Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

07 Dec 2017 05:18:13 AM IST
Last Updated : 07 Dec 2017 05:24:33 AM IST

टॉनिक काफी नहीं

टॉनिक काफी नहीं
टॉनिक काफी नहीं

निर्यात को लेकर हाल में कुछ ठोस कदम उठाये गये हैं. मंगलवार को वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु की घोषणाओं के मुताबिक निर्यात क्षेत्र के सहायता-प्रोत्साहन में बढ़ोत्तरी की गयी है.

2017-18 के दौरान इसमें से 2,816 करोड़ रु पये का खर्च होगा.

कुल सहायता-प्रोत्साहन में करीब 8450 करोड़ रु पये की बढ़ोत्तरी घोषित की गयी है. विदेश व्यापार नीति 2015-20 की मध्यावधि समीक्षा के तहत ये घोषणाएं की गयीं. इस सहायता-प्रोत्साहन से चमड़े, हैंडीक्रॉफ्ट, कालीन, खेल साज-सामान, इलेक्ट्रानिक साज-सामान का निर्यात करनेवालों को फायदा पहुंचेगा. गौरतलब है कि निर्यात के हाल बहुत लंबे समय से अच्छे नहीं चल रहे हैं.

निर्यातक प्रोत्साहन-सहायता की मांग कर रहे थे. खासकर नोटबंदी के बाद निर्यातकों की समस्याओं में बहुत इजाफा हो गया था. कालीन उद्योग और चमड़े के उत्पाद बनानेवाले उद्योगों में कई लोगों को रोजगार मिलता है. इन उद्योगों की हालत भी नोटबंदी के बाद खस्ता हो गयी थी. कई चमड़ा इकाइयों के तो बंद होने की नौबत आ गयी थी. उन्हें इन कदमों से सहारा मिलेगा ऐसा माना जा सकता है.

पर सोचने की बात यह कि सिर्फ  यह कदम काफी नहीं है. निर्यात से जुड़ी मूलभूत समस्याओं को समझना होगा. अंतरराष्ट्रीय बाजार में वे ही उत्पाद टिक पायेंगे जो लागत में सस्ते और अपनी गुणवत्ता में अधिकतम हों, उनमें तमाम तरह की विशेषताएं हों. यानी कुल मिलाकर हालात ऐसे बनाये जाने चाहिए कि भारत में निर्यातक सस्ते दामों पर श्रेष्ठ उत्पाद तैयार कर सकें.

भारतीय उत्पाद अंतरराष्ट्रीय बाजारों में लागत के मामले में पिट जाते हैं. एक वक्त में भारत के कपड़े पूरे ग्लोबल बाजार में धूम मचाते थे,अब ऐसा नहीं है. बांग्लादेश ने भारत को इस मामले में जबरदस्त प्रतिस्पर्धा दी है. उसने अपने यहां ऐसी स्थितियां पैदा की हैं, जिनमें सस्ते आइटम तैयार कर पाना संभव है. इसलिए बांग्लादेश के सस्ते और बेहतर कपड़े पूरी दुनिया में धूम मचा रहे हैं. प्रोत्साहन सहायता की तुलना टॉनिक से की जा सकती है, जो शरीर में थोड़ी ताकत बढ़ा सकते हैं, पर शरीर का स्वस्थ होना जरूरी है.

शरीर को किसी बीमारी वगैरह से ग्रस्त नहीं होना चाहिए. भारतीय निर्यात खराब आधारभूत ढांचे की समस्या से जूझ रहे हैं. बिजली-सड़क की आफतें अपनी जगह हैं. इन सबसे उत्पादों की लागत बढ़ जाती है और वे अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धा से बाहर हो जाते हैं. केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को उन मसलों पर भी गंभीरता से विचार करना चाहिए, सिर्फ  प्रोत्साहन-टॉनिक काफी नहीं है.


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :



फ़ोटो गैलरी
PICS: 95 साल के हुए दिलीप कुमार, जानें कैसे बने यूसुफ खां से

PICS: 95 साल के हुए दिलीप कुमार, जानें कैसे बने यूसुफ खां से 'दिलीप कुमार'

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 11 दिसंबर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 11 दिसंबर 2017 का राशिफल

जानिए 10 से 16 दिसम्बर तक का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 10 से 16 दिसम्बर तक का साप्ताहिक राशिफल

Photos: ... इसलिए शशि कपूर को देखने दोबारा कभी अस्पताल नहीं गये अमिताभ

Photos: ... इसलिए शशि कपूर को देखने दोबारा कभी अस्पताल नहीं गये अमिताभ

भारती सिंह ने हर्ष लिम्बाचिया संग लिए सात फेरे, देखिए Photos

भारती सिंह ने हर्ष लिम्बाचिया संग लिए सात फेरे, देखिए Photos

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 4 दिसंबर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 4 दिसंबर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, बृहस्पतिवार, 30 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, बृहस्पतिवार, 30 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, बुधवार, 29 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, बुधवार, 29 नवम्बर 2017 का राशिफल

PICS: पुरानी साड़ी का ऐसे करें दोबारा इस्तेमाल

PICS: पुरानी साड़ी का ऐसे करें दोबारा इस्तेमाल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 20 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 20 नवम्बर 2017 का राशिफल

B

B'day Spl: 42 की हुई पूर्व मिस यूनीवर्स सुष्मिता सेन, आज भी बरकरार है ग्लैमरस अवतार

PICS: इस सवाल के जवाब ने भारत की मानुषी को बनाया मिस वर्ल्ड...

PICS: इस सवाल के जवाब ने भारत की मानुषी को बनाया मिस वर्ल्ड...

B

B'day- आराध्या की मौजूदगी घर में खुशी लाती है: अमिताभ

Diabetes: कहीं रह ना जाए मां बनने की चाह अधूरी

Diabetes: कहीं रह ना जाए मां बनने की चाह अधूरी

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 13 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 13 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए 12 से 18 नवम्बर का साप्ताहिक राशिफल

जानिए 12 से 18 नवम्बर का साप्ताहिक राशिफल

सावधान! दिल्ली की दमघोंटू हवा में सांस लेने का मतलब 50 सिगरेट रोज पीना

सावधान! दिल्ली की दमघोंटू हवा में सांस लेने का मतलब 50 सिगरेट रोज पीना

महिला हॉकी टीम का भव्य स्वागत

महिला हॉकी टीम का भव्य स्वागत

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 6 नवम्बर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 6 नवम्बर 2017 का राशिफल

PICS: हैप्पी बर्थडे: 29 साल के हुए विराट, ऐसे मनाया बर्थडे

PICS: हैप्पी बर्थडे: 29 साल के हुए विराट, ऐसे मनाया बर्थडे

गिनीज बुक तक पहुंची खिचड़ी के तड़के की महक

गिनीज बुक तक पहुंची खिचड़ी के तड़के की महक

बर्थ डे स्पेशल: देखें शाहरूख की वो तस्वीरें जो कर देगीं आपको हैरान

बर्थ डे स्पेशल: देखें शाहरूख की वो तस्वीरें जो कर देगीं आपको हैरान

नेहरा ने लगभग 40 हजार दर्शकों के सामने क्रिकेट को कहा अलविदा...

नेहरा ने लगभग 40 हजार दर्शकों के सामने क्रिकेट को कहा अलविदा...

PICS: सूरत में राहुल की वैन पर चढ़कर लड़की ने ली सेल्फी

PICS: सूरत में राहुल की वैन पर चढ़कर लड़की ने ली सेल्फी

हैप्पी बर्थडे:

हैप्पी बर्थडे: 'खूबसूरती की मिसाल' ऐश्वर्या राय बच्चन 44 की हुईं

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 30 अक्टूबर 2017 का राशिफल

जानिए कैसा रहेगा, सोमवार, 30 अक्टूबर 2017 का राशिफल

यौन शक्ति घटाता है मोटापा

यौन शक्ति घटाता है मोटापा

फीफा U-17: खूबसूरत रंगोली से सजा कोलकाता का साल्ट लेक स्टेडियम

फीफा U-17: खूबसूरत रंगोली से सजा कोलकाता का साल्ट लेक स्टेडियम

प्रशिक्षु IAS अधिकारी जनता से जुडने की क्षमता विकसित करें: PM

प्रशिक्षु IAS अधिकारी जनता से जुडने की क्षमता विकसित करें: PM

तस्वीरों में देखिये, सूर्य उपासना के महापर्व छठ की छटा

तस्वीरों में देखिये, सूर्य उपासना के महापर्व छठ की छटा

माता सीता ने किया था पहला छठ, यहां मौजूद हैं उनके पदचिन्ह

माता सीता ने किया था पहला छठ, यहां मौजूद हैं उनके पदचिन्ह

पटाखा बैन का असर, पिछले साल से कम हुआ प्रदूषण, देखें..

पटाखा बैन का असर, पिछले साल से कम हुआ प्रदूषण, देखें..


 

172.31.20.145