Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

27 May 2016 05:28:05 AM IST
Last Updated : 27 May 2016 05:32:07 AM IST

कोल्ड स्टार्ट से घिरेगा पाक

के. सिद्धार्थ
लेखक
कोल्ड स्टार्ट से घिरेगा पाक

जब पाकिस्तान के आतंकवादियों ने संसद पर आक्रमण किया था तो भारत को उसके विरुद्ध युद्ध की रणनीति को सोचने और क्रियान्वित करने में एक महीने का समय लग गया.

अगर पाकिस्तान में ट्रेनिंग प्राप्त आतंकवादियों ने फिर ऐसी रणनीति अपनाई तो भारत ऐसे हादसों से निपटने के लिए कोल्ड स्टार्ट  सिद्धांत अपनाएगा.

‘कोल्ड स्टार्ट’ एक ऐसा नवीन सैन्य सिद्धांत है, जिसे भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ संभावित युद्ध को ध्यान में रखकर विकसित किया है. ‘कोल्ड स्टार्ट’ सिद्धांत के अनुसार आदेश मिलने के 48 घंटों के भीतर हमला शुरू किया जा सकता है. इतने कम समय में हमला करने से भारतीय सेना पाकिस्तानी सेना को आश्चर्यचकित कर देगी. इस पद्धति में भारतीय सेना के विभिन्न हिस्सों को आक्रमण के लिए एकीकृत करने पर जोर दिया गया है. इस तरह का अभियान पंजाब और राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में होगा.

कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत का एक उद्देश्य युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान को परमाणु हमले से रोकना है, क्योंकि उसे परमाणु हमले के लिए जरा भी समय नहीं देना है. इस योजना में मूलत: तेजी से हमले पर जोर दिया गया है. बख्तरबंद वाहन और तोपखाना पाकिस्तान के इलाके में कम-से-कम समय में प्रवेश कराया जा सकता है. पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेनाओं को कुछ हफ्तों के स्थान पर केवल कुछ दिनों में ही तैनात करने के लिए कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत बनाया गया था. इसका परीक्षण अभी युद्ध में किया जाना शेष है. इसका उद्देश्य है कि तत्काल लामबंदी और त्वरित हमले से पाकिस्तान को आश्चर्यचकित कर देना.

इससे पाकिस्तानी प्रतिक्रिया के पहले ही भारत अपने हित को हासिल कर सकेगा. अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा युद्ध रोकने की पहल से पूर्व ही भारत अपने उद्देश्यों को पूर्ण कर चुका होगा. सेना लम्बे समय से एक सैन्य सिद्धांत पर कार्य कर रही थी जो काफी पुराना पड़ चुका था. संसद भवन पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ सेनाओं की तैनाती के लिए ‘ऑपरेशन पराक्रम’ के दौरान इस सिद्धांत की कई कमजोरियां प्रकाश में आई. इनको दूर करने के कई प्रयास किए गए. इसके बाद सेना ने एक व्यापक आधुनिकीकरण कार्यक्रम शुरू किया. पाकिस्तान को असुरक्षित स्थिति में दबोचने और परमाणु हथियारों की छाया में युद्ध से कई समस्याएं हैं. इस सिद्धांत के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन में भी कई किंतु-परंतु हैं. पाकिस्तान की प्रतिक्रिया का अंदाजा पहले से नहीं लगाया जा सकता और पाकिस्तानी क्षेत्रों पर कब्जा कम समय के लिए ही हो सकता है, क्योंकि उसे अधीन नहीं बनाया जा सकता. भारतीय रणनीति जिसका लक्ष्य आश्चर्य और गति के साथ परंपरागत हमला करना है, इस तथ्य की अनदेखी करता है कि पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार हैं. इन हथियारों को तेज गति से हमले में भी नष्ट नहीं किया जा सकता है.

वास्तव में कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत केवल पश्चिमी मोच्रे पर पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में ही अपनाया जा सकता है. पाकिस्तान से युद्ध सिर्फ भारत की समस्या नहीं है. ऐसी स्थिति में चीन एक दूसरा मोर्चा भी खोल सकता है. दो मोचरे पर युद्ध एक अलग तरह का खेल होगा. दो मोचरे पर युद्ध की रणनीति अभी सिद्धांत रूप में आनी बाकी है. इस बात के संकेत हैं कि एक साथ संभावित दो मोचरे पर युद्ध की रणनीति के सिद्धांत पर गहन चिंतन चल रहा है. चीन और पाकिस्तान के बढ़ते सहयोग को देखते हुए यह संभव है कि भारत को दो मोचरे पर युद्ध का सामना करना पड़े. भारत सिर्फ पाकिस्तान को ध्यान में रखकर कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत लागू नहीं कर सकता. दो मोचरे पर युद्ध की बढ़ रही संभावना के मद्देनजर चीन राजमागरे की एक श्रृंखला का विकास कर रहा है.

इसका उद्देश्य गिलगिट-बल्टिस्तान क्षेत्र में सैन्य संरचना में सुधार तथा सैनिकों एवं साजो-सामान की बेहतर आवाजाही सुनिश्चित करना है. भारत को उत्तरी सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए युद्ध के परंपरागत ढंग के विचार में परिवर्तन करना होगा और एक सुचिंतित तथा सुविचारित सैन्य सिद्धांत तैयार करना होगा. भारत के नए सिद्धांत में नियंत्रण और निर्देश के प्रशिक्षण एवं तरीकों में बदलाव की आवश्यकता होगी.  नया सिद्धान्त निर्णय लेने को आसान बनाने एवं युद्ध की तैयारियों को बढ़ाने वाला होना चाहिए. उसका उद्देश्य युद्ध में विरोधियों के विकल्पों को सीमित करने वाला होना चाहिए. भारत को यह सुनिश्चित करना होगा कि युद्ध में जमीनी बलों की तैनाती में संतुलन हो. जमीनी मोचरे की रणनीति का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा रियल  टाइम. ‘रियल टाइम’ संचार डिजाइनिंग का महत्त्व यह होगा कि इससे वरिष्ठ कमांडरों को अग्रिम मोचरे पर स्थिति को समझने में मदद मिलेगी.

पाकिस्तान के गठबंधन से चीन भारत की उत्तरी सीमाओं पर नई हथियार प्रणालियों की तैनाती करके अपनी आक्रामक क्षमता बढ़ा रहा है. आशय यह है कि युद्ध के दौरान इससे सैन्य संतुलन में परिवर्तन किया जा सके. चीन बहुत तेजी से सैन्य आधुनिकीकरण कर रहा है जो उसकी शक्ति में अत्यधिक वृद्धि करेगा. इन घटनाक्रमों में भारत को सुरक्षा परिदृश्य में होने वाले बदलावों पर करीबी से नजर रखनी पड़ेगी, जो चीन-पाकिस्तान के नजदीकी सहयोग से पश्चिमी सीमा पर हो रहे हैं और क्षेत्र में बहुमुखी सैन्य खतरों का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए. कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत यहां महत्त्वपूर्ण है. इस बात की सूचना है कि चीनी सेना तिब्बत के पठार में भारतीय सीमा के समीप सैन्य अभ्यास करती है जिसमें वायुसेना, तोपखाना और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध डिविजन शामिल होती हैं. बहरहाल हमारी रणनीति, वायु, साइबर और भूमि सीमाओं पर अक्रामक तैयारियों पर निर्भर करेगी. दुश्मन के क्षेत्र पर कब्जे के लिए अहम निर्णय पर आगे बढ़ने का प्रतिमान दुश्मन के युद्ध मशीनरी के विनाश पर आधारित होता है.


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका


 

172.31.21.212