Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

 धर्म

 
परमात्म तत्त्व

मनुष्य अपने वास्तविक स्वरूप को समझ लेता है, उसका संबंध परमात्म तत्त्व से स्पष्ट और प्रकट हो जाता है, जिसकी अभिव्यक्ति उच्च शक्तियों के रूप में होकर संसार को प्रभावित करने लगती है और लोग उस व्यक्ति को अवतार, ऋषि, ....

महालया अमावस्या

दशहरे के पहले जो अमावस्या की रात आती है, उसे ‘महालया अमावस्या’ के नाम से जाना जाता है. एक तरह से इसी दिन से दशहरा की शुरु आत हो जाती है. ....

बच्चों में डर

छुटपन से ही छोटे-छोटे बच्चे डर जाते हैं. बच्चे की समझ में नहीं आता. वह बड़े प्रेम से आया है, मां की साड़ी खींच रहा है, और मां झिड़क देती है कि दूर हट! ....

बीज कोष

ऊपर से देखने पर आदमी जैसा दिखाई पड़ता है, वह उसका पूरा शरीर नहीं है, वह केवल उसके शरीरों की पहली परत है. जब हम देखते हैं आदमी को तो जो हमें दिखाई पड़ता है. ....

पितरों के मोक्ष के लिए फल्गू तक आने से नहीं रोक पाया समंदर, विदेशियों ने किया पिंडदान

धर्म और सांस्कृतिक स्तर पर बिल्कुल अलग पहचान रखने के बावजूद विदेशी महिला सैलानियों को पूर्वजों की मुक्ति के लिए विश्व में मुक्तिधाम के रूप में विख्यात बिहार के गया में फल्गू नदी के तट पर पिंडदान करने आने से सात ....

विचार

याद रखना चाहिए कि अगर कोई बाहरी चीज हमें तकलीफ नहीं देती है, तो हम खुद एक दूसरे को तकलीफ देना शुरू कर देते हैं. ....

पितृ पक्ष में यूं घर बैठे श्राद्ध कर रहे यजमान

पितृ पक्ष में तर्पण और पूजन के लिए लोग दूर-दूर से उज्जैन पहुंचते हैं. लेकिन इस बार उज्जैन में एक नया नजारा देखने को मिल रहा है. ....

दृष्टिकोण

जरा सोच कर देखिए कि आपका मन कब-कब दुखी होता है? जब दूसरे लोग आपकी उम्मीदों के अनुसार व्यवहार नहीं करते. ....

शिक्षक व समाज

शिक्षक और समाज के संबंध में कुछ थोड़ी सी बातें जो मुझे दिखाई पड़ती हैं, वह मैं आपसे कहूं. शायद जिस भांति आप सोचते रहे होंगे उससे मेरी बात का कोई मेल न हो. ....

पीना और जीना

मनुष्य इतना धोखेबाज है कि अपनी ही बातों से स्वयं को धोखा देने में समर्थ हो जाता है. ....

अमीर-गरीब

हमें इस बात को अच्छी तरह से समझना होगा कि हमने एक ऐसा आर्थिक ढांचा चुना है, जहां हर व्यक्ति केवल अपना फायदा देखता है. ....

हठयोग

प्राप्राणायाम, प्रात्याहार, धारणा, ध्यान, समाधि ‘यम नियमासन प्राणायाम प्रत्याहार धारणा ध्यान समाधयोष्टावंगानि.’ (योगदर्शन पाद , सूत्र ) इन आठ में प्रारम्भिक दो अंगों का महत्त्व सबसे अधिक है. ....

संवेदनशीलता

आजकल हम ‘विकलांग’ शब्द का इस्तेमाल नहीं करते. उन्हें ‘स्पेशल बच्चे’ या ‘स्पेशल व्यक्ति’ कहते हैं. वह स्पेशल हैं, इसलिए आपको बाकियों से थोड़ा अधिक ध्यान उन पर देना पड़ता है. ....

पाखंड

हजारों वर्षों से आदमी हर संभव तरीके से उसे छिपाने की कोशिश करता रहा है, जो उसके अंदर कुरूप है-शरीर में, मस्तिष्क में या आत्मा में. यहां तक कि वे व्यक्ति भी, जो स्वाभाविक रूप से सुंदर हैं, उनका अनुकरण करना शुरू कर देत ....

आत्मा-परमात्मा

उपनिषद कहते हैं कि इस दुनिया में यदि कुछ ढूंढ़ने के लिए है तो वह है सिर्फ आत्मतत्व. यह कैसी विडंबना है कि मैं यानी मेरा शरीर और मेरा यार मेरी आत्मा एक ही बस्ती में रहते हैं. परंतु फिर भी न जाने क्यों मिलने को तरसते ह ....

ओशो, प्रीति, धर्म, धार्मिक लेख

कोई आदमी धन कमाने में लगा है; धन तो ऊपर की बात है, भीतर तो प्रीति से ही जी रहा है-धन से उसकी प्रीति है. ....

आध्यात्मिकता

आप पहले ही इस दुनिया में रह रहे हैं, लेकिन फिर भी आप बाहर निकलकर दुनिया देखना चाहते हैं. क्योंकि दुनिया में देखने के लिए बहुत कुछ है. ....

प्राणिधान

प्राणिधान का अर्थ है-धारण करना, स्थापित करना. ईश्वर प्राणिधान अर्थात् ईश्वर को धारण करना, ईश्वर को स्थापित करना. परमात्मा हमारे हृदयों में विराजमान है. ....

नदियां

एक देश के तौर पर हमने कई शानदार चीजें की हैं, जबकि कई चीजें करने को रह गई हैं. राष्ट्रमंडल देशों में भारत एक महान लोकतंत्र के तौर पर खड़ा हुआ है. ....

शरीर और कांच

अगर हम अपने शरीर में पीछे लौटें तो प्रत्येक व्यक्ति के शरीर में इस जगत का पूरा इतिहास छिपा है. ....

  फ़ोटो गैलरी
टाइगर जिंदा है ने...
टाइगर जिंदा है ने...
17 जनवरी 2018, बुधवार...
17 जनवरी 2018, बुधवार...
आदिरा...
आदिरा...
16 जनवरी 2018, मंगलवार...
16 जनवरी 2018, मंगलवार...
सोमवार,15 जनवरी 2018...
सोमवार,15 जनवरी 2018...
तमिलनाडु में पोंगल...
तमिलनाडु में पोंगल...
14 से 20 जनवरी तक...
14 से 20 जनवरी तक...
13 जनवरी 2018, शनिवार...
13 जनवरी 2018, शनिवार...
12 जनवरी 2018, शुक्रवार...
12 जनवरी 2018, शुक्रवार...
'स्वच्छ आदत स्वच्छ...
मकर संक्रांति:...
मकर संक्रांति:...
11 जनवरी 2018,...
11 जनवरी 2018,...
मैं पेरिस में नहीं...
मैं पेरिस में नहीं...
Delhi Book Fair: किताबों के...
Delhi Book Fair: किताबों के...
10 जनवरी 2018, बुधवार...
10 जनवरी 2018, बुधवार...
9 जनवरी 2018, मंगलवार...
9 जनवरी 2018, मंगलवार...
8 जनवरी 2018, सोमवार...
8 जनवरी 2018, सोमवार...
7 से 13 जनवरी तक...
7 से 13 जनवरी तक...
जब जरुरत गर्ल के नाम...
जब जरुरत गर्ल के नाम...
6 जनवरी 2018, शनिवार...
6 जनवरी 2018, शनिवार...
5 जनवरी 2018, शुक्रवार...
5 जनवरी 2018, शुक्रवार...
'तुझे मेरी कसम' के सेट...
गलन वाली ठंड का कहर...
गलन वाली ठंड का कहर...
4 जनवरी 2018,...
4 जनवरी 2018,...
जानिए 3 जनवरी 2018,...
जानिए 3 जनवरी 2018,...
1 जनवरी 2018, सोमवार...
1 जनवरी 2018, सोमवार...
31 दिसम्बर से 06 जनवरी तक...
31 दिसम्बर से 06 जनवरी तक...
सलमान की इस बात ने...
सलमान की इस बात ने...
शनिवार, 30 दिसंबर 2017...
शनिवार, 30 दिसंबर 2017...
आजीवन क्यों कुंवारे...
आजीवन क्यों कुंवारे...
राहुल ने सोमनाथ...
राहुल ने सोमनाथ...
...जानें ब्लू...
...जानें ब्लू...

 

172.31.20.145