बंदूकों के साये में चुनाव

Pics: बंदूकों के साये में पाकिस्तान में चुनाव, तालिबान ने दी हमले की धमकी

पाकिस्तान में आज का दिन ऐतिहासिक है ऐसा पहली बार है कि किसी जनतांत्रिक सरकार ने अपना टर्म पूरा किया है, जिसके बाद दोबारा से चुनाव हो रहे हैं. तालिबान की लगातार धमकियों और हमलों के बावजूद आज पाकिस्तान में 272 सीटों के लिए मतदान होने जा रहा है. गड़बड़ियों की आशंकाओं के मद्देनजर सुरक्षा के भी तगड़े इंतजाम किए गए हैं. लेकिन भारत को उम्मीद है कि पाकिस्तान में इस चुनाव से लोकतंत्र की जड़े मजबूत होंगी. भारत की नज़र से पाकिस्तान के ये ऐतिहासिक चुनाव बेहद अहम है. खास बात यह है कि इस बार तीनों प्रमुख पार्टियों ने कश्मीर को अपने घोषणा पत्र में जगह तो जरूर दी है लेकिन भारत के खिलाफ तल्खी नहीं है. यानि तीनों ही पार्टियां वार्ता में विश्वास जता रही हैं. तीनों ही राजनीतिक दल भारत के साथ रिश्तों की बेहतरी और व्यापार को बढ़ाने की वकालत कर रहे हैं. लंबे समय तक सैन्य शासन के साये में रहे और पिछले कई वर्षों से आतंकवाद एवं हिंसा का सामना कर रहे पाकिस्तान के करोड़ों लोग आज अपनी अगली लोकतांत्रिक सरकार चुनने के लिए मतदान करेंगे. इसी साल मार्च में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के नेतृत्व वाली सरकार के पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद 11 मई को चुनाव कराने का ऐलान हुआ था. पाकिस्तान की तारीख में यह पहला मौका होगा जब चुनाव के ज़रिए सत्ता का हस्तांतरण एक लोकतांत्रिक सरकार से दूसरी लोकतांत्रिक सरकार के हाथों में होगा. चुनाव खत्म होने के बाद मतगणना शुरू हो जाएगी और सभी नतीजे आने में एक सप्ताह से अधिक का समय लग जाता है.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY