रती कमर भर जल में खड़े होकर सूर्य का ध्यान करते हैं। ऐसा करना जल-चिकित्सा में ‘कटिस्नान’ के नाम से जाना जाता है। नदी-तालाब और अन्य जलाशयों के जल में देर तक खड़े रहने से शरीर के कई चर्म रोगों का निदान हो जाता है। वहीं इसका दूसरा पहलु यह है कि साल में ऋतु परिवर्तन के संधि का काल यानी चैत और कार्तिक महीने में यह पर्व मनाया जाता है। चार दिवसीय पर्वव्रतियों को ऊर्जा से भर देता है। 
भोजपुरिया संस्कृति के प्रतीक महापर्व ‘छठ’ में एक ओर जहां लोकमन की सहजता है, तो दूसरी ओर वैज्ञानिकता को सबल करने वाली आस्था भी है। तथ्य है कि इस धरा पर शात ऊर्जा का स्त्रोत सूर्य ही है, जिससे धरती पर वनस्पति और जीव-जंतुओं को ऊर्जा मिलती है। सूर्य की किरणों विटामिन-डी की स्त्रोत भी हैं। कई चिकित्सकीय शोध में ऐसा साबित हुआ है कि सूर्योदय के सूर्य को देखने से आंख की ज्योति ठीक रहती है। दरअसल, छठ पर्यावरण संरक्षण, रोग-निवारण और अनुशासन का पर्व है। इसका उल्लेख वैदिक ग्रंथों में मिलता है। आज मुंबई के जूहू बीच पर लाखों की संख्या में छठव्रर्ती अघ्र्य देते हैं। मुंबई में करीब 30 लाख की संख्या में बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग रहते हैं। जूहू तट पर मुंबई और उपनगरीय क्षेत्रों से जुटने वाले करीब 5 लाख लोगों मौजूदगी से आस्था के इस महासमुद्र की चमक भव्यता का स्वरूप धारण कर लेती है। भोजपुरी अंचल में कहा जाता है कि कोई परदेशी कहीं रहे लेकिन छठ में अपने गांव-घर जरूर चला आता है। ऐसा कहना सही भी है वरना दिल्ली, मुंबई, लुधियाना, सूरत, कोलकाता, चेन्नई जैसे महानगरों से भोजपुरीभाषी जिलों की ओर आने वाली ट्रेनें इतनी भरी नहीं होतीं। 
कहना न होगा कि प्रवासी भोजपुरियों की सांस्कृतिक पहचान से जुड़े इस पर्व के प्रति गैर-भोजपुरिया समाज में आस्था का भाव आज न सिर्फ  देश के अन्य भू-भागों में, बल्कि विदेशों में भी देखा जा रहा है। मॉरीशस, फीजी, नीदरलैंड, सूरीनाम, सिंगापुर, दुबई, मस्कट, बैंकाक के कई शहरों में छठ तो होता ही है, लेकिन अब सुदूर अमेरिका, इग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, नाइजीरिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड जैसे देशों में भी छठ का आयोजन धूमधाम से हो रहा है। छठ की लोकप्रियता का आलम यह है कि अमेरिका की क्रिस्टीन द्वारा गाया गया छठ गीत सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, तो वहीं दिल्ली एनसीआर के कई पंजाबी परिवार भी छठ का व्रत पूरी आस्था के साथ कर रहे हैं। गंगा-जमुनी तहजीब के शहर बनारस में कई मुस्लिम महिलाओं की सूर्य को अघ्र्य अर्पित करती तस्वीरें मीडिया में चर्चा में हैं।
दरअसल, छठ हमारी संस्कृति, संवेदनाओं, परंपराओं और लोक जीवन का जीवंत रूप है। छठ चांदनी तानने और उस चांदनी के भीतर परिवार के चिरागों को नेह के आंचल की छाया देने का पर्व है। यह भी सुखद तथ्य है कि छठ पर आधुनिकता और बनावटीपन का कोई असर नहीं है। यह पर्व आज भी अपने असली स्वरूप में मौजूद है। इसलिए सांस्कृतिक पहचान तथा श्रद्धा और समर्पण के इस लोकोत्सव के साथ जुड़ना एवं इसकी पवित्रता बरकरार रखना बेहद जरूरी है।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: दिल्ली के सरकारी स्कूल में पहुंची मेलानिया ट्रंप, हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग बिताया वक्त

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: ...और ताजमहल को निहारते ही रह गए ट्रंप और मेलानिया

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने साबरमती आश्रम में चलाया चरखा

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: अहमदाबाद में छाए भारत-अमेरिकी संबंधों का बखान करते इश्तेहार

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

PICS: महाशिवरात्रि: देशभर में हर-हर महादेव की गूंज, शिवालयों में लगा भक्तों का तांता

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

महाशिवरात्रि: जब रुद्र के रूप में प्रकट हुए शिव

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

जब अचानक ‘हुनर हाट’ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, देखें तस्वीरें...

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

अबू जानी-संदीप खोसला के लिए रैम्प वॉक करते नजर आईं सारा

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

लॉरेस पुरस्कार: मेसी और हैमिल्टन ने साझा किया लॉरेस स्पोटर्समैन अवार्ड

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?

Bigg Boss 13: सिद्धार्थ शुक्ला ने शहनाज के पापा को डैडी कहा?


 

172.31.21.212