Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

10 Nov 2012 03:04:50 PM IST
Last Updated : 10 Nov 2012 03:06:59 PM IST

किसानों का दमन कर रही है भाजपा सरकार:अजय सिंह

'किसानों का दमन कर रही है भाजपा सरकार'

मध्यप्रदेश में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर किसानों का दमन करने का आरोप लगाया है.

और कहा है कि पेंच बांध परियोजना डिंडोरी और कटनी में किसानों से जिस तरह सरकार पेश आ रही है उससे गुलामी के दिनों में अंग्रेजों के दमन की याद दिला दी है.

सिंह ने जारी एक बयान में मुख्यमंत्री से मांग की कि वे किसानों से जबरन उनकी जमीन नहीं छीनें और उनके जल, जंगल, जमीन पर उनके नैसर्गिक अधिकारों को संरक्षण दें.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कृषि क्षेत्र में विकास दर 18 प्रतिशत प्राप्त करने की झूठी वाहवाही लूट रहे शिवराज सिंह चौहान उन्हीं किसानों का दमन करने पर उतारू हो गए हैं, जिनके बदौलत वे दिल्ली में अपना सम्मान कराकर आये हैं.

सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री एक ओर उद्योगों को कहते हैं कि वे प्रदेश में औद्योगिक निवेश करें, उन्हें वे भूमि उपलब्ध कराएंगे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने इस चरित्र से किसानों और उद्योगपतियों दोनों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पेंच, कटनी और डिंडोरी में विगत एक साल से आंदोलनरत किसानों की सुनवाई नहीं कर रहे और स्थानीय प्रशासन के माध्यम से उनका दमन शिवराज सिंह करा रहे हैं. उन्होंने कहा कि इन तीनों जगह में बदतर हालत हैं, पुलिस ने इन तीनों स्थान पर कर्फ्यू जैसे हालात पैदा कर दिए हैं, नतीजा यह है कि मध्यप्रदेश में जल सत्याग्रह के बाद अब चिता सत्याग्रह करने के लिए किसान मजबूर हैं.      

उन्होंने कहा कि कटनी में अपनी जमीन से जबरन बेदखल करने पर सैकड़ों परिवार चिता बनाकर उस पर लेटे हैं और सरकार आंख बंद कर उनकी जमीन उद्योग के लिए अधिग्रहित कर रही है.

सिंह ने कहा कि उत्सवों में व्यस्त शिवराज सिंह चौहान उस गांव और किसान के दर्द और तकलीफ को भूल बैठे हैं, जहां से वे पांव-पांव चलकर प्रदेश की सर्वोच्च कुर्सी पर बैठे. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह अब हवा-हवाई नेता हो गए हैं जो प्रदेश की जनता को झूठे सपने दिखकर घोषणावीर बन गए हैं.

नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से मांग की कि वे तत्काल किसानों को उनकी जमीन से बेदखल करने के अपने दमनकारी रवैए पर अंकुश लगायें. किसानों से उनकी इच्छा के विरुद्ध जमीन नहीं छीनें, वरना किसानों के अंदर पनप रहे प्रदेशव्यापी आक्रोश से अगर कोई गंभीर घटना घटित होती है, तो इसके जवाबदेह शिवराज सिंह ही होंगे.





 


Source:PTI, Other Agencies, Staff Reporters
 
 

ताज़ा ख़बरें


__LATEST ARTICLE RIGHT__
लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 


फ़ोटो गैलरी

 

172.31.21.212