अयोध्या में सामान्य माहौल, मंदिरों में हो रही पूजा-अर्चना

अयोध्या में सामान्य माहौल, कार्तिक पूर्णिमा पर सरयू में स्नान के लिए पहुंच रहे श्रद्धालु

भय और आशंकाओं का माहौल खत्म होता नजर आ रहा है, मंदिरों में सामान्य पूजा-अर्चना हो रही है और शहर के हालात सामान्य दिख रहे हैं। सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर धार्मिक नगरी अयोध्या में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं के सरयू नदी में पवित्र स्नान करने की संभावना है। वैसे, सरयू के घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ है। सूचना उपनिदेशक (अयोध्या मंडल) मुरलीधर सिंह ने बताया कि सरयू नदी में पवित्र स्नान सोमवार को शाम चार बजे से शुरू होगा और मंगलवार की शाम तक चलेगा क्योंकि हिंदू कैलेंडर के हिसाब से पूर्णिमा सोमवार की शाम से लगेगी। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के लिए प्रदेश और देश के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं। राम मंदिर मसले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर श्रद्धालुओं का यह सबसे बड़ा जमावड़ा होगा। नया घाट और राम की पैड़ी सहित अन्य घाटों पर लाखों श्रद्धालुओं के सरयू नदी में स्नान करने की संभावना है। कार्तिक पूर्णिमा स्नान को देखते हुए अयोध्या के जिला प्रशासन ने रविवार की शाम यातायात संबंधी योजना जारी की। जिला अधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर अयोध्या में पांच लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। सामान्य दिनों में यह संख्या लगभग 8000 होती है जबकि किसी त्योहार के मौके पर 50 हजार से अधिक श्रद्धालु आ जाते हैं। झा ने बताया कि हमने सुरक्षा को लेकर एहतियाती कदम उठाए हैं। यह सुनिश्चित करने का प्रयास भी किया जाएगा कि श्रद्धालुओं को किसी तरह की कोई समस्या ना होने पाए और वे आराम से पूजा-अर्चना और दर्शन कर सकें। उन्होंने बताया कि लगभग 18 जगहों पर पानी के टैंकर रखे गए हैं, 20 मेडिकल कैंप लगाए गए हैं, एंबुलेंस तैयार है और 30 मोबाइल शौचालय भी बनाए गए हैं।

 
 
Don't Miss
 
PIC OF THE DAY