Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

 धर्म

 
समस्या

अगर दुनिया खत्म हो जाए तो समस्या क्या है? मुझसे यह कई बार पूछा गया है, लेकिन समस्या क्या है? अगर वह खत्म होती है तो होती है। ....

परमात्मा का कार्य

एक औरत रोटी बनाते बनाते मंत्र जाप कर रही थी, अलग से पूजा का समय कहां निकाल पाती थी बेचारी, तो बस काम करते-करते ही एकाएक धड़ाम से जोरों की आवाज हुई और साथ में दर्दनाक चीख। ....

खुशी

प्रसन्न या अप्रसन्न रहना मूल रूप से आप का ही चुनाव है। लोग इसलिए दु:खी रहते हैं क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि दु:खी रहने से उन्हें कुछ मिलेगा। ....

नैतिकता

प्रकृति की मर्यादाओं-नियत नियमों की अनुकूल दिशा में चलकर ही सुखी, शांत और संपन्न रहा जा सकता है। ....

आरक्षण

अगर देश में दलित विकास के स्तर की बात करें तो मेरा मानना है कि उन्हें अब भी आरक्षण की जरूरत है। ....

युवा मन

यह बात ही झूठ है कि भारत का जवान राह खो बैठा है। ....

अनाचार

आकर्षक लगने वाली सभी वस्तुएं उपयोगी नहीं होतीं। सर्प, बिच्छू, कांतर, कनखजूरे जैसे प्राणी देखने में सुन्दर लगते हैं पर उनके गुणों को देखने पर पता चलता है कि वे समीप आने वाले को कितना त्रास देते हैं? ....

शाकाहार

आप के शरीर के अंदर जो खाना जा रहा है, उसके गुणों की बात करें तो आप के शरीर के लिए निश्चित रूप से मांसाहारी भोजन की अपेक्षा शाकाहारी भोजन बेहतर है। ....

परमार्थ

परमार्थ परायण जीवन जीना है, तो उसके नाम पर कुछ भी करने लगना उचित नहीं। परमार्थ के नाम पर अपनी शक्ति ऐसे कार्यों में लगानी चाहिए जिनमें उसकी सर्वाधिक सार्थकता हो। ....

क्या चुनें?

इस संसार में आप जो कुछ भी काम करते हैं वह सही रूप से तभी कुछ विशेष है, कीमती है जब आप अन्य लोगों के जीवन पर गहराई से कुछ अच्छा असर डालते हैं। ....

जन्म

एक जन्म में ज्ञान की यात्रा पूरी हो गई हो तो व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह चाहे तो एक जन्म और ले सके और चाहे तो न ले। बिल्कुल स्वतंत्रता की स्थिति है। ....

निष्कलंक से सुरक्षा

प्रगति के मार्ग में अवरोध का-विशेषतया श्रेष्ठ सम्भावनाओं में अड़चन आने का अपना इतिहास है, जिसकी पुनरावृत्ति अनादिकाल से होती रहीं हैं। ....

आनंद

आध्यात्मिक होने का अर्थ यह है कि आप अपने अनुभव से जानते हैं, ‘मैं अपने आप में आनंद का स्त्रोत हूं’। ....

योग

भारतीय अध्यात्म विद्या के जानकारों ने चार प्रकार के योग माने हैं-मंत्रयोग, हठयोग, लययोग, राजयोग। मंत्रयोग में किसी मंत्र के सहारे चित्त को एकाग्र किया जाता है। ....

सांस

जैसे जैसे हमारी जागरूकता में तीव्रता और पैनापन आने लगता है, एक बात जिसके बारे में हम स्वाभाविक रूप से सबसे पहले जागरूक होते हैं, वह है सांस। ....

पूंजीवाद

पूंजीवाद हमारे मन में सिर्फ एक गाली की तरह आता है, एक निंदा की तरह आता है बिना यह जाने की पूंजीवाद ने मनुष्य जाति के लिए किया क्या है। ....

पात्रता

पात्रता के अभाव में सांसारिक जीवन में किसी को शायद ही कुछ विशेष उपलब्ध हो पाता है। ....

उपवास

यदि आप तीस साल के हैं, तो दिन में दो बार अच्छा भोजन आप के लिए काफी है- एक सुबह में और एक शाम को। ....

विचार

विचारणाओं और भावनाओं की उत्कृष्टता ही मानवीय उत्कर्ष का, अभ्युदय का प्रमुख आधार है। ....

आत्म-ज्ञान

अगर तलाश के लिहाज से, अनुभव करने और जानने के लिहाज से बात की जाए, तो आत्मज्ञान से बढ़कर कुछ नहीं है। खोज करने के लिए वाकई कुछ और नहीं है। ....

  फ़ोटो गैलरी
PHOTOS:
PHOTOS: 'दिल बेचारा'...
B
B'day: जानें कैसा रहा...
सरोज खान के निधन...
सरोज खान के निधन...
बाल कलाकार...
बाल कलाकार...
पसीने से मेकअप को...
पसीने से मेकअप को...
सुशांत काफी...
सुशांत काफी...
अनलॉक-1 शुरू होते ही घर...
अनलॉक-1 शुरू होते ही घर...
स्वर्ण...
स्वर्ण...
श्रद्धालुओं के...
श्रद्धालुओं के...
चक्रवात निसर्ग...
चक्रवात निसर्ग...
World Cycle Day: ये हैं...
World Cycle Day: ये हैं...
अनलॉक -1 के पहले...
अनलॉक -1 के पहले...
लॉकडाउन बढ़ाए जाने...
लॉकडाउन बढ़ाए जाने...
एक दिन बनूंगी...
एक दिन बनूंगी...
सलमान के ईदी के...
सलमान के ईदी के...
सुपर साइक्लोन...
सुपर साइक्लोन...
अनिल-सुनीता मना...
अनिल-सुनीता मना...
लॉकडाउन :  ऐसे यादगार...
लॉकडाउन : ऐसे यादगार...
निर्भया को मिला...
निर्भया को मिला...
तस्वीरें: शिमला में 3...
तस्वीरें: शिमला में 3...
रंग के उमंग पर कोरोना...
रंग के उमंग पर कोरोना...
कोरोना वायरस: डरें...
कोरोना वायरस: डरें...
भारतीय डिजाइनर की...
भारतीय डिजाइनर की...
हैप्पीनेस क्लास...
हैप्पीनेस क्लास...
...और ताज को निहारते रह...
...और ताज को निहारते रह...
ट्रंप और...
ट्रंप और...
अहमदाबाद में...
अहमदाबाद में...
महाशिवरात्रि:...
महाशिवरात्रि:...
महाशिवरात्रि: जब...
महाशिवरात्रि: जब...
जब अचानक ‘हुनर...
जब अचानक ‘हुनर...
अबू जानी-संदीप खोसला...
अबू जानी-संदीप खोसला...
मेसी-हेमिल्टन ने...
मेसी-हेमिल्टन ने...

 

172.31.21.212