देश की स्वतंत्रता पर गीतों से सैनिकों को सलाम

PICS: देश की स्वतंत्रता पर गीतों से सैनिकों को सलाम

भारतीय सिनेमा जगत में देश भक्ति से परिपूर्ण फिल्मों और गीतों की एक अहम भूमिका रही है और इसके माध्यम से देशभक्ति के जज्बे को आज भी बुलंद करते हैं. बॉलीवुड में देशभक्ति फिल्मों के निर्माण और उनसे जुड़े गीतों की शुरुआत (1940) के दशक से मानी जाती है. निर्देशक ज्ञान मुखर्जी की वर्ष (1940) में प्रदर्शित फिल्म ‘बंधन’ संभवत: पहली फिल्म थी जिसमें देश प्रेम की भावना को रुपहले परदे पर दिखाया गया था. यूं तो फिल्म ‘बंधन’ में कवि प्रदीप के लिखे सभी गीत लोकप्रिय हुए लेकिन ‘चल चल रे नौजवान’ के बोल वाले गीत ने आजादी के दीवानो में एक नया जोश भरने का काम किया. वर्ष (1943) में देश प्रेम की भावना से ओत-प्रोत फिल्म ‘किस्मत’ प्रदर्शित हुई. फिल्म ‘किस्मत’ में प्रदीप के लिखे गीत .‘आज हिमालय की चोटी से फिर हमने ललकारा है दूर हटो ए दुनियां वालो हिंदुस्तान हमारा है’. जैसे गीतों ने स्वतंत्रता सेनानियों को आजादी की राह पर बढ़ने के लिए प्रेरित किया.

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY