Samay Live
08 Jul 2020 09:45:46 AM IST
Last Updated : 08 Jul 2020 09:56:33 AM IST

बहादुर सिंह 25 साल बाद भारतीय एथलेटिक्स के मुख्य कोच पद से हटे, एएफआई ने की तारीफ

भाषा
नई दिल्ली
बहादुर सिंह 25 साल बाद भारतीय एथलेटिक्स के मुख्य कोच पद से हटे, एएफआई ने की तारीफ
एथलेटिक्स कोच रहे बहादुर सिंह ने दिया इस्तीफ़ा (फाइल फोटो)

25 वर्षों तक भारतीय एथलेटिक्स के राष्ट्रीय मुख्य कोच रहे पद्मश्री बहादुर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

भारतीय एथलेटिक्स के मुख्य कोच बहादुर सिंह को 25 साल तक सेवा देने के बाद अपने पद से हटना पड़ा चूंकि भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के साथ उनका अनुबंध समाप्त हो गया है और आयु नियमों के आधार पर उनके करार को आगे नहीं बढ़ाया गया ।

एशियाई खेलों में दो स्वर्ण पदक (1978, 1982) जीतने वाले 74 साल के इस कोच का अनुबंध 30 जून को समाप्त हुआ और खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय शिविरों में कोचों की ऊपरी आयु सीमा 70 तक रखने के अपने दिशानिर्देशों के मुताबिक इसे आगे नहीं बढ़ाया।भारत में सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले मुख्य कोचों में एक बहादुर सिंह का कार्यकाल फरवरी 1995 में शुरू हुआ था।

इस खबर की पुष्टि करते हुए भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने अंतरराष्ट्रीय पदक विजेता और फिर मुख्य कोच के तौर पर उनके योगदान की सराहना की। एएफआई के अध्यक्ष आदिले सुमरिवाला ने कहा, ‘‘ जब हम वैश्विक मंच पर अपनी यात्रा देखते है तो हम भारतीय एथलेटिक्स में बहादुर सिंह के अपार योगदान को हमेशा याद करेंगे। उन्होंने 70 और 80 के दशक के शुरुआती दौर में गोला फेंक खिलाड़ी के रूप में और फिर फरवरी 1995 से मुख्य कोच के रूप में योगदान दिया है।’’

यहां जारी विज्ञप्ति में उन्होंने कहा, ‘‘हम ओलंपिक खेलों में टीम के साथ उन्हें देखना चाहते थे लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण तोक्यो ओलंपिक स्थगित करने पड़े । हम प्रशिक्षण और कोचिंग की योजना बनाने उनके अनुभव का फायदा उठाने जारी रखेंगे।’’

विज्ञप्ति ने हालांकि कहा गया, सिंह ने गृह मंत्रालय की वरिष्ठ नागरिकों के आवाजाही को प्रतिबंधित करने की सलाह के मद्देनजर इस्तीफा दिया है।उनकी देखरेख में भारत ने 2010 के दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों के एथलेटिक्स में दो स्वर्ण सहित 12 पदक हासिल किये थे । उनके रहते भारत ने जकार्ता 2018 एशियाई खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया ट्रैक और फील्ड प्रतियोगिता आठ स्वर्ण और नौ रजत सहित 20 पदक जीते। एएफआई योजना और कोचिंग समिति के अध्यक्ष ललित भनोट ने कहा, ‘‘ एशियाई खेलों में देश के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन ने खेल समुदाय में यह विश्वास पैदा किया कि थोड़ी अधिक योजना और प्रयास के साथ भारत अपने स्तर को ऊंचा उठा सकता है और वैश्विक मंच पर अपनी छाप छोड़ सकता है। बहादुर जी ने इस उत्थान में योगदान दिया।’’

एएफआई के सूत्रों ने कहा कि सिंह अभी भी एक सलाहकार की भूमिका में भारतीय एथलेटिक्स से जुड़ सकते हैं।

सिंह ने 1978 के बैंकॉक और 1982 के दिल्ली एशियाई खेलों में गोला फेंक में लगातार दो स्वर्ण पदक जीते थे। उन्होंने इससे पहले 1974 में तेहरान में रजत पदक जीता था। उन्होंने एशियाई ट्रैक एवं फील्ड मीट में भी पदक चार पदक जीते जिसमें 1973 में कांस्य, 1975 में स्वर्ण , 1979 में कांस्य और 1981 में रजत पदक जीता था।उन्होंने मास्को ओलंपिक में भी देश का प्रतिनिधित्व किया था। उन्हें 1976 में अर्जुन पुरस्कार और 1998 में द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्हें 1983 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।



 

ताज़ा ख़बरें


 

 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
देखें राणा-बजाज का पूरा वेडिंग ऐल्बम

देखें राणा-बजाज का पूरा...

PM मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

PM मोदी ने राममंदिर की रखी...

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद...

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से...

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का...

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी...

दिल्ली-NCR में हुई झमाझम बारिश, देखें PHOTOS

दिल्ली-NCR में हुई झमाझम...

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं...

PHOTOS:

PHOTOS: 'दिल बेचारा' ट्रेलर: सुशांत...

B

B'day: जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह...

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर...

बाल कलाकार से कोरियोग्राफर बनीं सरोज खान

बाल कलाकार से कोरियोग्राफर...

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये...

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे...

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के...

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना...

श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट, भक्तों को मिले भगवान के दर्शन

श्रद्धालुओं के लिए खुले...

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र...

World Cycle Day: ये हैं साइकिल चलाने के बड़े फायदे...

World Cycle Day: ये हैं साइकिल चलाने के...

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली...

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी रौतेला ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर...

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन...

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी...

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते...

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की...

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही...

निर्भया को मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

निर्भया को मिला इंसाफ, लोगों...

तस्वीरें: शिमला में 3 साल बाद मार्च में हुई बर्फबारी

तस्वीरें: शिमला में 3 साल बाद...

रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

रंग के उमंग पर कोरोना का साया,...

कोरोना वायरस: डरें नहीं, रखें इन बातों का ख्याल...

कोरोना वायरस: डरें नहीं, रखें...

भारतीय डिजाइनर की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

भारतीय डिजाइनर की बनाई...

हैप्पीनेस क्लास में बच्चों संग मेलानिया ट्रंप ने बिताया वक्त, देखें तस्वीरें...

हैप्पीनेस क्लास में बच्चों...



 

 

Facebook

Twitter

Youtube

RSS

Spacer