यासीन ने कहा, सरकार जेल में डाल दे

यासीन ने कहा, हाफिज के साथ का मलाल नहीं, सरकार जेल में डाल दे

जेकेएलएफ नेता यासीन मलिक ने आतंकी सरगना हाफिज सईद के साथ मंच साझा करने की सफाई देते हुए कहा कि उन्हें इस बात को कोई मलाल नहीं है. यासीन ने यहां तक कहा कि अगर सरकार चाहे तो इसके लिए मुझे में डाल दे. दरअसल, जेकेएलएफ प्रमुख यासीन मलिक ने संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरू की फांसी के विरोध में इस्लामाबाद में एक दिन की भूख हड़ताल की. जहां यासीन मलिक और हाफिज सईद एक मंच पर एक साथ देखे गए. भारत की मोस्ट वांटेड की सूची में शुमार आतंकवादी सरगना हाफिज सईद 26/11 मुंबई हमले का गुनहगार है. खबर है कि यह जानने के बाद सरकार जेकेएलएफ के प्रमुख यासीन मलिक का पासपोर्ट सरकार रद्द कर सकती है. सुरक्षा एजेंसियां जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के नेता के पाकिस्तान से वापस लौटने पर उससे पूछताछ करेंगी. शीर्ष अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया है कि मलिक का सईद के साथ मेलजोल और पाकिस्तान जाकर भारत विरोधी राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होना सरकार को अच्छा नहीं लगा है. इस बीच बीजेपी ने सरकार से यासीन मलिक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग जरूर की है. मलिक से पाकिस्तान में उसकी गतिविधियों को लेकर विस्तार से पूछताछ की जाएगी. इन गतिविधियों में सईद और भारत के हितों के खिलाफ काम कर रहे अन्य नेताओं से बैठक करना भी शामिल है.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY