Twitter

Facebook

Youtube

Pintrest

RSS

Twitter Facebook
Spacer
Samay Live
समय यूपी/उत्तराखंड एमपी/छत्तीसगढ़ बिहार/झारखंड राजस्थान आलमी समय

12 Jun 2012 04:00:41 PM IST
Last Updated : 13 Jun 2012 10:21:51 AM IST

घर के मंदिर में दो शंख नहीं रखें

विवेक मुद्गल
जगदम्बा ज्योतिष एवं आध्यात्मिक प्रतिष्ठान
घर के मंदिर में दो शंख नहीं रखें
घर के मंदिर में दो शंख नहीं रखें

धर्मशास्त्रों के अनुसार घर के मंदिर में दो शंख नहीं रखें. जहां तक हो इससे बचाव करें.

इसके साथ ही धर्मशास्त्रों में यह भी कहा गया है कि घर के मंदिर में 2 शिवलिंग, तीन गणेश, दो सूर्य प्रतिमा, एक ही देवी की तीन प्रतिमा, दो शालिग्राम नहीं होने चहिए.

इसके साथ ही घर में रखी कोई भी मूर्ति 9 इंच से बड़ी नहीं होनी चाहिए.

नित्य प्रति देवी की एक, सूर्य की सात, गणेशजी की तीन और विष्णुजी की चार एवमं शिवजी की अढ़ाई परिक्रमा भी करनी चाहिए.

शंख की महता को जानें:-

हिंदू धर्म में शंख का बहुत महत्व है.कोई भी पूजा शंख ध्वनि के बिना अधूरी मानी जाती है.

पुराणों के अनुसार शंख की उत्पति समुद्र मंथन के समय हुई है. शंख के अनेक चमात्कारी लाभ हैं.

ब्रहृमवैव्रत पुराण के अनुसार पूजा करते समय शंख में जल रखने से और उस जल को पूजा स्थल पर छिड़कने से वातावरण शुद्ध होता है.

शंख में गंधक और कैलशियम होता है. इसलिए उस में रखा जल रोगमुक्त होता है. यह जल वायुमंडल में उन नकारात्मक शक्तियों को नष्ट करता है.

शंख बजाने वाले व्यक्ति को कभी भी हृदय रोग नहीं होता है. इससे कंठ मधुर होता है.

चरक संहिता में भी शंख के अनेक बताएं गएं हैं. शंख से बनाई भस्म से पीलिया, पथरी और पेट के अनेक रोग दूर हो जाते हैं.

योग शास्त्र में भी शंख मुद्रा का विशेष महत्व बताया गया है.



 

लगातार अपडेट पाने के लिए हमारा FACEBOOK PAGE ज्वाइन करें.

Tools: Print Print Email Email

टिप्पणियां (0 भेज दिया):
टिप्पणी भेजें टिप्पणी भेजें
आपका नाम :
आपका ईमेल पता :
वेबसाइट का नाम :
अपनी टिप्पणियां जोड़ें :
निम्नलिखित कोड को इन्टर करें:
चित्र Code
कोड :


Spacer

     

    10.10.70.17