Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

 धर्म

 
गंगा

गंगा के प्रतीक को भी समझने जैसा है। गंगा के साथ हिंदू मन बड़े गहरे में जुड़ा है। ....

मानवता

मानव-जीवन की सफलता, सौंदर्य और उपयोगिता में वृद्धि जिन नैतिक सुणों से होती है, उनमें सहानुभूति का महत्त्व कम नहीं है। ....

छिछले संबंधों के पार

मैं जिस लड़की के साथ हूं उसके बारे में डर है। मुझे उसे खो देने का डर है और यह मुझे एक गहरा रिश्ता रखने से रोकता है। ....

दान

दान का अर्थ है देवत्व के अनुरूप देते रहने की वृत्ति को जिंदा रखना। ....

चित्त

चित्त मन का सबसे भीतरी आयाम है, जिसका संबंध उस चीज से है जिसे हम चेतना कहते हैं। ....

आकर्षण

केवल एक प्रेमपूर्ण व्यक्ति-जो पहले से ही प्रेमपूर्ण है-सही साथी ढूंढ सकता है। ....

मनुष्यता

भगवान ने मनुष्य के साथ कोई पक्षपात नहीं किया है, बल्कि उसे अमानत के रूप में कुछ विभूतियां दी हैं, जिनको सोचना, विचारणा, बोलना, भावनाएं, सिद्धियां-विभूतियां कहते हैं। ....

कर्म मुक्ति

हमारी जिंदगी में दो तरह के कर्म हैं। एक कर्म तो वह है जो हम अभी करते हैं, कल कुछ-कुछ पाने की आशा में। ऐसा कर्म भविष्य की तरफ से ‘धक्का’ है, खींचना है। ....

ठहर कर सोचें

एक युवक ने विवाह के दो साल बाद परदेस जाकर व्यापार की इच्छा पिता से कही। सत्रह वर्ष धन कमाने में बीते गए तो संतुष्टि हुई और वापस लौटने की इच्छा हुई। जहाज में बैठ गया। ....

नीम

नीम का पत्ता धरती पर पाया जाने वाला सबसे विविध गुणों वाला पत्ता है। ....

प्रेम और विवाह

प्रेम जो है, वह व्यक्तित्व की तृप्ति का चरम बिंदु है। और जब प्रेम नहीं मिलता है तो व्यक्तित्व हमेशा मांग करता है कि मुझे पूर्ति चाहिए। ....

शिव

शिव का अर्थ है ‘शुभ’। शंकर का अर्थ होता है, कल्याण करने वाले। निश्चित रूप से उन्हें प्रसन्न करने के लिए मनुष्य को उनके अनुरूप ही बनना पड़ेगा। ....

प्रेम

यह प्रश्न तो बहुत सीधा-सादा मालूम पड़ता है, लेकिन शायद इससे जटिल और कोई प्रश्न नहीं है। ....

बोया पेड़ बबूल का..

पुराने समय में एक राजा था। वह अक्सर अपने दरबारियों और मंत्रियों की परीक्षा लेता रहता था। ....

क्रोध

अगर हम क्रोध की जड़ को खंगालने का प्रयास करें तो यही सामने आता है कि बाहरी गतिविधियां ही इसका कारण है ....

सोचो ही मत

खोपड़ी से मत सोचो/सच में तो, सोचो ही मत। ....

समय की चूक

समय की चूक पश्चाताप की हूक बन जाती है। ....

भावावेश

सभी विभिन्न आवेगों में निश्चित ही बहुत समानता है: वह है भावावेशित हो जाना। ....

संतोष

एक बार की बात है। एक गांव में एक महान संत रहते थे। स्वयं का आश्रम बनाना चाहते थे जिसके लिए कई लोगों से मुलाकात करते थे। ....

मन की प्रकृति

दिमाग और दिल की जद्दोजहद की खूब चर्चा होती है। वास्तविकता में ऐसा कोई अंतर नहीं होता क्योंकि आप जैसे सोचते हैं, वैसे ही महसूस करते हैं। ....

Spacer
  फ़ोटो गैलरी
त्योहार एक, रूप अनेक...
त्योहार एक, रूप अनेक...
दिल्ली कर्फ्यू:...
दिल्ली कर्फ्यू:...
बच्चों को टीका कवच......
बच्चों को टीका कवच......
माता वैष्णो देवी...
माता वैष्णो देवी...
प्रयागराज में...
प्रयागराज में...
ड्रोन मेगा शो में...
ड्रोन मेगा शो में...
कैटरीना-विक्की ने...
कैटरीना-विक्की ने...
आधी रात को
आधी रात को 'काशी दर्शन'...
इतिहास के नाम काशीधाम...
इतिहास के नाम काशीधाम...
शुरू हुई किसानों की...
शुरू हुई किसानों की...
योद्धाओं के शोक...
योद्धाओं के शोक...
तेजस्वी ने...
तेजस्वी ने...
कैटरीना एवं...
कैटरीना एवं...
भारत-रूस की अटूट दोस्ती...
भारत-रूस की अटूट दोस्ती...
भारतीय नौसेना ने...
भारतीय नौसेना ने...
अनुष्का का पशु प्रेम...
अनुष्का का पशु प्रेम...
'लव स्टोरी' का...
भारत जीता ओवल टेस्ट...
भारत जीता ओवल टेस्ट...
भारी बारिश से...
भारी बारिश से...
स्कूल चलें हम...
स्कूल चलें हम...
शहनाज का बोल्ड अंदाज...
शहनाज का बोल्ड अंदाज...
काबुल एयरपोर्ट...
काबुल एयरपोर्ट...
लॉर्डस पर भारत की जीत...
लॉर्डस पर भारत की जीत...
ओलंपिक खिलाड़ी...
ओलंपिक खिलाड़ी...
तालिबान डर से लोग...
तालिबान डर से लोग...
टोक्यो से घर वापसी...
टोक्यो से घर वापसी...
भारतीय ओलंपिक दल...
भारतीय ओलंपिक दल...
टोक्यो 2020 का...
टोक्यो 2020 का...
भाला फेंक में नीरज...
भाला फेंक में नीरज...
रवि ने दिलाया भारत...
रवि ने दिलाया भारत...
जीत के जश्न में डूबी...
जीत के जश्न में डूबी...
दिल्ली में सिंधु...
दिल्ली में सिंधु...

 

172.31.21.212