Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

15 Sep 2021 05:25:34 PM IST
Last Updated : 15 Sep 2021 05:31:01 PM IST

2050 तक कैंसर, हार्ट अटैक से ज्यादा लोगों की जान लेगी सेप्सिस: विशेषज्ञ

2050 तक कैंसर, हार्ट अटैक से ज्यादा लोगों की जान लेगी सेप्सिस: विशेषज्ञ
कैंसर, हार्ट अटैक से ज्यादा लोगों की जान लेगी सेप्सिस

डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा है कि सेप्सिस से 2050 तक कैंसर और दिल के दौरे से ज्यादा लोगों की मौत होने की आशंका है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, सेप्सिस संक्रमण के लिए एक सिंड्रोमिक प्रतिक्रिया है और अक्सर दुनिया भर में कई संक्रामक रोगों से मृत्यु का एक अंतिम सामान्य रास्ता है।

लैंसेट जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि 2017 में दुनिया भर में 4.89 करोड़ मामले और 1.1 करोड़ सेप्सिस से संबंधित मौतें हुईं, जो सभी वैश्विक मौतों का लगभग 20 प्रतिशत है।

अध्ययन से यह भी पता चला कि अफगानिस्तान को छोड़कर अन्य दक्षिण एशियाई देशों की तुलना में भारत में सेप्सिस से मृत्यु दर अधिक है।

गुरुग्राम के इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिटिकल केयर एंड एनेस्थिसियोलॉजी, मेदांता - द मेडिसिटी के चेयरमैन, यतिन मेहता ने कहा, "सेप्सिस 2050 तक कैंसर या दिल के दौरे की तुलना में अधिक लोगों की जान ले लेगा। यह सबसे बड़ा हत्यारा होने जा रहा है। भारत जैसे विकासशील देशों में, एंटीबायोटिक दवाओं के अत्यधिक उपयोग के कारण शायद उच्च मृत्यु दर का कारण बन रहा है।"



ऐसा इसलिए है क्योंकि डेंगू, मलेरिया, यूटीआई या यहां तक कि दस्त जैसी कई सामान्य बीमारियों के कारण सेप्सिस हो सकता है।

मेहता स्वास्थ्य जागरूकता संस्थान - इंटीग्रेटेड हेल्थ एंड वेलबीइंग काउंसिल द्वारा हाल ही में आयोजित सेप्सिस समिट इंडिया 2021 में बोल रहे थे।

एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग के अलावा, विशेषज्ञों ने जागरूकता की कमी और शीघ्र निदान पर भी ध्यान दिया। उन्होंने जमीनी स्तर पर सेप्सिस के बारे में जागरूकता और शिक्षा बढ़ाने का आह्वान किया।

मेहता ने कहा, "चिकित्सा में प्रगति के बावजूद, तृतीयक देखभाल अस्पतालों में 50-60 प्रतिशत रोगियों को सेप्सिस और सेप्टिक शॉक होता है। जागरूकता और शीघ्र निदान की आवश्यकता है। साथ ही अनावश्यक एंटीबायोटिक चिकित्सा से बचा जाना चाहिए।"

भारत सरकार के पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव लव वर्मा ने कहा, "सेप्सिस को वह मान्यता नहीं दी गई है जिसके वह हकदार हैं और यह नीति के ²ष्टिकोण से बहुत पीछे है। हमें मानक संचालन प्रक्रियाओं की आवश्यकता है और हमें भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद, सतत चिकित्सा शिक्षा (सीएमई) द्वारा शोधों में सेप्सिस के मामलों को चिह्न्ति करने की आवश्यकता है और इसे नीति निमार्ताओं द्वारा प्राथमिकता पर लिया जाना चाहिए।"

जबकि यह नवजात शिशुओं और गर्भवती महिलाओं में मृत्यु का एक प्रमुख कारण है। सेप्सिस वृद्ध वयस्कों, आईसीयू में रोगियों और एचआईवी / एड्स, लिवर सिरोसिस, कैंसर, गुर्दे की बीमारी और ऑटोइम्यून बीमारियों से पीड़ित लोगों को भी प्रभावित करता है।

विशेषज्ञों ने कहा कि इसने चल रहे कोविड -19 महामारी के दौरान रोग इम्यून के कारण होने वाली अधिकांश मौतों में भी प्रमुख भूमिका निभाई।

क्लाउडनाइन ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के संस्थापक और अध्यक्ष, किशोर कुमार ने कहा, "जब तक हम जनता को शिक्षित और जागरूक नहीं करेंगे, तब तक सेप्सिस एक पहेली बना रहेगा। हाल ही में, पीडियाट्रिक एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने एएए - 'एंटीबायोटिक दुरुपयोग से बचें' नामक एक नारा अपनाया है, क्योंकि भारत में एंटीबायोटिक्स बहुत अधिक निर्धारित हैं। लगभग 54 प्रतिशत भारत में नवजात शिशु सेप्सिस से मरते हैं, जो अफ्रीका से भी बदतर है। हमें तीन-आयामी ²ष्टिकोण की आवश्यकता है - प्राथमिक रोकथाम, माध्यमिक रोकथाम और शिक्षा और जागरूकता है।"


आईएएनएस
नई दिल्ली
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email


फ़ोटो गैलरी
अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

अनुष्का पशुओं के प्रति समर्पित

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की

नागा चैतन्य और साईं पल्लवी की 'लव स्टोरी' का ट्रेलर जारी

भारत जीता ओवल टेस्ट

भारत जीता ओवल टेस्ट

दिल्ली हुई पानी-पानी

दिल्ली हुई पानी-पानी

स्कूल चलें हम

स्कूल चलें हम

शहनाज का बोल्ड अंदाज

शहनाज का बोल्ड अंदाज

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

काबुल एयरपोर्ट पर जबरदस्त धमाका

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

लॉर्डस पर भारत की ऐतिहासिक जीत

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

ओलंपिक खिलाड़ियों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

तालिबान शासन के डर से लोग काबुल छोड़कर भागे

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

टोक्यो से घर वापसी पर भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक दल का भव्य स्वागत

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

टोक्यो ओलंपिक 2020 का रंगारंग समापन

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

नीरज ने भाला फेंक में ओलंपिक में भारत को दिलाया गोल्ड मैडल

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

ओलंपिक कुश्ती में रवि दहिया को रजत पदक

जश्न मनाती टीम इंडिया

जश्न मनाती टीम इंडिया

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

दिल्ली में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

भारतीय महिला हॉकी ने आस्ट्रेलिया को चटाई धूल

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

टोक्यों ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सिंधु

सोने सी चमकती मलाइका

सोने सी चमकती मलाइका

कंगना का बॉलीवुड

कंगना का बॉलीवुड

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

टोक्यो ओलंपिक महिला हॉकी में भारत क्वार्टर फाइनल में

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

नए फोटोशूट में बेहद खूबसूरत लग रही हैं सारा अली खान

हिमाचल में भूस्खलन

हिमाचल में भूस्खलन

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

मॉनसून हुआ मेहरबान, देखें तस्वीरें

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

‘मुगल-ए-आजम’ से ‘कर्मा’ तक...

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

योग के रंग में रंगा देश, देखें तस्वीरें

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

PICS: महाराष्ट्र में मानसून की दस्तक, मुंबई में ट्रेन-यातायात प्रभावित

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

दिल्ली, महाराष्ट्र से लेकर यूपी तक, तस्वीरों में देखें अनलॉक शुरू होने के बाद का नजारा

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

PICS: किस शहर में लगा है लॉकडाउन और कहां है नाइट कर्फ्यू, जानें इन राज्यों का हाल

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

महाकुंभ: सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान, हरिद्वार कुंभ में उमड़ी भीड़

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार

बंगाल और असम दूसरे चरण के मतदान के लिए तैयार


 

172.31.21.212