Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

06 Aug 2020 11:33:39 AM IST
Last Updated : 06 Aug 2020 01:52:33 PM IST

बिहार : समस्तीपुर मंडल के 3 रेलखंडों में रेल ट्रैक के निकट पहुंची बाढ़

आईएएनएस
हाजीपुर
बिहार : समस्तीपुर मंडल के 3 रेलखंडों में रेल ट्रैक के निकट पहुंची बाढ़

बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। राहत की बात है कि कुछ नदियों के जलस्तर में कमी हुई है लेकिन गंगा के जलस्तर में वृद्घि देखी जा रही है। गंगा नदी कहलगांव के पास खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गई है। राज्य की अन्य नदियां भी कई क्षेत्रों में अभी भी लाल निशान से ऊपर है। इधर, राज्य के 16 जिलों के 121 प्रखंडों में अभी भी बाढ़ का तांडव जारी है, जिससे अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है। बिहार आपदा प्रबंधन विभाग ने राहत और बचाव कार्य जारी रहने का दावा किया है। इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बुधवार को दरभंगा और गोपालगंज बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया है। बिहार राज्य जलसंसाधन विभाग के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि कोसी के जलस्तर में कमी का ट्रेंड बना हुआ है। वीरपुर बैराज के पास गुरुवार को सुबह छह बजे कोसी का जलस्तर 1.59 लाख क्यूसेक था जो आठ बजे घटकर 1.58 लाख क्यूसेक हो गया। इधर, गंडक नदी का जलस्तर में मामूली वृद्धी हुई है। गंडक का जलस्राव बाल्मीकिनगरबैराज पर सुबह छह बजे 1.21 लाख क्यूसेक था जो आठ बजे बढ़कर 1.24 लाख क्यूसेक पहुंच गया है। बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, घाघरा तथा गंगा कई क्षेत्रों में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार के 16 जिलों के कुल 121 प्रखंडों की 1़165 पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हुई हैं। इन क्षेत्रों में करीब 66.60 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि इन इलाकों में 8 राहत शिविर खोले गए हैं, जहां 12 हजार से ज्यादा लोग रह रहे हैं। इसके अलावा, बाढ़ प्रभावित इलाकों में कुल 1,379 सामुदायिक रसोई घर चलाए जा रहे हैं, जिसमें प्रतिदिन करीब दस लाख लोग भोजन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ के दौरान इलाकों में विभिन्न घटनाओं में 19 लोगों की मौत हुई है, इसमें सबसे अधिक सात लोगों की मौत दरभंगा जिले में हुई है। इस बीच 21 पालतू पशुओं की भी मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव का कार्य कर रही हैं। अब तक 4,80,884 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से निकालकर सुरक्षित इलाकों में पहुंचाया गया है। अपर सचिव ने बताया कि बाढ़ प्रभावित प्रत्येक परिवार को ग्रेच्युटी रिलीफ के अंतर्गत 6,000 रुपये की राशि दी जा रही है। अभी तक 3,75,547 परिवारों के बैंक खाते में कुल 225 करोड़ रूपये जीआर की राशि भेजी जा चुकी है। ऐसे परिवारों को एसएमएस के माध्यम से सूचित भी किया गया है। इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बुधवार को बाढ़ प्रभावित दरभंगा और गोपालगंज जिले के बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया तथा दरभंगा के एक राहत केंद्र का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कई निर्देश दिए।

बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। राहत की बात है कि कुछ नदियों के जलस्तर में कमी हुई है लेकिन गंगा के जलस्तर में वृद्घि देखी जा रही है। गंगा नदी कहलगांव के पास खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गई है। राज्य की अन्य नदियां भी कई क्षेत्रों में अभी भी लाल निशान से ऊपर है।

इधर, राज्य के 16 जिलों के 121 प्रखंडों में अभी भी बाढ़ का तांडव जारी है, जिससे अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है। बिहार आपदा प्रबंधन विभाग ने राहत और बचाव कार्य जारी रहने का दावा किया है। इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बुधवार को दरभंगा और गोपालगंज बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया है।

बिहार राज्य जलसंसाधन विभाग के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि कोसी के जलस्तर में कमी का ट्रेंड बना हुआ है। वीरपुर बैराज के पास गुरुवार को सुबह छह बजे कोसी का जलस्तर 1.59 लाख क्यूसेक था जो आठ बजे घटकर 1.58 लाख क्यूसेक हो गया।

इधर, गंडक नदी का जलस्तर में मामूली वृद्धी हुई है। गंडक का जलस्राव बाल्मीकिनगरबैराज पर सुबह छह बजे 1.21 लाख क्यूसेक था जो आठ बजे बढ़कर 1.24 लाख क्यूसेक पहुंच गया है।

बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, घाघरा तथा गंगा कई क्षेत्रों में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार के 16 जिलों के कुल 121 प्रखंडों की 1.165 पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हुई हैं। इन क्षेत्रों में करीब 66.60 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है।

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि इन इलाकों में 8 राहत शिविर खोले गए हैं, जहां 12 हजार से ज्यादा लोग रह रहे हैं। इसके अलावा, बाढ़ प्रभावित इलाकों में कुल 1,379 सामुदायिक रसोई घर चलाए जा रहे हैं, जिसमें प्रतिदिन करीब दस लाख लोग भोजन कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि बाढ़ के दौरान इलाकों में विभिन्न घटनाओं में 19 लोगों की मौत हुई है, इसमें सबसे अधिक सात लोगों की मौत दरभंगा जिले में हुई है। इस बीच 21 पालतू पशुओं की भी मौत हो गई है।

उन्होंने बताया कि सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव का कार्य कर रही हैं। अब तक 4,80,884 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से निकालकर सुरक्षित इलाकों में पहुंचाया गया है।

अपर सचिव ने बताया कि बाढ़ प्रभावित प्रत्येक परिवार को ग्रेच्युटी रिलीफ के अंतर्गत 6,000 रुपये की राशि दी जा रही है। अभी तक 3,75,547 परिवारों के बैंक खाते में कुल 225 करोड़ रूपये जीआर की राशि भेजी जा चुकी है। ऐसे परिवारों को एसएमएस के माध्यम से सूचित भी किया गया है।

इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बुधवार को बाढ़ प्रभावित दरभंगा और गोपालगंज जिले के बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया तथा दरभंगा के एक राहत केंद्र का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कई निर्देश दिए।

समस्तीपुर-दरभंगा, दरभंगा-सीतामढ़ी एवं सहरसा-मानसी रेलखंडों के छह रेलपुलों के निकट नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। इस कारण पूर्व मध्य रेल द्वारा सुरक्षात्मक कदम उठाते हुए इन रेलखंडों पर चलाई जा रही स्पेशल ट्रेनें परिवर्तित मार्ग या आंशिक समापन कर चलाई जा रही हैं।

पूर्व-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बुधवार को बताया कि समस्तीपुर-दरभंगा मुख्य रेलमार्ग के बीच तीन रेलपुल तथा दरभंगा-सीतामढ़ी रेलमार्ग पर कमतौल और जोगियारा स्टेशन के बीच एक रेलपुल पर बाढ़ का पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। इसी तरह सहरसा-मानसी रेलखंड पर कोपरिया से बदलाघाट के बीच दो रेल पुलों के निकट भी नदी जलस्तर खतरे के निशान को पार कर चुका है।

उन्होंने बताया कि बुधवार को सुबह पांच बजे समस्तीपुर-मुक्तापुर के बीच रेलपुल संख्या एक के निकट जलस्तर खतरे के निशान से 1.95 मीटर तथा हयाघाट-थलवारा के बीच रेलपुल संख्या 16 तथा 17 के निकट खतरे के निशान से क्रमश: 1.15 मीटर एवं 1.07 मीटर ऊपर आ चुका है। इसी तरह सहरसा-मानसी रेलखंड पर कोपरिया से बदलाघाट के बीच रेलपुल संख्या 47 एवं 50 के निकट तथा कमतौल-जोगियारा के बीच स्थित रेलपुल संख्या 18 के निकट भी पानी पहुंच चुका है।

उन्होंने कहा, "पूर्व मध्य रेल का प्रयास है कि बाढ़ के कारण रेलवे ट्रैक एवं रेलपुलों को कम से कम क्षति पहुंचे, जिससे स्थिति सामान्य होते ही ट्रेनों का परिचालन यथाशीघ्र प्रारंभ किया जा सके। इसके लिए अधिकारियों द्वारा स्थिति की निगरानी की जा रही है। इसी कड़ी में रेलवे ट्रैक एवं रेलपुलों की दिन-रात पेट्रोलिंग सहित अन्य निरोधात्मक कदम उठाए जा रहे हैं।"
 


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह


 

172.31.21.212