जानें 18 बहादुर बच्चों की कहानी, उनकी तमन्नाएं

PICS: ये है 18 बहादुर बच्चों की कहानी, आईएएस व आईपीएस तो किसी की डाक्टर बनने की तमन्ना

अपने अदम्य साहस का परिचय देने 18 बच्चों को इस बार राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार-2017 के लिए चुना गया है. इन बच्चों को दिल्ली में आयोजित एक समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित करेंगे. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने गुरूवार को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कारों के लिए चयनित बच्चों को सम्मानित किया जिनमें 6 साल की एक बच्ची भी है जिसने अपनी बहन को मगरमच्छ के जबडे से बचाया था. रावत ने बच्चों से बात भी की और उनसे जीवन के लक्ष्यों के बारे में पूछा. चयनित बच्चों में 11 लड़के और सात लड़कियां शामिल हैं. इनमें से तीन बच्चों को मरणोपरांत सम्मानित किया जा रहा है. यह सभी बहादुर बच्चे गणतंत्र दिवस पर आयोजित परेड में खुली जीप पर बैठकर भाग लेंगे. आईसीसीडब्ल्यू 1957 से अब तक 963 बच्चों को सम्मानित कर चुका है. पुरस्कार पाने वालों में 680 लड़के और 283 लड़कियां शामिल हैं.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY