Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

21 Sep 2020 12:04:19 AM IST
Last Updated : 21 Sep 2020 12:06:42 AM IST

निजी अस्पताल : आपदा में ‘अवसर’

निजी अस्पताल : आपदा में ‘अवसर’
निजी अस्पताल : आपदा में ‘अवसर’

जब मौका मरीज की जान बचाने का हो तो कोई कारगर इलाज चमत्कार सरीखा हो जाता है और डॉक्टर की भूमिका ईश्वर जैसी। ऐसी स्थिति में कोई शख्स इलाज की कीमत पर चाहकर भी सवाल उठाने की हिम्मत नहीं कर पाता है।

खास तौर से निजी अस्पतालों में लाखों के बिल के साथ जिंदा लौटने वाले मरीजों के परिजन इलाज के दौरान हुए खर्च पर खामोश रह जाते हैं। उन्हें लगता है कि ऐसा करने का मतलब अस्पताल और डॉक्टर की नाराजगी मोल लेना होगा, जिसकी कीमत मरीज की जान के रूप में चुकानी पड़ सकती है। लेकिन मौजूदा कोरोना संकट में यह सवाल बार-बार उठ रहा है कि आखिर सरकार निजी अस्पताओं में चल रही इस खुली लूट पर अंकुश क्यों नहीं लगाती।
बीमारियों के इलाज की कीमतें क्यों तय नहीं की जाती है, और अगर रेट तय हैं तो सरकार के आदेश की अवहेलना कर प्राइवेट अस्पताल मरीजों को लाखों के बिल क्यों थमा देते हैं। हो सकता है कि इसकी एक वजह यह हो कि जब मंत्रियों को अच्छे इलाज की जरूरत महसूस होती है तो वे खुद सरकारी अस्पताल ना जाकर प्राइवेट हॉस्पिटलों पर भरोसा करते हैं। तब सवाल पैदा होता है कि आखिर सरकारी अस्पतालों पर भरोसा जगाने के लिए क्या किया जा रहा है। जहां तक निजी अस्पतालों में महंगे इलाज की बात है तो बीते एक-डेढ़ दशक से ये शिकायतें आम हो गई हैं कि टेस्ट और इलाज के नाम पर लाखों के बिल बनते हैं। इलाज की महंगाई को लेकर स्वीकार्यता का आलम यह है कि मेडिकल इंश्योरेंस बेचने वाली कंपनियों जोरदार ढंग से विज्ञापन करती हैं कि अब प्राइवेट हॉस्पिटल में मामूली बीमारियों की चिकित्सा का मतलब है लाखों का बिल। पूछना चाहिए कि अगर इनके दावे गलत हैं तो झूठे विज्ञापनों के लिए सरकार इंश्योरेंस कंपनियों पर एक्शन क्यों नहीं लेती। और अगर इनके दावे सच हैं, तो निजी अस्पतालों के गोरखधंधे पर सरकार क्यों खामोश है। डेंगू, न्यूमोनिया सरीखी बीमारियों को छोड़कर अभी अगर कोविड-19 महामारी के टेस्ट और इलाज की ही बात करें तो शुरू से इन पर सवाल उठ रहे हैं। शिकायतें हैं कि प्राइवेट अस्पतालों में कभी डॉक्टर की विजिट के नाम पर तो कभी डॉक्टर और नर्स की पीपीई किट और ग्लव्ज़ के नाम पर मरीजों को हजारों-लाखों के बिल थमाए जा रहे हैं।

डॉक्टर भले ही एक ही पीपीई किट पहनकर दो दर्जन मरीजों के पास गया हो, लेकिन उस एक किट का पैसा हरेक मरीज से वसूला जाता है। कोई बीमारी होने पर इलाज नहीं करवा पाने की तकलीफ वही जान सकता है, जिसे इससे जूझना पड़ता है। देश में कोविड-19 के संक्रमण से पहले भी निजी अस्पतालों की लूट-खसोट ने लोगों को काफी परेशान किया है। हालात ये रहे हैं कि सिर्फ  दिल के मर्ज और कैंसर जैसे इलाज ही नहीं, सर्दी-जुकाम जैसी मामूली बीमारियों से छुटकारा पाने में देश के आम तबके के पसीने छूटते रहे हैं। कोरोना के संकट ने इसमें कई गुना इजाफा किया है क्योंकि यह आपदा प्राइवेट अस्पतालों से लेकर एंबुलेंस संचालकों तक के लिए एक शानदार अवसर में बदल गई है। इलाज के सरकारी ढांचे से जनता कितनी निराश है, देश के तमाम सरकारी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों के साथ हुए हादसों ने यह साबित कर ही दिया है। इलाज की सरकारी व्यवस्था से निराश लोग जैसे-तैसे निजी अस्पतालों में चले जाएं, तो इलाज की कीमत ही उन्हें मार देती है।
प्राइवेट अस्पतालों के बारे में बनी यह धारणा निराधार नहीं है कि वे डॉक्टरों, फार्मा कंपनियों और प्राइवेट टेस्ट लैब्स की साठगांठ से ही चलते हैं। डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्यूटिकल्स डॉक्टरों के लिए ऐसे कोड ऑफ कंडक्ट बनाकर रह जाती है कि वे दवा कंपनियों से गिफ्ट न सकें  और मरीजों को मनवांछित प्राइवेट लैब्स में टेस्ट के लिए न भेज सकें, लेकिन इन कायदों के उल्लंघन पर किसी डॉक्टर-अस्पताल को दंडित किया गया है-ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है।
ज्यादा हंगामा होने पर सरकारें यह बंदरघुड़की देकर ही मौन हो जाती हैं कि आइंदा कोई गड़बड़ी पाई गई, तो उनका लाइसेंस छीन लिया जाएगा। सच्चाई यह है कि शायद ही किसी बड़े अस्पताल ही ऐसी कार्रवाई हुई हो। अमीरों को प्राइवेट अस्पतालों की लूट से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता लेकिन मध्य वर्ग और गरीबों की तो इससे कमर ही टूट जाती है। अगर सरकार चाहती है कि ‘अनहोनी’ से डराए गए मरीज और परिजन महंगे इलाज को सहने के लिए अभिशप्त ना रहें, तो उसे पूरे हेल्थ सेक्टर के लिए ‘ऑपरेशन क्लीन’ की चलाने की जरूरत है।


डॉ. संजय वर्मा
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
PICS: ढेर सारे शानदार फीचर्स के साथ iPhone 12 Pro, iPhone 12 Pro Max लॉन्च, जानें कीमत

PICS: ढेर सारे शानदार फीचर्स के साथ iPhone 12 Pro, iPhone 12 Pro Max लॉन्च, जानें कीमत

PICS: नोरा फतेही ने समुद्र किनारे किया जबरदस्त डांस, वीडियो वायरल

PICS: नोरा फतेही ने समुद्र किनारे किया जबरदस्त डांस, वीडियो वायरल

Big Boss 14 : झलक बिग बॉस 14 के आलीशान घर की

Big Boss 14 : झलक बिग बॉस 14 के आलीशान घर की

PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....


 

172.31.21.212