Samay Live
08 Nov 2017 03:51:22 PM IST
Last Updated : 08 Nov 2017 04:02:36 PM IST

विराट ने किया धोनी का बचाव, कहा हर तरह से टीम में योगदान दे रहे हैं माही

वार्ता
विराट ने किया धोनी का बचाव, कहा हर तरह से टीम में योगदान दे रहे हैं माही
कप्तान विराट कोहली और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (फाइल फोटो)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पूर्व कप्तान और मौजूदा समय में टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का समर्थन करते हुए कहा कि वह हर तरीके से टीम में अपना योगदान दे रहे हैं.

35 साल की उम्र पार कर चुके धोनी ने राजकोट में न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे ट्वंटी-20 अंतररराष्ट्रीय मैच में 37 गेंदों पर 49 रन की की पारी खेली थी. भारत को इस मैच में 40 रन से हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद धोनी आलोचकों के निशाने पर आ गए थे.

विराट ने तिरुवनंतपुरम में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली ट्वंटी-20 सीरीज के बाद कहा, सबसे पहले तो मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि लोग उन पर निशाना क्यों साध रहे हैं? अगर मैं तीन बार फेल हो जाऊंगा, तो फिलहाल मुझ पर कोई भी ऊंगली नहीं उठाएगा क्योंकि मैं अभी 35 पार नहीं हूं. वह पूरी तरह से फिट हैं और सभी तरह के फिटनेस टेस्ट को पास कर रहे हैं. धोनी संभवत: हर तरह से टीम में अपना योगदान दे रहे हैं.

धोनी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्षा बाधित तीसरे और निर्णायक ट्वंटी-20 मैच में शानदार रन आउट किये. भारत ने इस मैच को छह रन से जीतकर न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली ट्वंटी-20 सीरीज 2-1 से जीत ली.

कप्तान ने कहा, वह पूरी चुस्ती-फुर्ती के साथ मैदान पर बल्लेबाजी और विकेट के पीछे अपना काम कर रहे हैं. अगर आप श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुई सीरीज को देखें, तो उन्होंने बल्ले और विकेट के पीछे शानदार काम किया है. इस सीरीज में उन्हें बल्लेबाजी करने का ज्यादा मौका नहीं मिला.     



धोनी जिस नंबर पर बल्लेबाजी करने आते हैं आलोचक उस पर अक्सर सवाल खड़ा करते हैं. वह ज्यादातर नंबर पांच और छह पर बल्लेबाजी के लिए आते हैं, इससे उन्हें पिच पर अपनी आंखें जमाने के लिए कम समय मिलता है. विराट का मानना है कि धोनी को लेकर हो रही उनकी आलोचना बिल्कुल गलत है.

विराट ने कहा, आपको समझना होगा कि जिस क्रम पर वह बल्लेबाजी के लिए आते हैं वहां रन बनाना आसान नहीं होता. यहां तक कि इस सीरीज मे हार्दिक पांड्या भी अपने लय में नहीं लौट पाए हैं. तो हम सिर्फ एक ही आदमी पर निशाना क्यों साध रहे हैं. आप को समझना चाहिए कि जब नई गेंद से गेंदबाजी हो रही हो और आपके शुरुआत के चार विकेट आउट हो चुके हैं, तो बल्लेबाजी में अलग तरह का दबाव होता है. इस दौरान रन बनाना आसान नहीं होता है.

भारतीय रन मशीन विराट ने कहा, दिल्ली में जब उन्होंने छक्का लगाया था तो मैच के बाद उसे पांच बार दिखाया गया था. हर कोई खुश था. लेकिन जब उन्होंने एक मैच में स्कोर नहीं किया तो लोग उनकी आलोचना करने लगे. मुझे लगता है कि लोगों को संयम बरतने की जरुरत है. वह एक शानदार और स्मार्ट क्रिकेटर हैं.

 

 



 
loading...

ताज़ा ख़बरें


 

 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
There is no gallery


 

 

Facebook

Twitter

Youtube

RSS

Spacer