Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

01 Aug 2021 12:25:14 AM IST
Last Updated : 01 Aug 2021 12:27:42 AM IST

वैश्विकी : तालिबान का असली चेहरा

वैश्विकी : तालिबान का असली चेहरा
वैश्विकी : तालिबान का असली चेहरा

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन की दो दिवसीय भारत यात्रा के दौरान पूरी दुनिया की नजर अफगानिस्तान के घटनाक्रम पर केंद्रित थी।

पहले यह अनुमान लगाया गया था कि इस यात्रा में इंडो-पैसिफिक की सुरक्षा व्यवस्था, भारत में मानवाधिकारों की स्थिति और पेगासस जासूसी कांड के मुद्दे भी वार्ता में शामिल होंगे, लेकिन अफगानिस्तान में तेजी से बदल रहे घटनाक्रम ने भारत, चीन, रूस और ईरान सहित विभिन्न क्षेत्रीय देशों की प्राथमिकता बदल दी। पिछले 20 वर्षो के दौरान अफगानिस्तान के कार्यसंचालन में अमेरिका ने मुख्य भूमिका निभाई थी, लेकिन अपनी सैनिक और राजनीतिक असफलता के उजागर होने के दौर में उसने अफगानिस्तान से पल्ला झाड़ लिया। अमेरिका केवल इस बात से संतुष्ट है कि अफगानिस्तान की सुरक्षा और उसके राष्ट्रीय हितों को कोई खतरा नहीं है। यह बात दूसरी है कि अफगानिस्तान के आसपास के देशों के लिए खतरा पहले से कहीं अधिक बढ़ गया है।
कई मायनों में भारत को अन्य देशों के मुकाबले ज्यादा खतरा है। तालिबान नियंत्रित पाकिस्तान और अफगानिस्तान का गठजोड़ भारत के लिए भयावह चुनौती पेश करेगा। नरेन्द्र मोदी सरकार के दौरान देश में आतंकवादी हमलों पर जो रोक लगी है तथा आंतरिक सुरक्षा की स्थिति में जो सुधार हुआ है, उनके लिए नई समस्या पैदा हो जाएगी। यह गौर करने की बात है कि घटनाक्रम से प्रभावित होने वाला केवल भारत ही ऐसा देश है, जो तालिबानी आतंकवादियों को वैधता प्रदान करने के लिए तैयार नहीं है। अमेरिका ने तालिबान को वार्ता में साझेदार बनाया जबकि चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने पाकिस्तान के पिट्ठू तालिबानी नेता मुल्ला अब्दुल गनी ब्रादर से मुलाकात की। इस तरह एक आतंकवादी नेता को सम्मानित राजनयिक का दरजा मिल गया। जहां तक भारत का सवाल है, उसने कतर की मध्यस्थता से कुछ तालिबानी नेताओं के साथ संपर्क अवश्य कायम किया, लेकिन इस प्रयास में उसकी मंशा यह थी कि तालिबान अफगानिस्तान में पिछले 20 वर्ष के दौरान हुए सकारात्मक बदलाव के विरुद्ध काम न करे।

अमेरिकी सेनाओं की वापसी के बाद से ही तालिबानी आतंकवादियों ने अपना पुराना रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान के मदरसों के तालिब (शागिर्द) रहे मध्ययुगीन नेता इस्लाम की कट्टरपंथी विचारधारा को मानते हैं और इस पर अमल करते हैं। तालिबान के कब्जे वाले क्षेत्रों में महिलाओं को कोड़े मारने और उदारवादी लोगों की हत्या करने का क्रम फिर शुरू हो गया है। भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की नृशंस हत्या तालिबान की वहशी कार्यप्रणाली का एक सबूत है। घायल अवस्था में एक मस्जिद में शरण लेने वाले दानिश को तालिबान लड़ाकुओं ने गोलियों से छलनी कर दिया और उनका सिर कुचल दिया। यह घटना उन लोगों के लिए एक सबक है, जो मानते हैं कि तालिबान का हृदय परिवर्तन हो सकता है तथा उन्हें लोकतंत्र की मुख्यधारा का हिस्सा बनाया जा सकता है।
फिलहाल अफगानिस्तान में अमेरिकी सेनाओं की वापसी से पैदा हुई शून्यता को भरने के लिए विभिन्न देश अपने-अपने तरीके से काम कर रहे हैं। रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार भारत ने काबुल और आसपास के सूबों में अपना कब्जा कायम रखने वाली सरकारी सेनाओं को सैनिक साजो-सामान मुहैया कराना शुरू किया है। आधिकारिक रूप से इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन यह निश्चित है कि भारत यह नहीं चाहता कि काबुल पर तालिबान का कब्जा हो। दो दशक पहले अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा था। उस समय भारत ने अहमद शाह मसूद के नेतृत्व वाले नार्दन एलायंस को समर्थन दिया था। शाह मसूद के लड़ाकुओं ने तालिबानी सत्ता को कड़ी चुनौती दी थी। दो दशक बाद अब भारत को काबुल को किसी तरह बचाये जाने की चिंता है।
भारत के लिए समस्या यह है कि सीधे रूप से उसकी सीमाएं अफगानिस्तान से नहीं मिलती हैं। 1971 में बांग्लादेश और राजीव गांधी के कार्यकाल में श्रीलंका में सैनिक भूमिका जैसी स्थिति दोहराने के बारे में भारत नहीं सोच सकता। काबुल को बचाने का काम भी वह अपने बलबूते करने की स्थिति में नहीं है। इस काम में सबसे कारगर भूमिका शंघाई सहयोग संगठन और ब्रिक्स जैसे अंतरराष्ट्रीय संगठन ही निभा सकते हैं।


डॉ. दिलीप चौबे
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की 'लव स्टोरी' का ट्रेलर जारी

भारत जीता ओवल टेस्ट

भारत जीता ओवल टेस्ट

दिल्ली हुई पानी-पानी

दिल्ली हुई पानी-पानी

स्कूल चलें हम

स्कूल चलें हम

शहनाज का बोल्ड अंदाज

शहनाज का बोल्ड अंदाज

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

जश्न मनाती टीम इंडिया

जश्न मनाती टीम इंडिया

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

सोने सी चमकती मलाइका

सोने सी चमकती मलाइका

कंगना का बॉलीवुड

कंगना का बॉलीवुड

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

हिमाचल में भूस्खलन

हिमाचल में भूस्खलन

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार


 

172.31.21.212