34 दिनों से भूख-हड़ताल पर भाई गुरबख्श सिंह

सिख नजरबंदों की रिहाई के लिए भूख-हड़ताल पर बैठे भाई गुरबख्श सिंह

छह सिख युवकों की रिहाई की मांग को लेकर गुरुद्वारा श्री अंब साहिब परिसर में पिछले 35 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे भाई गुरबख्श सिंह की हालत और खराब हो गई है. वे ऐसे युवकों की रिहाई की मांग कर रहे हैं जो अपनी पूरी सजा काट चुके हैं. गुरबख्श ने मंगलवार को अपना शरीर अकालतख्त के नाम करने की घोषणा करते हुए अपनी देह पीजीआई को दान कर दी. वह बुधवार को अमृतसर जाकर इस संबंधी वसीयत अकालतख्त साहिब के जत्थेदार को देंगे. उन्होंने कहा, 'मेरे मरने के बाद जत्थेदार साहिब मेरे शरीर को किसी भी उद्देश्य के लिए इस्तेमाल कर सकेंगे.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY