Samay Live
29 Nov 2017 03:40:04 PM IST
Last Updated : 29 Nov 2017 03:45:21 PM IST

वर्ल्ड लीग मेरे लिये नयी शुरूआत: रूपिंदर

वार्ता
वर्ल्ड लीग मेरे लिये नयी शुरूआत: रूपिंदर
भारत के अनुभवी ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल (फाइल फोटो)

भारत के अनुभवी ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह छह महीने के बाद वापसी को लेकर उत्साहित हैं और उनका मानना है कि हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल उनके लिये नयी शुरूआत की तरह होंगी.

चोट के कारण रूपिंदर पिछले छह महीने से पुरूष हॉकी टीम का हिस्सा नहीं बन सके. लेकिन उन्हें हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल जैसे बड़े हॉकी टूर्नामेंट से वापसी का मौका मिलने जा रहा है. ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना के खिलाफ भारत ने मंगलवार को अपने अभ्यास मैच में जीत दर्ज की जिसमें रूपिंदर ने दो गोल दागे.
      
ड्रैग फिल्कर ने कहा मेरे लिये यह बिल्कुल नयी शुरूआत है. मैं लंबे समय के बाद खेलने जा रहा हूं और मेरा लक्ष्य मैदान पर अपनी इस ऊर्जा का इस्तेमाल करना है. मैंने चोट के दौरान कई बातें सीखें और सबसे अहम की मैच को कैसे समझना चाहिये. मैं सकारात्मक शुरूआत करना चाहता हूं. मैंने बहुत समय इस पल का इंतजार किया है और अब अच्छा करना चाहता हूं. 
        
रूपिंदर ने कहा कि हाल ही के प्रदर्शन से साफ है कि भारतीय टीम अपने हमले पर काफी ध्यान लगा रही है लेकिन साथ ही रक्षात्मक होकर भी खेलती है.  उन्होंने कहामेरे लिये डिफेंस ही प्राथमिकता है क्योंकि इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में हमें पेनल्टी कार्नर ही नहीं मिले. मुझे लगता है कि रक्षात्मक होने से मैच जीत सकते हैं और डिफेंडर ही नहीं बल्कि सभी 11 खिलाड़ियों को गोल पोस्ट का बचाव करना चाहिये.

भुवनेश्वर पहुंचने पर राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच शुअर्ड मरीने ने अर्जेंटीना और इंग्लैंड के खिलाफ टीम के अभ्यास मैचों को महत्वपूर्ण बताया. उन्होंने कहा कि बीरेंद्र लाकड़ा और रू¨पदर के लिये ये दोनों मैच काफी अहम थे क्योंकि वे लंबे समय बाद टीम में वापसी कर रहे हैं.
        
रूपिंदर ने कहा अर्जेंटीना और इंग्लैंड के खिलाफ दोनों अभ्यास मैच बहुत अहम थे. शारीरिक और मानसिक रूप से हमें इन मैचों ने टूर्नामेंट की तैयारियों के लिये मदद की. हमें इससे पता चला कि किन दिशाओं में हम सुधार कर सकते हैं ताकि पहले मैच में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा खेल सकें.


        
टीम के लिये डिफेंडर और ड्रैग फ्लिकर की भूमिका के अलावा रूपिंदर बैकलाइन में वरूण कुमार, हरमनप्रीत सिंह, दिप्सान तिर्की तथा अमित रोहिदास जैसे युवाओं के लिये मेंटर की भूमिका भी निभाएंगे. उन्होंने कहावे अपनी भूमिका को जानते हैं लेकिन टीम का सीनियर खिलाड़ी होने के नाते हमारा काम उनके खेल में सुधार के साथ उनका मनोबल बढ़ाना भी है.
        
भारतीय टीम एक दिसंबर को गत चैंपियन आस्ट्रेलिया के साथ अपने पूल बी मैच में अभियान की शुरूआत करने उतरेगी.

 



 
loading...

ताज़ा ख़बरें


 

 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
There is no gallery


 

 

Facebook

Twitter

Youtube

RSS

Spacer