Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

06 Nov 2010 11:32:51 PM IST
Last Updated : 06 Nov 2010 11:32:51 PM IST

टैगोर साहित्य में जाति के सवाल

मुद्राराक्षस

हम इतिहास की कुछ घटनाएं नजरअन्दाज करके खासे ही संतुष्ट होते हैं क्योंकि उनका कड़वा सच झेलना मुश्किल होता है।

 रवीन्द्रनाथ टैगोर रामकृष्ण परमहंस के बेलूर मठ के आग्रह के बावजूद वहां नहीं गये थे और इससे पहले उड़ीसा के मंदिर में प्रवेश से रोक दिये गये थे। अब जब उनकी 150 वीं जयंती मनायी जा रही है। इस मौके पर क्या यह जरूरी नहीं होगा कि हम इन अत्यन्त गम्भीर घटनाओं की पड़ताल कर लें? भगिनी निवेदिता ने टैगोर से आग्रह किया था कि वे बेलूर मठ आएं। इस पर टैगोर ने खीझ कर जवाब दिया था, 'वे आ सकते हैं बशर्ते विवेकानन्द वहां हर शाम नाचने का कर्मकांड बन्द कर दें।'

इस प्रसंग का जिक्र आईएएस अधिकारी एसके विश्वास ने अपनी किताब में विस्तार से किया है। इसी लेखक ने यह भी लिखा है कि कवि रवीन्द्र उड़ीसा के मंदिर में जाने से इसलिए रोके गये थे कि वे दलित जाति के थे और उनका मंदिर में प्रवेश वर्जित था। यही वजह है कि रवि बाबू ने 'जूते का आविष्कार' जैसी तीखी व्यंग्य कविता लिखी जिसमें राजा और उनके बुद्धिमान विद्वान मंत्रियों की समझ पर जूते बनाने वाले कारीगर का सामान्य ज्ञान भारी पड़ता है।

साहित्य का नोबेल पुरस्कार पाने के बाद टैगोर देश के सर्वाधिक चर्चित और सम्मानित रचनाकार हो गये थे लेकिन यह तथ्य कभी सामने नहीं आया था कि वे दलित जातीय प्रतिभा थे। कुछेक जीवनीकारों ने तो बाकायदा उन्हें ब्राह्मण ही लिखा है। यह देखना दिलचस्प है कि जिस प्रतिभा को दलित होने के कारण पुरी के जगन्नाथ मंदिर में प्रवेश करने से रोका गया था उसे ही नोबेल पुरस्कार के बाद लोग ब्राह्मण घोषित करने लग गये। चूंकि बंगाल में उनकी जाति 'पीरल्ली' कही जाती थी। इसलिए 'पीरल्ली' को भी ब्राह्मण या पूर्व ब्राह्मण माना जाने लगा गोकि 'पीरल्ली जाति घृणा लगातार पाती रही।

हैरानी की बात है कि दलित रचनाकारों ने टैगोर को अपने विमर्श में एक दलित जातीय विराट प्रतिभा को कभी याद नहीं किया। रवीन्द्रनाथ की जाति पीरल्ली थी जो बंगाल में दलित जाति रही है। बंगाल में दलित जाति की हैसियत काफी बड़ी थी। 'मनुस्मृति' के अनुसार दलित जाति शूद्र पिता और ब्राह्मण मां की संतान से विकसित हुई जाति है (मनु 10-16) लेकिन इसी पीरल्ली जाति के हरिचंद ठाकुर ने 19 वीं सदी में इस जातीय अवमानना के विरुद्ध बड़ा आन्दोलन छेड़ा था।

यहां यह भी ध्यान देने वाली बात है कि इसी पीरल्ली जाति के लोगों ने जातीय अपमान और उत्पीड़न से त्रस्त हो कर लाखों की तादाद में धर्म परिवर्तन कर मुसलमान बन गये थे। अक्टूबर 1998 में प्रकाशित डॉ. तनुजा मजूमदार के एक लेख में खुद रविबाबू ने पूर्वजों द्वारा धर्म परिवर्तन करने के बाद इस्लाम स्वीकार करने का विस्तारपूर्वक विवरण दिया था। उन्हीं में एक कामदेव थे,जो बाद में कमालुद्दीन खां चौधरी हो गये थे जिनके वंशज कोलकात्ता के पार्क सर्कस में रहते हैं।

डॉ. मजूमदार के  इसी लेख से दो उद्धरण मैं यहां देना चाहूंगा हिन्दू समाज का कोई भी प्रिंस द्वारकानाथ ठाकुर के इस यशस्वी पुत्र से शादी नहीं करना चाहता था विवश होकर देवेन्द्रनाथ ठाकुर ने अपने ही एक कर्मचारी की अशिक्षित और श्यामवर्ण बेटी से (रविबाबू का) विवाह किया। लेखिका ने यहां 'द्वारकानाथ ठाकुरेर' जीवनी भी उद्घृत की है जिसका आखिरी वाक्य है-'पूर्वजों को अच्छे या बुरे जिस कर्म के कारण से पीरल्ली उपाधि मिली थी मैं उसके कारण लज्जित क्यों होऊं?'

टैगोर के धर्मान्तरित पूर्वजों में से ही खां के परिवार की एक महिला प्रो. किश्वरजहां से अपनी मुलाकात का जिक्र डॉ. मजूमदार ने किया है। लेखिका के अनुसार इसी ठाकुर परिवार के पूर्वजों द्वारा इस्लाम धर्म कुबूल किये जाने की घटना का जिक्र 'द्वारकानाथ ठाकुरेर जीवनी' ही नहीं 'रवीन्द्र जीवनी' में भी मिलता है। रविबाबू के उक्त पूर्वजों ने 15वीं सदी में धर्म परिवर्तन किया था। तब बंगाल में इसी जातिवादी अपमान के चलते सामूहिक धर्मपरिवर्तन हुए थे।

आज जब हम राष्ट्रीय पैमाने पर रवीन्द्रनाथ टैगोर की डेढ़ सौंवीं जयन्ती मना रहे हैं, हमें रवीन्द्र साहित्य में इस जातिवाद के प्रभाव की छानबीन करनी चाहिए।


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

अनिल-सुनीता मना रहे शादी की 36वीं सालगिरह

लॉकडाउन :  ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

लॉकडाउन : ऐसे यादगार बना रही करीना छुट्टी के पल

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, लोगों ने मनाया जश्न

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: मार्च महीने में शिमला-मनाली में हुई बर्फबारी, हिल स्टेशन का नजारा हुआ मनोरम

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: रंग के उमंग पर कोरोना का साया, होली मिलन से भी परहेज

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव की इन बातों का रखें ख्याल

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका

PICS: भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे की बनाई शेरवानी में नजर आईं इवांका


 

172.31.21.212