60 साल के हुए संजय दत्त

60 साल के हुए संजय दत्त

बॉलीवुड में संजय दत्त का नाम उन गिने चुने अभिनेताओं में शुमार किया जाता है जिन्होंने लगभग तीन दशक से अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिल में आज भी एक खास मुकाम बना रखा है। मुंबई में 29 जुलाई 1959 को जन्मे संजय दत्त को अभिनय की कला विरासत में मिली। पिता सुनील दत्त अभिनेता और मां नरगिस जानी मानी फिल्म अभिनेत्री थी। घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण वह अक्सर अपने माता-पिता के साथ शूटिंग देखने जाया करते थे। इस वजह से उनका भी रूझान फिल्मों की ओर हो गया और वह भी अभिनेता बनने के ख्वाब देखने लगे। उन्होंने बतौर बाल कलाकार अपने सिने करियर की शुरूआत अपने पिता के बैनर तले बनी फिल्म रेशमा और शेरा से की। बतौर अभिनेता उन्होंने अपने करियर की शुरूआत साल 1981 में प्रदर्शित फिल्म ‘रॉकी’ से की। दमदार निर्देशन, पटकथा और गीत-संगीत के कारण फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई। साल 1982 मे संजय दत्त को निर्माता-निर्देशक सुभाष घई की फिल्म ‘विधाता’ में काम करने का अवसर मिला। यूं तो पूरी फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार, संजीव कुमार और शम्मी कपूर जैसे नामचीन अभिनेताओं के इर्द गिर्द घूमती थी लेकिन संजय दत्त ने फिल्म में अपनी छोटी सी भूमिका में दर्शकों का दिल जीत लिया। साल 1982 से 1986 तक का वक्त संजय दत्त के सिने करियर के लिये बुरा साबित हुआ। इस दौरान उनकी 'जानी आई लव यू', 'मैं आवारा हूं', 'बेकरार', 'मेरा फैसला', 'जमीन आसमान', 'दो दिलों की दास्तान', 'मेरा हक' और 'जीवा' जैसी कई फिल्में बॉक्स आफिस पर असफल हो गयीं हालांकि साल 1985 में आई फिल्म ‘जान की बाजी’ बॉक्स ऑफिस पर औसत कारोबार करने में सफल रही।

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY