Twitter

Facebook

Youtube

RSS

Twitter Facebook
Spacer
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

22 Jun 2017 12:51:39 AM IST
Last Updated : 22 Jun 2017 12:54:32 AM IST

धर्म

श्रीराम शर्मा आचार्य (फाइल फोटो)

भारतीय संस्कृति मनुष्य मात्र तो क्या, संसार के प्राणी मात्र और अखिल ब्रrाण्ड तक को भगवान का विराट रूप मानती है.

‘धर्म’ शब्द की व्युत्पत्ति से ही विराट की एकतानता का भाव स्पष्ट हो जाता है. जो वास्तविकता है, उसी को धारण किए रखना धर्म है.

वास्तविकता है-चैतन्य. सभी धर्मो में आत्मा के नित्यत्व को, शातपन को स्वीकार किया गया है. लेकिन अंगांगों में पृथक दिखाई देते रहने पर भी जो उसमें एकत्व है, उसको सुरक्षित रखने की ओर ध्यान न देने से विविध संप्रदायों की सृष्टि हो पड़ी है.

हिंदू धर्म में इस एकता को बनाए रखने, जागृत रखने की प्रवृत्ति अभी तक कायम है. यही कारण है कि संसार में नाना संप्रदायों-मजहबों की सृष्टि हुई, लेकिन आज उनका नाम ही शेष है, पर हिंदू धर्म अपनी विशालता के साथ जीवित है. हिंदू धर्म की विशेषता की सबसे बड़ी देन उसकी अपनी विशिष्ट उपासना-पद्धति है.

विश्व-आत्मा की उपासना के लिए उसके समय-विभाग में कोई एक समय निश्चित नहीं है. उपासना देश और काल में विभाजित नहीं है. उसका तो प्रत्येक क्षण उपासनामय है. वे अपने विश्व चैतन्य को एक क्षण के लिए भी भूलना नहीं चाहते, बल्कि गति-विधि का प्रत्येक भाग इन चैतन्यदेव के लिए ही लगाना चाहते हैं. उपासना की दृष्टि से विराट पुरुष चार भागों में विभक्त हैं और समय भेद से भी उनके चार भाग कर दिए गए हैं जो वर्ण एवं आश्रमों के नाम से पुकारे जाते हैं.

यों समस्त ब्रrाण्ड में वर्ण-धर्म और आश्रम पाए जाते हैं, लेकिन हिंदू संस्कृति उन्हें पृथक नहीं रहने देना चाहती. उसकी दृष्टि में उनका अस्तित्व तभी तक है, जब तक कि विराट पुरुष की रक्षा के लिए उनकी गति-विधि है. अन्य संस्कृतियों या धर्मो की गतिविधि विराट के प्रति नहीं है. वे अंगों के अंशों तक ही सीमित हैं.

कोई भी बुद्धि विशिष्ट व्यक्ति इस बात को स्वीकार किए बिना नहीं रह सकता कि समस्त शरीर का ध्यान छोड़कर शरीर के किसी एक अंग का ध्यान रखने से शरीर की रक्षा संभव नहीं हो सकती. जो लोग चैतन्य को भुलाकर केवल अंगों तक ही अपने को सीमित रखते हैं, उनकी सत्ता कैसे स्थिर रख सकती है? वस्तुत: आन्तर-बाह्य, आत्मा और शरीर दोनों को समान महत्त्वे देने से ही उस विराट की उपासना हो सकती है. भारतीय संस्कृति यही सिखाती है.
(गायत्री तीर्थ शान्ति कुंज, हरिद्वार)


 
 

ताज़ा ख़बरें


लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा पेज ज्वाइन करें
एवं ट्विटर पर फॉलो करें |
 

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां ( भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


फ़ोटो गैलरी
PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के शानदार कलेक्शन के साथ संपन्न हुआ डिजिटल आईसीडब्ल्यू

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के

PICS: अक्षय कुमार ने बताया-रोजाना पीता हूँ गौमूत्र, हाथी के 'पूप' की चाय पीना बड़ी बात नहीं

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

PICS: दिल्ली सहित देश के कई शहरों में एहतियात के साथ शुरू हुई मेट्रो सेवा

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

प्रणब दा के कुछ यादगार पल

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: दिल्ली-NCR में भारी बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, उमस से मिली राहत

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

PICS: सैफ को जन्मदिन पर करीना कपूर ने दिया खास तोहफा, वीडियो किया शेयर

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

स्वतंत्रता दिवस: धूमधाम से न सही पर जोशो-खरोश में कमी नहीं

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

इन स्टार जोड़ियों ने लॉकडाउन में की शादी, देखें PHOTOS

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

PICS: एक-दूजे के हुए राणा दग्गुबाती और मिहीका बजाज, देखिए वेडिंग ऐल्बम

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की रखी आधारशिला, देखें तस्वीरें

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

देश में आज मनाई जा रही है बकरीद

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

बिहार में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, 8 की हुई मौत

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

त्याग, तपस्या और संकल्प का प्रतीक ‘हरियाली तीज’

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

बिहार में नदिया उफान पर, बडी आबादी प्रभावित

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

PICS: दिल्ली एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, निचले इलाकों में जलजमाव

B

B'day Special: प्रियंका चोपड़ा मना रहीं 38वा जन्मदिन

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

PHOTOS: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर रिलीज, इमोशनल हुए फैन्स

B

B'day Special : जानें कैसा रहा है रणवीर सिंह का फिल्मी सफर

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

सरोज खान के निधन पर सेलिब्रिटियों ने ऐसे जताया शोक

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

PICS: तीन साल की उम्र में सरोज खान ने किया था डेब्यू, बाल कलाकार से ऐसे बनीं कोरियोग्राफर

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

पसीने से मेकअप को बचाने के लिए ये है खास टिप्स

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

अनलॉक-1 शुरू होते ही घर के बाहर निकले फिल्मी सितारे

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

स्वर्ण मंदिर, दुर्गियाना मंदिर में लौटे श्रद्धालु

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

PICS: श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिरों के कपाट

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

चक्रवात निसर्ग की महाराष्ट्र में दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

World Cycle Day 2020: साइकिलिंग के हैं अनेक फायदें, बनी रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

अनलॉक -1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर ट्रैफिक जाम का नजारा

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उर्वशी ने कहा....

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

एक दिन बनूंगी एक्शन आइकन: जैकलीन फर्नांडीज

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सलमान के ईदी के बिना फीकी रहेगी ईद, देखें पिछली ईदी की झलक

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें

सुपर साइक्लोन अम्फान के चलते भारी तबाही, 12 मौतें


 

172.31.21.212